Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात) Lives in Delhi, Delhi, India

एक जज्बात अपनी ख़्वाहिश की तलाश में...

https://jajbaat.com

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

अता कर मेरे खुदा जरा रहमत इस कुफ्र पर ; बड़ी दूर से आया है वो तेरा पता पूछते हुए.. सोचता है करू सजदा की नही तेरे दर पर ; बड़ी देर तक वजू किया उसने ये सोचते हुए.. ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#jajbaat_e_khwahish #शायरी #jajbaat #Collab #alone  अता कर मेरे खुदा जरा रहमत इस कुफ्र पर ;
बड़ी दूर से आया है वो तेरा पता पूछते हुए.. 

सोचता है करू सजदा की नही तेरे दर पर ;
बड़ी देर तक वजू किया उसने ये सोचते हुए..

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

अता कर मेरे खुदा जरा रहमत इस कुफ्र पर ; बड़ी दूर से आया है वो तेरा पता पूछते हुए.. सोचता है करू सजदा की नही तेरे दर पर ; बड़ी देर तक वजू किया उसने ये सोचते हुए.. #Collab shahnawaz nazar official #jajbaat_e_khwahish

35 Love

जीत कर अहम को खुदके, मैं ख़ुद को हार आया हूँ !! उम्र भर साथ जीने के वादे को पल में मार आया हूँ  !! जीते जी जिस ने कभी हाथ बढाकर हाल ना पूछा ; आज आंखों में उनके आँसू और कंधे चार लाया हूँ !! दिखता नही हूँ अब तो सिर्फ महसूस कर मेरी खुश्बू ; आता नही जहां से कोई , वहां से मैं इसबार आया हूँ !! मिलती थी जो खुशियां मुझसे हक़ से लड़ भी लेने पर; थोडी वही तकरार और वही जरा सा प्यार लाया हूँ !! तेरी उन ख्वाहिशो के पुरचे , सहेजे आंख में अपने ; बदले में मेरी खुशी के मैं तेरा सोलह श्रृंगार लाया हूँ !! साथ बैठे थे क्षितिज के दो किनारे, है वो दायरे में अब; सभी डूबे है जिस दरियां में , मैं वो करके पार आया हूँ!! जीत कर अहम को खुदके... ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#शायरी #dedicated #missing_u #thank  जीत कर अहम को खुदके, मैं ख़ुद को हार आया हूँ !!
उम्र भर साथ जीने के वादे को पल में मार आया हूँ  !! 

जीते जी जिस ने कभी हाथ बढाकर हाल ना पूछा ;
आज आंखों में उनके आँसू और कंधे चार लाया हूँ !! 

दिखता नही हूँ अब तो सिर्फ महसूस कर मेरी खुश्बू ;
आता नही जहां से कोई , वहां से मैं इसबार आया हूँ !! 

मिलती थी जो खुशियां मुझसे हक़ से लड़ भी लेने पर;
थोडी वही तकरार और वही जरा सा प्यार लाया हूँ !!

तेरी उन ख्वाहिशो के पुरचे , सहेजे आंख में अपने ;
बदले में मेरी खुशी के मैं तेरा सोलह श्रृंगार लाया हूँ !!

साथ बैठे थे क्षितिज के दो किनारे, है वो दायरे में अब;
सभी डूबे है जिस दरियां में , मैं वो करके पार आया हूँ!!
जीत कर अहम को खुदके...

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

कंधे चार लाया हूँ.... #dedicated your feelings with my voice kittu shahnawaz nazar official #missing_u @ekrajhu #thank

43 Love

शिकायत रोशनी को आज कुछ आफताब से है ! हर्फ़ ढूढ रहे अल्फाज,फिर बगावत किताब से हैं !! ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#jajbaat_e_khwahish #शायरी #nojitohindi #dedicated #Trending  शिकायत रोशनी को आज कुछ आफताब से है !
हर्फ़ ढूढ रहे अल्फाज,फिर बगावत किताब से हैं !!

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

jajbaat.com ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#ज़िन्दगी #tribute  jajbaat.com

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#tribute

58 Love

jajbaat.com ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#कृष्णेत #शायरी #krishnet  jajbaat.com

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

हमको भी वो मिले, मोहब्बत बेहिसाब करके; जज्बात तुझको क्या मिला खुद को खराब करके ! जीत जाते गर वो तेरी हर्फ़-ए-गजल रही होती; तुम तो हारे सिर्फ अपनी जिन्दगी किताब करके !! उसी कुर्बत ने तेरी चादरे नीलाम कर डाली; दामन को छिपाया जिनके खुद को नकाब करके!!

73 Love

मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ; यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!! ©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

#कृष्णेत #जज्बात #शायरी #dedicated #krishnet  मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ;
यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!!

©Jajbaat-e-Khwahish(जज्बात)

मुसल्सल कोशिशे कायम है हमे भुलाने की ; यकीं मानों हरपल मुकम्मल याद आऊंगा मैं!! #dedicated #कृष्णेत #krishnet #जज्बात

64 Love

Trending Topic