आदित्य सिंह राजन

आदित्य सिंह राजन

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"चाँद सा रोशन चेहरा चाँद से चेहरे की खूबसूरती पर तेरी उसको भी नाज जिसनें तुझे बनाया है। देख बढ़ती उसकी भी उलझन जिसने परियों के नूर के हूर से सजाया है ।।"

चाँद सा रोशन चेहरा  चाँद से चेहरे की खूबसूरती पर तेरी उसको भी नाज जिसनें तुझे बनाया है।

देख बढ़ती उसकी भी उलझन जिसने परियों के नूर के हूर से सजाया है ।।

 

30 Love
4 Share

""

"चाँद सा रोशन चेहरा चाँद से चेहरे की खूबसूरती पर तेरी उसको भी नाज जिसनें तुझे बनाया है। देख बढ़ती उसकी भी उलझन जिसने परियों के नूर के हूर को सजाया है ।।"

चाँद सा रोशन चेहरा चाँद से चेहरे की खूबसूरती पर तेरी उसको भी नाज जिसनें तुझे बनाया है।

देख बढ़ती उसकी भी उलझन जिसने परियों के नूर के हूर को सजाया है ।।

 

28 Love

""

"ज़िंदगी की शाम दिल में बसाये रखते हैं कुछ सपने वो। हर रूठे मिलकर घुल जाएं अपनो मे वो"

ज़िंदगी की शाम दिल में बसाये रखते हैं कुछ सपने वो।
हर रूठे मिलकर घुल जाएं अपनो मे वो

दिल से

18 Love

""

"एक अजनबी हसीना से नया हूँ पर इतना पुराना भी नहीं। बीच में ही साथ छोड़ दूं मैं वो दोस्त मस्ताना नहीं।"

एक अजनबी हसीना से नया हूँ पर इतना पुराना भी नहीं।
बीच में ही साथ छोड़ दूं मैं वो दोस्त मस्ताना नहीं।

 

18 Love
5 Share

""

"पहला नशा बिकती मोहब्बत बाजारों में, तो हर बाजार का नाम प्यार हो जाता। हम बिक जाते बस एक बार तो खरीददार का दीदार हो जाता।। न निगाहें तड़पती,पैसों से ही सही एक जिंदगी से तो ऐतबार हो जाता।।। नही तड़पती ये आहें, सिक्कों से ही साँसों से का मोल इजहार हो जाता।।।।"

पहला नशा  बिकती मोहब्बत बाजारों में, तो हर बाजार का नाम प्यार हो जाता।
हम बिक जाते बस एक बार तो खरीददार का दीदार हो जाता।।
न निगाहें तड़पती,पैसों से ही सही एक जिंदगी से तो ऐतबार हो जाता।।।
नही तड़पती ये आहें, सिक्कों से ही साँसों से का मोल इजहार हो जाता।।।।

 

15 Love