shuny manthan

shuny manthan Lives in Delhi, Delhi, India

Education Department

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"समय के पास इतना समय नही की, आपको दोबारा समय दे सके."

समय के पास इतना समय नही की,
आपको दोबारा समय दे सके.

#sadness

30 Love

"मनुष्य को तीन प्रकार की अनुभूतियां होती हैं। एक अनुभूति दुख (वाह्य) की है; एक अनुभूति सुख (वाह्य) की है; एक अनुभूति आनंद (आंतरिक) की है।"

मनुष्य को तीन प्रकार की अनुभूतियां होती हैं। एक अनुभूति दुख (वाह्य) की है; एक अनुभूति सुख (वाह्य) की है; एक अनुभूति आनंद (आंतरिक) की है।

#confused

25 Love

"Life is like a मन बहुत धोखेबाज़ है आध्यात्म की दृष्टि से हमारा मन पूरी तरह से झूठा है। एक क्षण सुखद और दूसरे क्षण दुखद अहसास यही मन कराता है। मन एक फंदा बनने के बजाए एक सीढ़ी की तरह काम करे। लेकिन ज्यादातर मौकों पर एक अस्थिर मन और बकवास करने वाला मन आगे बढऩे की सीढ़ी के बजाय एक जाल की तरह काम करता है।"

Life is like a मन बहुत धोखेबाज़ है
आध्यात्म की दृष्टि से हमारा मन पूरी तरह से झूठा है। एक क्षण सुखद और दूसरे क्षण दुखद अहसास यही मन कराता है। मन एक फंदा बनने के बजाए एक सीढ़ी की तरह काम करे। लेकिन ज्यादातर मौकों पर एक अस्थिर मन और बकवास करने वाला मन आगे बढऩे की सीढ़ी के बजाय एक जाल की तरह काम करता है।

#Life

24 Love
1 Share

"झील जब शांत होगी, उसमें कोई लहरें नहीं होंगी। इसी प्रकार मन भी एक झील की भांति ही है, जब वह बाहर से प्रभावित होता है तो लहरें उठती हैं सुख और दुख की और जब हमारा मन बाहर से प्रभावित नहीं होता। तब उस स्थिति का नाम आनंद है। आनंद बाहर का अनुभव न होकर अपना अनुभव है।"

झील जब शांत होगी, उसमें कोई लहरें नहीं होंगी। इसी प्रकार मन भी एक झील की भांति ही है, जब वह बाहर से प्रभावित होता है तो लहरें उठती हैं सुख और दुख की और जब हमारा मन बाहर से प्रभावित नहीं  होता। तब उस स्थिति का नाम आनंद है। आनंद बाहर का अनुभव न होकर अपना अनुभव है।

#Relationships

24 Love
2 Share

"आत्मा अनादि है। इसका अंत नहीं है, न इसको खोजा जा सकता न देखा जा सकता, न यह कभी पुरानी न कभी नई होती है। इसके अंदर ही जन्म जन्मों का पार्ट नूॅधा हुआ है। यह अपनी यात्रा पर हमेशा गतिशील रहती है। यही कुदरत है, यही सत्य और सनातन है।"

आत्मा अनादि है। इसका अंत नहीं है, न इसको खोजा जा सकता न देखा जा सकता, न यह कभी पुरानी न कभी नई होती है। इसके अंदर ही जन्म जन्मों का पार्ट नूॅधा हुआ है। यह अपनी यात्रा पर हमेशा गतिशील रहती है। यही कुदरत है, यही सत्य और सनातन है।

#Motivation

23 Love