NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

nahi hai kalam me meri itni taqat jo ek hurf bhi likh de wo to dard hai jo alfaazo ko mere motiyo jaisa pirota hai

  • Latest
  • Popular
  • Video

बनाता है जो बेटी तू ऐ खुदा कुछ तो हिफाज़्त कर बनते है हम दरिंदो के निवाले ना देख पाते है हम मासूम इस दुनिया को भी ठीक से और बदकारी का शिकार बनजाते है हम ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#Childhood #suspense  बनाता है जो बेटी तू ऐ खुदा
कुछ तो हिफाज़्त कर

बनते है हम दरिंदो के निवाले
ना देख पाते है हम मासूम
इस दुनिया को भी ठीक से

और बदकारी का शिकार
बनजाते है हम

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#Childhood

16 Love

कर जाते हो हर बेटी को नापाक तो बहु से कहा पाक लाऊ गे दुसरो की बेटी को लूटो गे तो बोलो अपनी बेटी कैसे बचाओ गे ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

 कर जाते हो हर बेटी को नापाक
तो बहु से कहा पाक लाऊ गे

दुसरो की बेटी को लूटो गे तो
बोलो अपनी बेटी कैसे बचाओ गे

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

कर जाते हो हर बेटी को नापाक तो बहु से कहा पाक लाऊ गे दुसरो की बेटी को लूटो गे तो बोलो अपनी बेटी कैसे बचाओ गे ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

20 Love

ना चुम ऐ धूप तू मेरे चेहरे को की अमानत हु मै अपने सनम की ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#suspense  ना चुम  ऐ धूप तू मेरे चेहरे को

की अमानत हु मै अपने सनम की

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

ना चुम ऐ धूप तू मेरे चेहरे को की अमानत हु मै अपने सनम की ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

20 Love

ऐ झुमका मेरे ना सत्ता मुझे तू इस तरह कभी मेरे कान कभी मेरी गर्दन तो कभी मेरे गाल ना चूमा कर ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#suspense  ऐ झुमका मेरे ना सत्ता मुझे तू
इस तरह

कभी मेरे कान कभी मेरी गर्दन
तो कभी मेरे गाल ना चूमा कर

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

ऐ झुमका मेरे ना सत्ता मुझे तू इस तरह कभी मेरे कान कभी मेरी गर्दन तो कभी मेरे गाल ना चूमा कर ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

21 Love

किसी की रूह भीतर तड़प रही थी सुख की चाहा और मुहब्बत की आस लिये वो जिसके साथ चल पढ़ी थी वो उसकी ज़िन्दगी की सब से बढ़ी भूल थी घोंट रहा वो उसके अरमानो का गला हर बार जुबां से उफ़ तक कहने की जिसे इजाज़त भी ना थी घर नहीं क़ैद खाना था वो जिसमे उसकी हर सांस क़ैद थी पल पल मौत देता था वो उसको पानी की बूँद भी उस बेचारी को नसीब ना थी कर गई एक रोज़ वो खात्मा खुद की वो जो चीखे आरही है वो चीखे है उसकी दर्द की जो जख्म उस ज़ालिम ने उसे दया था ले कर रहे गी वो बदला अपने हर दर्दे जख्म की इन्तिज़ार है उसे बस उस ज़ालिम की वापस आने की ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

 किसी की रूह भीतर तड़प रही थी
सुख की चाहा और मुहब्बत की आस
लिये वो जिसके साथ चल पढ़ी थी
वो उसकी ज़िन्दगी की सब से बढ़ी भूल थी
घोंट रहा वो उसके अरमानो का गला हर बार
जुबां से उफ़ तक कहने की जिसे इजाज़त
भी ना थी
घर नहीं क़ैद खाना था वो जिसमे उसकी
हर सांस क़ैद थी
पल पल मौत देता था वो उसको
पानी की बूँद भी उस बेचारी को नसीब
ना थी
कर गई एक रोज़ वो खात्मा खुद की
वो जो चीखे आरही है वो चीखे
है उसकी दर्द की जो जख्म उस ज़ालिम
ने उसे दया था
ले कर रहे गी वो बदला अपने हर दर्दे जख्म की
इन्तिज़ार है उसे बस उस ज़ालिम की वापस आने की

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

किसी की रूह भीतर तड़प रही थी सुख की चाहा और मुहब्बत की आस लिये वो जिसके साथ चल पढ़ी थी वो उसकी ज़िन्दगी की सब से बढ़ी भूल थी घोंट रहा वो उसके अरमानो का गला हर बार जुबां से उफ़ तक कहने की जिसे इजाज़त भी ना थी घर नहीं क़ैद खाना था वो जिसमे उसकी हर सांस क़ैद थी पल पल मौत देता था वो उसको पानी की बूँद भी उस बेचारी को नसीब ना थी कर गई एक रोज़ वो खात्मा खुद की वो जो चीखे आरही है वो चीखे है उसकी दर्द की जो जख्म उस ज़ालिम ने उसे दया था ले कर रहे गी वो बदला अपने हर दर्दे जख्म की इन्तिज़ार है उसे बस उस ज़ालिम की वापस आने की ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

17 Love

लगा कर गले मुझे कोइ तो तसल्ली दे दो हम तुम्हारे है येह कह कर मुझ मे जीने की उम्मीद भर दो ©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#withyou #News  लगा कर गले मुझे कोइ तो
तसल्ली दे दो
हम तुम्हारे है येह कह कर
मुझ मे जीने की उम्मीद भर दो

©NIKHAT الفاظ جو دل چو جائے

#withyou

13 Love

Trending Topic