मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी, प्रिय, तुम आते, तब क्या | हिंदी विचार

"मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी, प्रिय, तुम आते, तब क्या होता। - हरिवंश राय बच्चन"

मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी,
प्रिय, तुम आते, तब क्या होता।
- हरिवंश राय बच्चन

मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी, प्रिय, तुम आते, तब क्या होता। - हरिवंश राय बच्चन

Birth Anniversary Of Harivansh Rai Bachchan Ji :)

People who shared love close

More like this