Rekha💕Sharma(हृदयमंजूला)

Rekha💕Sharma(हृदयमंजूला)

Student of B.Com, CMA & NCC Cadet "सादा जीवन उच्च विचार" जिस जगह बाबा कबीर ने देह तजा, उस जगह ही हमनें जन्म लिया। हूनर न था हम में कुछ भी लिखने का, पर परदादा का असर हुआ।🙏✒🎤 🖋मैं एक छोटी कलम🖋 •••••••••••••••••••••••• कलम-छोटी सी हूँ मैं, पर बड़ी-बड़ी बात करती हूँ। सच की स्याही को भरकर ही मैं, न्याय के कागज़ पर लिखने का आगाज़ करती हूँ। हर एक हाल में सच को ही लिखने की हूँ आदी मैं, प्रत्येक क्षण में मैं समय के साथ चलती हूँ। असत्य से दूर रहनें को ही मैं जीवन का सुख समझती हूँ, लगूं कड़वी भले पर सत्य का गुड़गान करती हूँ। हूँ ख़ुद "रेखा" मैं अपने भाग्य की रेखा बदल दूँगी, हूँ मैं सक्षम इस भाँति कि दुर्भाग्य की परिभाषा बदल दूँगी। कलम छोटी-सी हूँ मैं, पर बड़ी-बड़ी बात करती हूँ। ☆✒Rekha Sharma☆

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"आँचल हर एक नदी का पानी, "गंगाजल" हो नहीं सकता। हर एक तरह का कालिख, "काजल" हो नहीं सकता। उसी तरह मैं कैसे ख़ुश रहलूँ? करोड़ों की दौलत में। हर एक कपड़े का टुकड़ा माँ का, "आँचल"हो नहीं सकता। -Rekha💕Sharma."

आँचल    हर एक नदी का पानी, 
       "गंगाजल" हो नहीं सकता।
 
    हर एक तरह का कालिख,
     "काजल" हो नहीं सकता।

       उसी तरह मैं कैसे ख़ुश रहलूँ?
 करोड़ों की दौलत में।

             हर एक कपड़े का टुकड़ा माँ का,
      "आँचल"हो नहीं सकता। 
                                            -Rekha💕Sharma.

#आँचल

75 Love

"मुसाफिर मुसाफ़िर हूँ मैं राहों का और मेरी मंज़िल ही खो गई। मेरी कठिनाइयों को देखकर,परछाई भी सोहबत छोड़ गई। अभी तो बस मैने उड़नें को पंख ही खोला है, मुझे तो अर्श में परवाज़ कर, पुरे जहाँ का शुमार करना है।"

मुसाफिर  मुसाफ़िर हूँ मैं राहों का और मेरी मंज़िल ही 
खो गई।
मेरी कठिनाइयों को देखकर,परछाई भी सोहबत
 छोड़ गई।  
 अभी तो बस मैने उड़नें को पंख ही
 खोला है,
मुझे तो अर्श में परवाज़ कर, पुरे जहाँ का शुमार
 करना है।

#musafir #Meri Manjil @SAIFU KHAN 786 @V.k. Viraz @Reena🌺sharma Tanu sharma (taani)

71 Love

"#RIPPriyankaReddy मलाल ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤ सब कहते हैं जमाना ख़राब है। हम कहते जमाना नहीं,इस जमाने में रहनें वाले लोगों की निगाहें और सोचने का तरीका ख़राब है। हर चौराहे पर घूमते दरिंदो के हाथों में शराब है। न जानें उनको आगे बढ़ती नारी जाति से क्या मलाल है? दिन मे देव से दिखते और निशा में निशाचर सा ख़्याल है। अपनी बहन-बेटियों के घर से बाहर निकलने पर लगाते लगाम हैं। क्योंकि वो सोचते हैं यहाँ रहनें वाले सारे लोग उनके जैसे बेलगाम हैं। आओ अपने ही घर से एक नई पहल करें। अपनें भाई, बेटों को सभ्य समाज बनाने के ओर अग्रसर करें।"

#RIPPriyankaReddy   मलाल
¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤

सब कहते हैं जमाना ख़राब है।
हम कहते जमाना नहीं,इस जमाने में रहनें वाले लोगों की 
निगाहें और सोचने का तरीका ख़राब है।
हर चौराहे पर घूमते दरिंदो के हाथों में शराब है।
न जानें उनको आगे बढ़ती नारी जाति से क्या मलाल है?
दिन मे देव से दिखते और निशा में निशाचर सा ख़्याल है।
अपनी बहन-बेटियों के घर से बाहर निकलने पर लगाते लगाम हैं।
क्योंकि वो सोचते हैं यहाँ रहनें वाले सारे लोग उनके जैसे बेलगाम हैं।

आओ अपने ही घर से एक नई पहल करें।
अपनें भाई, बेटों को सभ्य समाज बनाने के ओर अग्रसर करें।

#मलाल

70 Love

"दर्द और दवा चली एक तीर, जो मेरे जिगर के पार हो गई। सदा फतेह होती थी,मेरी अब हार हो गई। अज़ीब तरह से दर्द का दवा करे, ये वक़्त का हाकिम। न दम मेरा निकलता है, न हालत ही सुधरती है।"

दर्द और दवा  चली एक तीर, जो मेरे जिगर के पार हो गई।
सदा फतेह होती थी,मेरी अब हार हो गई।
अज़ीब तरह से दर्द का दवा करे, ये वक़्त का हाकिम। 
न दम मेरा निकलता है, न हालत ही सुधरती है।

#Dard #dava

69 Love

"चिंतित क्यों होना? °°°°°°°°°°☆☆°°°°°°°°°° करते रहो नित कर्म अपना, मुकद्दर जाग जायेगा। तवक्को न करो किसी से,तव्वजो जाग जायेगा। बुरे पल याद करके, बीते कल पर क्या गम में जलना और रोना? आने वाले कल को सोचकर व्यथित-चिंतित ही क्या होना? सोचो तो सुनहरा पल जो भी है,वो पल आज का ही है, हर पल का एहसास जीवन में ख़ास होता है। बस यही जान-मान कर,रहो ख़ुशनुमा हरदम। ख़ुश रहने से भी हर मुश्किल,आसान होता है। - Rekha $harma"

चिंतित क्यों होना?
°°°°°°°°°°☆☆°°°°°°°°°°
करते रहो नित कर्म अपना, मुकद्दर जाग जायेगा।
तवक्को न करो किसी से,तव्वजो जाग जायेगा।
बुरे पल याद करके,
बीते कल पर क्या गम में जलना और रोना?
आने वाले कल को सोचकर व्यथित-चिंतित ही क्या होना?

सोचो तो सुनहरा पल जो भी है,वो पल आज का ही है,
हर पल का एहसास जीवन में ख़ास होता है।
बस यही जान-मान कर,रहो ख़ुशनुमा हरदम।
ख़ुश रहने से भी हर मुश्किल,आसान होता है।
- Rekha $harma

#pal #चिंतित क्यों होना?

69 Love