Ashutosh Srivastava

Ashutosh Srivastava Lives in Bhubaneswar, Odisha, India

बस इतना ही असर होगा मेरी कविताओं का, की हर वक़्त तुम मुस्कुराओगे❤️ Instagram- @its_me_shiv2512

https://instagram.com/its_me_shiv2512?igshid=1r9i0x45vobgt

  • Popular
  • Latest
  • Video

"साथ निभाओगी क्या"

#hindi_poetry #nojoto_hindi #Love #Love_confession #hindi_quotes #Popular #Trending

188 Love

""

""होते हैं कुछ लोग" होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग,जो बंजर सी ज़िन्दगी के मौसम में बरसात सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग ,जो खत्म हो चुकी जिंगदी में फिर एक शुरुवात सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग......... होते हैं कुछ लोग ,जो खामोश पड़ी ज़िन्दगी में अलफ़ाज़ सा ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग, जो शांत पड़े हयात में एक आवाज़ सा ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग, जो अकेलेपन में भी एक चाहत सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग, जो सुनसान पड़ी दिल के दरवाज़े पे एक आहट सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग , जो इश्क़ में ऐसा कमाल रखते हैं, होते हैं कुछ लोग, जो बेरुख़ी में भी मेरा ख्याल रखते हैं, होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग, जो अगर हम रूठे तो हमें मना लेते हैं, होते हैं कुछ लोग, जो कुछ कहते नहीं बस सीने से लगा लेते हैं, होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग , जो कब्र बनी ज़िन्दगी में भी मोहब्बत-ए-जज़्बात सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग, जो अमावस में भी चाँद रात सी ले आते हैं, होते हैं कुछ लोग........ होते हैं कुछ लोग........"

"होते हैं कुछ लोग"

होते हैं कुछ लोग........
होते हैं कुछ लोग,जो बंजर सी ज़िन्दगी के मौसम में बरसात  सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग ,जो खत्म हो चुकी  जिंगदी में फिर एक शुरुवात सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग.........


होते हैं कुछ लोग ,जो खामोश पड़ी ज़िन्दगी में अलफ़ाज़ सा ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग, जो शांत पड़े हयात में एक आवाज़ सा ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग........


होते हैं कुछ लोग, जो अकेलेपन में भी एक चाहत सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग, जो सुनसान पड़ी दिल के दरवाज़े पे एक आहट सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग........


होते हैं कुछ लोग , जो इश्क़ में ऐसा कमाल रखते हैं,
होते हैं कुछ लोग, जो बेरुख़ी में भी मेरा ख्याल रखते हैं,
होते हैं कुछ लोग........


होते हैं कुछ लोग, जो अगर हम रूठे तो हमें मना लेते हैं,
होते हैं कुछ लोग, जो कुछ कहते नहीं बस सीने से लगा लेते हैं,
होते हैं कुछ लोग........


होते हैं कुछ लोग , जो कब्र बनी ज़िन्दगी में भी मोहब्बत-ए-जज़्बात सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग, जो अमावस में भी चाँद रात सी ले आते हैं,
होते हैं कुछ लोग........
होते हैं कुछ लोग........

 

171 Love
1 Share

""

""दिल हार गए हम" उनका दीदार हुआ जो पहली दफ़ा, भूल बातें हज़ार गए हम, नज़र गयी जो उस हँसते चेहरे पर, पहली ही बार में दिल हार गए हम। माना, माना कुसूर उनका नहीं था हमारे इस हाल का, पर मिली जो उनकी नज़रें हमारी नज़रों से, खुशी से उड़ते चले सातों आसमान पार गए हम क्या करें हुज़ूर, उनकी आँखों में चमक थी ही इतनी, कि पहली दफ़ा में ही दिल हार गए हम| करने को उनसे दोस्ती, करने को उनसे बात, अपनी हर हद के पार गए हम, बढ़ाया जो दोस्ती का हाथ उन्होंने हाथ मिलाने से पहले ही दिल हार गए हम। पहली और आख़री लड़की थी वो, जिनके सपने देखते सौ हज़ार बार गए हम, हक़ीक़त में जब सामने आ खड़ी हुई वो, कुछ बोलने से पहले ही दिल हार गए हम। हुआ ख़ुदा मेहरबाँ कुछ इस तरह, की किसी कविता के एक ही सार जौसे एक दूजे को करते प्यार गए हम, मेरी फ़िक्र करने की जो आदत थी उनकी, बस उस आदत पर दिल हार गए हम...... पर क्या पता था हमें ,की गुस्सा करने की आदत में, उनको ठेस पहुंचाते बार बार गए हम, किसी और को पसंद ना कर लें वो इस गलत फहमी में, हँसती खेलती ज़िन्दगी को उनकी करते दुशवार गए हम.... मेरी इस ग़लत आदत से तंग आकर, उनके ख़ास से बिल्कुल हो बेकार गए हम.... रोते-मुस्कुराते हमेशा के लिए छोड़ चली गयी हमें वो अब, जाने के इस अंदाज़ पर भी, दिल हार गए हम....."

"दिल हार गए हम"
                                        उनका दीदार हुआ जो पहली दफ़ा,
                                        भूल बातें हज़ार गए हम,
                                        नज़र गयी जो उस हँसते चेहरे पर,
                                        पहली ही बार में दिल हार गए हम।  
                                                                                   माना, माना कुसूर उनका नहीं था हमारे इस हाल का,
                                                                                   पर मिली जो उनकी नज़रें हमारी नज़रों से, 
                                                                                    खुशी से उड़ते चले सातों आसमान पार गए हम
                                                                                   क्या करें हुज़ूर, उनकी आँखों में चमक थी ही इतनी,
                                                                                    कि पहली दफ़ा में ही दिल हार गए हम|  
 करने को उनसे दोस्ती, करने को उनसे बात,                                                                                                                                                                                         अपनी  हर  हद  के  पार  गए  हम,
  बढ़ाया  जो  दोस्ती  का  हाथ  उन्होंने
 हाथ मिलाने से पहले ही दिल हार गए हम।
                                                                                    पहली और आख़री लड़की थी वो,
                                                                                    जिनके सपने देखते सौ हज़ार बार गए हम,
                                                                                    हक़ीक़त में जब सामने आ खड़ी हुई वो,
                                                                                   कुछ बोलने से पहले ही दिल हार गए हम। 
      हुआ ख़ुदा मेहरबाँ कुछ इस तरह, 
      की किसी कविता के एक ही सार जौसे एक दूजे को करते प्यार गए हम,
     मेरी फ़िक्र करने की जो आदत थी उनकी,
     बस उस आदत पर दिल हार गए हम......
                                                                                           पर क्या पता था हमें ,की गुस्सा करने की आदत में,
                                                                                            उनको ठेस पहुंचाते बार बार गए हम,
                                                                                           किसी और को पसंद ना कर लें वो इस गलत फहमी में,
                                                                                           हँसती खेलती ज़िन्दगी को उनकी करते दुशवार गए हम.... 
                                                मेरी इस ग़लत आदत से तंग आकर,
                                              उनके ख़ास से बिल्कुल हो बेकार गए हम....
                                              रोते-मुस्कुराते हमेशा के लिए छोड़ चली गयी हमें वो अब,
                                                     जाने के इस अंदाज़ पर भी,
                                                           दिल हार गए हम.....

दिल हार गए हम❤️
#Hindi #nojotohindi #Popular #latest #HeartBreak #noforever #Love #Dream #

168 Love

""

"" कभी वख्त मिले ना.... " कभी वख्त मिले ना..... कभी वख्त मिले ना,तो उस शक्श के बारे में भी सोच लेना... गुस्सा आए तो बेशक किसी खिलौने को वो शक्श समझ कर नाखूनों से नोच देना.... फिर भी गुस्सा शांत न हो तो उठा फेकना खिलौने में समाए उस शक्श को, या फिर जला देना उसके प्यार के हर अक्स को.... कभी वख्त मिले ना, तो अपनी ये आखें मूंद लेना....... जाने अनजाने में ही सही , कभी एक दफा उस शक्श के ख्वाब ढूंढ लेना...... दुनिया भर की ख़ुशी मिलती थी जिसके पास तुझे, अब वही शक्श तुझे सबसे बुरा लगता होगा कभी वख्त मिले ना तो ये ही सोच लेना...... तेरे साथ रहने में जो सुरीले गाने सा लगता था तुझे, तेरे चले जाने के बाद कैसे बेसुरे सा लगता होगा, कभी वख्त मिले ना तो ये सोच लेना ...... एक वख्त था, जब उसका गुस्सा भी तुझे प्यार बेशुमार सा लगता होगा, एक वख्त अब है जब उसका प्यार भी बिलकुल बेकार सा लगता होगा ..... रखता था ज़रा जकड कर तुझे, ताकि झूठ और फरेब की कश्मकश में तू कहीं खो ना जाए, थोड़ी बंदिशें इस लिए थी लगाई उसने, ताकि इस ज़ालिम दुनिया में तुझे कहीं कुछ हो न जाए , कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना........ रहता था पास तुम्हारे जब वो, चेहरे पर नूर तो तुम्हारे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना, साथ रहोगे तुम दोनों हर्फ़ -दर-हर्फ़, इस बात का गुरूर तो ज़रा उससे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना..... माना कुछ बुराइयां थी उसमें पर... उतना भी बुरा नहीं था जैसा तुझे दिखलाया गया , गलती उसकी है ये सही है, पर गलती उन तरीकों और लोगों की भी तो थी,ये सोच लेना... तुम्हारे अज़ीज़ नए दोस्तों की मेहरबानी , जिन तरीकों से तुझे उसके खिलाफ भड़काया गया, कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना.... उतना बुरा भी नहीं था वो, कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना....."

"  कभी वख्त मिले ना.... " 
             
 कभी वख्त मिले ना.....
कभी वख्त मिले ना,तो उस शक्श के बारे में भी सोच लेना...
 गुस्सा आए तो बेशक किसी खिलौने को वो शक्श समझ कर नाखूनों से नोच देना....
फिर भी गुस्सा शांत न हो तो उठा फेकना खिलौने में समाए उस शक्श को,
 या फिर जला देना उसके प्यार के हर अक्स को....

कभी वख्त मिले ना,
तो अपनी ये आखें मूंद लेना.......
जाने अनजाने में ही सही ,
कभी एक दफा उस शक्श के ख्वाब ढूंढ लेना......

दुनिया भर की ख़ुशी मिलती थी जिसके पास तुझे,
अब वही शक्श तुझे सबसे बुरा लगता होगा
कभी वख्त मिले ना तो ये ही सोच लेना......
तेरे साथ रहने में जो सुरीले गाने सा लगता था तुझे,
तेरे चले जाने के बाद कैसे बेसुरे सा लगता होगा,
कभी वख्त मिले ना तो  ये सोच लेना ......

 एक वख्त  था, जब उसका गुस्सा भी तुझे प्यार बेशुमार सा लगता होगा,
एक वख्त  अब है जब उसका प्यार भी बिलकुल बेकार सा लगता होगा .....
रखता था ज़रा जकड कर तुझे, ताकि झूठ और फरेब की कश्मकश में तू कहीं खो ना जाए,
थोड़ी बंदिशें इस लिए थी लगाई उसने,
 ताकि इस ज़ालिम दुनिया में तुझे कहीं कुछ हो न जाए ,
कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना........

 रहता था पास तुम्हारे जब वो,
चेहरे पर नूर तो तुम्हारे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना,
साथ रहोगे तुम दोनों हर्फ़ -दर-हर्फ़,
इस बात का गुरूर तो ज़रा उससे भी हुआ करता होगा ये सोच लेना.....

 माना  कुछ बुराइयां थी उसमें पर...
उतना भी बुरा नहीं था जैसा तुझे दिखलाया गया ,
 गलती उसकी है ये सही है, पर गलती उन तरीकों और लोगों की भी तो थी,ये सोच लेना...
तुम्हारे अज़ीज़ नए दोस्तों की मेहरबानी ,
 जिन तरीकों से तुझे उसके खिलाफ भड़काया गया,
कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना....

 उतना बुरा भी नहीं था वो,
 कभी वख्त मिले तो ये सोच लेना.....

"कभी वख्त मिले ना........"


#latest#poemhindi#loveover#HeartBreak#Popular#nojotohindi#hindiwriters#nojoto#if_time_permits#loveends

158 Love
1 Share

""

"हमारी आवाज़ सुने बिना दिन नहीं गुज़रता ऐसा कहा करते थे वो कभी....... पता नहीं ऐसी क्या बात है उनके नये दोस्तों में, जो सालों की हमारी दोस्ती को धुँए की तरह हमेशा के लिए ओझल, और हमें राख़ की तरह नीचे गिरा छोड़ चले जाने पर उन्हें राज़ी कर गये।"

हमारी आवाज़ सुने बिना दिन नहीं गुज़रता ऐसा कहा करते थे वो कभी.......


पता नहीं ऐसी क्या बात है उनके नये दोस्तों में, 
जो सालों की हमारी दोस्ती को धुँए की तरह हमेशा के लिए ओझल,
 और हमें राख़ की तरह नीचे गिरा छोड़ चले जाने पर उन्हें राज़ी कर गये।

धुँआ धुँआ.........

#nojoto
#nojotohindi #bestfriend #Stranger #Yaad #short_tale #Reality #unke_naye_dost #Missing #bestfriendleaving

153 Love