Ashif Jamal

Ashif Jamal

  • Latest
  • Popular
  • Video

इंतज़ार रहेगा तुम्हारा, पर आवाज नहीं दूंगा।.. मोहब्बत करता रहूँगा, पर इज़हार नहीं करूँगा।.. तुम्हरी मरज़ी तुम रुको या जाओ, पर अब मैं ठहरने की इल्तिज़ा नहीं करूँगा। तुम्हारी ख़ुशी में खुश रहूँगा, बस एक बार अपना फैसला बता देना फिर मैं कोई सवाल नहीं करूँगा।.. थक गया हूँ समझा समझा कर, अब मैं अपनी हालत बयां नहीं करुँगा।.. इंतज़ार रहेगा तुम्हारा, पर आवाज नहीं दूंगा।.. मोहब्बत करता रहूँगा, पर इज़हार नहीं करूँगा।.. ©Ashif Jamal

#nojohindi #shayri #writer #Shayar  इंतज़ार रहेगा तुम्हारा,
पर आवाज नहीं दूंगा।..
मोहब्बत करता रहूँगा,
पर इज़हार नहीं करूँगा।..
तुम्हरी मरज़ी तुम रुको या जाओ,
पर अब मैं ठहरने की इल्तिज़ा नहीं करूँगा।
तुम्हारी ख़ुशी में खुश रहूँगा,
बस एक बार अपना फैसला बता देना
फिर मैं कोई सवाल नहीं करूँगा।..
थक गया हूँ समझा समझा कर,
अब मैं अपनी हालत बयां नहीं करुँगा।..
इंतज़ार रहेगा तुम्हारा,
पर आवाज नहीं दूंगा।..
मोहब्बत करता रहूँगा,
पर इज़हार नहीं करूँगा।..

©Ashif Jamal

सब कुछ अनजाना सा लगता हैं .. जैसा अपना कोई है ही नहीं , आईना देखके के कह रहा ये मैं हूँ ही नही | भीड़ में तन्हा हूँ , मैं खुदको ज़ाया होते देख रहा | दिन भर कमरे में क़ैद हूँ, पर मैं अपने ख्यालों में भटक रहा | खुशी और सुकून तो अब अयादत करने लगे , जो हमराही बना वो है गम... समझ नहीं आ रहा कहाँ आना था और.. कहाँ आ गये हम। "राज़-ए-बेचैनी ही राज़-ए-उल्फ़त हैं, चाल रहा अन्दर खुदसे ही बगावत हैं |" ©Ashif Jamal

#nojohindi #shayri #writer #lonely  सब कुछ अनजाना सा लगता हैं ..
जैसा अपना कोई है ही नहीं ,
आईना देखके के कह रहा ये मैं हूँ ही नही |
भीड़ में तन्हा हूँ ,
मैं खुदको ज़ाया होते देख रहा |
दिन भर कमरे में क़ैद हूँ,
पर  मैं अपने ख्यालों में भटक रहा |
खुशी और सुकून तो अब अयादत करने लगे ,
जो हमराही बना वो है गम...
समझ नहीं आ रहा कहाँ आना था और..
कहाँ आ गये हम।

"राज़-ए-बेचैनी ही राज़-ए-उल्फ़त हैं,
 चाल रहा अन्दर खुदसे ही बगावत हैं |"

©Ashif Jamal

Incontrovertible ~–~–~–~–~–~–~–~–~ There is always a price for everything... Without darkness, light has no meaning... Silence produces the most disturbing sounds, Non- physical wounds take more time to heal than physical wounds... ©Ashif Jamal

#thought #writer #Quote #Night  Incontrovertible
  ~–~–~–~–~–~–~–~–~

There is always a price for everything...
Without darkness, light has no meaning...

Silence produces the most disturbing sounds,
Non- physical wounds take more time to heal than physical wounds...

©Ashif Jamal

A Heavy heart with beautiful lies.... ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ An overthinking mind that never feels weary, a beautiful soul trapped in eternal purgatory.. Sinking heart with smiling face, Wet Eyes with redness... Light denied to embrace, Night dragging into perpetual darkness.. A beautiful dream changing into nightmare, accompanied by abnormal heart beats that sometimes scare.. It isn't the tale of a day... Its tale of life Of someone who always lies. "Lies that everything is fine." ©Ashif Jamal

#thought #qoutes #writer #Night  A Heavy heart with beautiful lies....
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~


An overthinking mind that never feels weary,
a beautiful soul trapped in eternal purgatory..
Sinking heart with smiling face, 
Wet Eyes with redness...
Light denied to embrace,
Night dragging into perpetual darkness..
A beautiful dream changing into nightmare,
accompanied by abnormal heart beats that sometimes scare..

 It isn't the tale of a day...
 Its tale of  life 
 Of someone who always lies.
 "Lies that everything is fine."

©Ashif Jamal

मेरे पास मत बैठो.... मेरे तरफ यूँ मत देखो.... जीस बात के तुम मुन्तज़िर हो वो मैं कहूँगा नहीं, ओर मेरे शिकायते सुनने का तुम्हे फ़ुरसत नहीं | ©Ashif Jamal

#nojohindi #writing #lonely #alone  मेरे पास मत बैठो....
मेरे तरफ यूँ मत देखो....
जीस बात के तुम मुन्तज़िर हो वो मैं कहूँगा नहीं,
ओर मेरे शिकायते सुनने का तुम्हे फ़ुरसत नहीं |

©Ashif Jamal

अलफ़ाज़ तुम चाहे जितना भी छुपा लो , ज़ज़्बात अपने रह खुद बा खुद बना लेंगे | तुम चाहे कुछ न कहो , तुम्हरी ख़ामोशी ही सब बता देंगे | आँखे भी कमाल हैं तुम्हारी, वे हर राज़ बया कर रहे हैं | तुम होठों को सिये बस मुस्कुरा रहे, पर हमारे दिल आपस में बात कर रहे हैं | ©Ashif Jamal

#Beautiful_Eyes #hindi_poetry #nojohindi #Emotions  अलफ़ाज़ तुम चाहे जितना भी छुपा लो ,
ज़ज़्बात अपने रह खुद बा खुद बना लेंगे |
तुम चाहे कुछ न कहो ,
तुम्हरी ख़ामोशी ही सब बता देंगे |
आँखे भी कमाल हैं तुम्हारी,
वे हर राज़ बया कर रहे हैं |
तुम होठों को सिये बस मुस्कुरा रहे,
पर हमारे दिल आपस में बात कर रहे हैं |

©Ashif Jamal
Trending Topic