Prachi Tyagi

Prachi Tyagi

Student New Delhi Follow me on Insta. 👇 Poetrybyprachi

  • Latest
  • Popular
  • Repost
  • Video

""

"Never show your weakness to the world. because world is so much Intrested to play with it. ©Prachi Tyagi"

Never show 
your weakness to the world. 
because world is so much Intrested
 to play with it.

©Prachi Tyagi

#you&Me

58 Love

""

"वक्त की नजाकत से आखिर कौन बचपाया है। तुम तो इसांन हो फिर भी, इसने तो भगवान को भी रूलाया है॥ फिर क्यों करते हो कल की चिंता। ये वक्त ही तो है, जो सबके लिये एक दिन खुशियां लाया है ॥ ©Prachi Tyagi"

वक्त की नजाकत से आखिर कौन बचपाया है। 
तुम तो इसांन हो फिर भी, 
इसने तो भगवान को भी रूलाया है॥
फिर क्यों करते हो कल की चिंता। 
ये वक्त ही तो है, 
जो सबके लिये एक दिन खुशियां लाया है ॥

©Prachi Tyagi

#HappyNewYear

53 Love
1 Share

""

""A new year brings not only happiness, It makes us happy with a hope to fulfill ur dreams Or a new beginning of our life. So a new year special for everyone" Happy New year to all 🎉🎊❤️ ©Prachi Tyagi"

"A new year brings not only happiness, 
It makes us happy with a hope to fulfill ur dreams
Or a new beginning of our life.
So a new year special for everyone"
Happy New year to all 🎉🎊❤️

©Prachi Tyagi

#2021Wishes

35 Love

""

"Never blame anyone in life. The good people give you A happiness. The worst people give you A lesson. And The best people give you memories. ©Prachi Tyagi"

Never blame anyone in life. 
The good people give you
A happiness. 
The worst people give you
A lesson. 
And The best people 
give you memories.

©Prachi Tyagi

#lost

106 Love

""

"जिस डोर से तूने आसमां में उडाया। मे वही पतंग पुरानी हूँ ॥ जिन किताबों को तुने बंद करवाया। में उन पन्नो की अनसूनी कहानी हूं॥ जिस महफिल में छोड गया तू। में उस रंगीन शाम की दीवानी हूं॥ और, जिस समाज में तूने मुझे अबला बताया में उस समाज को अपनी पहचान बताने वाली, एक नारी हूं॥ ©Prachi Tyagi"

जिस डोर से तूने आसमां में उडाया।
मे वही पतंग पुरानी हूँ ॥
जिन किताबों को तुने बंद करवाया।
में उन पन्नो की अनसूनी कहानी हूं॥
जिस महफिल में छोड गया तू। 
में उस रंगीन शाम की दीवानी हूं॥
और, 
जिस समाज में तूने मुझे अबला बताया 
में उस समाज को अपनी पहचान बताने वाली, 
 एक नारी हूं॥

©Prachi Tyagi

#womenempowerment

184 Love
4 Share