jajbaat.com ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात) हमको भी व | हिंदी शायरी औ

"jajbaat.com ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)"

 jajbaat.com

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

jajbaat.com ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

हमको भी वो मिले, मोहब्बत बेहिसाब करके;
जज्बात तुझको क्या मिला खुद को खराब करके !

जीत जाते गर वो तेरी हर्फ़-ए-गजल रही होती;
तुम तो हारे सिर्फ अपनी जिन्दगी किताब करके !!

उसी कुर्बत ने तेरी चादरे नीलाम कर डाली;
दामन को छिपाया जिनके खुद को नकाब करके!!

People who shared love close

More like this

Trending Topic