Sudeep Keshri✍️✍️

Sudeep Keshri✍️✍️ Lives in Dhanbad, Jharkhand, India

"जिंदगी काटना नहीं जीना चाहता हुँ तभी तो लिखना चाहता हुँ।" follow me on Instagram - sweet_sk1803

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"खुश हूँ क्यूंकि, खुश हूं क्योंकि हर तरफ खुशी ढूंढता हूं, गम हो चाहे जितने भी,बुलंद हौसला रखता हूं, भीड़ हो या रहे तन्हाई, खुद को हमेशा मोटिवेट करता हूं, चाह है जीतने की मुझमें, इसलिए तो खुश रहता हूं।"

खुश हूँ क्यूंकि, खुश हूं क्योंकि हर तरफ खुशी ढूंढता हूं,
गम हो चाहे जितने भी,बुलंद हौसला रखता हूं,
भीड़ हो या रहे तन्हाई,
खुद को हमेशा मोटिवेट करता हूं,
चाह है जीतने की मुझमें,
इसलिए तो खुश रहता हूं।

#खुश हूं #क्योंकि हर तरफ खुशी ढूंढता हूं,
गम हो चाहे जितने भी,#बुलंद #हौसला रखता हूं,
#भीड़ हो या रहे #तन्हाई,
खुद को हमेशा #मोटिवेट करता हूं,
चाह है #जीतने की मुझमें,
इसलिए तो खुश रहता हूं।#vichar #कविता

116 Love
3 Share

"आँखें मूंदूँ तो तेरा चेहरा याद आता है, आंखें खोलू तो ओझल हो जाता है । कैसी उलझन में हूँ, कुछ समझ नहीं आता है।"

आँखें मूंदूँ तो तेरा चेहरा याद आता है, आंखें खोलू तो ओझल हो जाता है ।
कैसी उलझन में हूँ,
कुछ समझ नहीं आता है।

#आंखें मूंदूं तो तेरा #चेहरा #न.जर आता है,
आंखें खोलू तो #ओझल हो जाता है ।
कैसी #उलझन में हूँ,
कुछ #समझ नहीं आता है।
#Shayari #vichare

112 Love
3 Share

"किस्मत अगर मैं अपनी किस्मत खुद लिख पाता तो, अपनी मां के सारे अरमानों को लिख देता। क्योंकि एक मां ही तो है.... जो अपने बच्चे के लिए सिर्फ और सिर्फ अच्छा चाहती है। मेरी किस्मत खुद-ब-खुद अच्छी हो जाती, बहुत अच्छी।।"

किस्मत अगर मैं अपनी किस्मत खुद लिख पाता तो, 
अपनी मां के सारे अरमानों को लिख देता।
क्योंकि एक मां ही तो है.... 
जो अपने बच्चे के लिए सिर्फ और सिर्फ अच्छा चाहती है। 
मेरी किस्मत खुद-ब-खुद अच्छी हो जाती, बहुत अच्छी।।

अगर मैं अपनी#किस्मत खुद लिख पाता तो,
अपनी मां के सारे
#अरमानों को लिख देता।
#क्योंकि एक मां ही तो है....
जो अपने बच्चे के लिए सिर्फ और सिर्फ अच्छा चाहती है।
मेरी किस्मत खुद-ब-खुद #अच्छी हो जाती, बहुत अच्छी।।# vichare# Kala

100 Love
2 Share

"इंतजार ना खत्म होने वाला एहसास है जब कोई खास है, इंतजार बेपनाह बढ़ जाता है जब कोई दिल के पास है। इंतजार इम्तिहान बन जाता है जब वह दूर जाता है, इंतजार तड़प बन जाता है जब वह मिल नहीं पाता है। samjhi pagli si Jindagi....."

इंतजार ना खत्म होने वाला एहसास है
जब कोई खास है,
इंतजार बेपनाह बढ़ जाता है
जब कोई दिल के पास है।
इंतजार इम्तिहान बन जाता है जब वह दूर जाता है,
इंतजार तड़प बन जाता है जब वह मिल नहीं पाता है।


samjhi pagli si Jindagi.....

#इंतजार ना खत्म होने वाला #एहसास है
जब कोई खास है,
इंतजार #बेपनाह बढ़ जाता है
जब कोई #दिल के पास है।
इंतजार #इम्तिहान बन जाता है जब वह दूर जाता है,
इंतजार #तड़प बन जाता है जब वह मिल नहीं पाता है।

93 Love
1 Share

"वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं खुद पर सितम बेहिसाब करते हैं।"

वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं   खुद पर सितम बेहिसाब करते हैं।

#शायरी

90 Love
3 Share