shubhi srivastav

shubhi srivastav

Basically i'm a dancer and youtuber but i also love to write. Plz subscribe to my dance channel, link is below.🙏🙏🙏🙏 शायर तो नहीं हूँ मै बस कभी कभी दिल के जज़्बात जुबां पर दस्तक दे देते है!✍️

https://www.youtube.com/channel/UC_k2wM7WmTgF4idWE01fLUA

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"#Worldsmileday सोचा था मुस्कुराते हुए गुजर जाएगी ज़िन्दगी, और फिर हमें रास्ते मे इश्क़ मिल गया.... ~•shubhi•~©"

#Worldsmileday सोचा था मुस्कुराते हुए गुजर जाएगी ज़िन्दगी, 
और फिर हमें रास्ते मे इश्क़ मिल गया.... 
~•shubhi•~©

#WorldSmileDay रास्ते मे इश्क़ मिल गया....
#Smile #Love #twoliners #Lovequatos #nojoto #Nojotochallenge #nojotoapp #nojotohindi
@Soulful Words @iBaDaT-e iShQ @deba shah @Halima Usmani @_puja_shaw

73 Love
7 Share

"मौसम की तरह तुम मेरी ज़िन्दगी का मजाक बनाके बड़े खुश लग रहे हो तुम, ना जाने क्यों मेरी उदासी पे यूँ हंस रहे हो तुम ! शिकवाओ का तो मेला लगता है मेरे दिल के हर इक कोने में, गिला करे भी तो किससे इस मेले के पहरेदार ही ठहरे तुम ! जरा इत्मीनान से बताना ये खेल खेला क्यों तुमने, हर जज़्बात से मेरे खेल के भी शर्मिंदा न दिख रहे तुम ! तेरी यादों की बौछार आज भी मेरी आँखों को भिगोती है, पर बदल जाएगा ये मौसम भी जैसे बदल गए हो तुम ! हर कश लिया है तुमने सिगरेट से बेवफाई तक, पर जिंदगी तो मेरी हुई धुआँ और फिर भी कश ले रहे हो तुम ! ~•shubhi•~©"

मौसम की तरह तुम मेरी ज़िन्दगी का मजाक बनाके बड़े खुश लग रहे हो तुम, 
ना जाने क्यों मेरी उदासी पे यूँ  हंस रहे हो तुम !

शिकवाओ का तो मेला लगता है मेरे दिल के हर इक कोने में, 
गिला करे भी तो किससे इस मेले के पहरेदार ही ठहरे तुम !

जरा इत्मीनान से बताना ये खेल खेला क्यों तुमने, 
हर जज़्बात से मेरे खेल के भी शर्मिंदा न दिख रहे तुम !

तेरी यादों की बौछार आज भी मेरी आँखों को भिगोती है, 
पर बदल जाएगा ये मौसम भी जैसे बदल गए हो तुम !

हर कश लिया है तुमने सिगरेट से बेवफाई तक, 
पर जिंदगी तो मेरी हुई धुआँ और फिर भी कश ले रहे हो तुम ! ~•shubhi•~©

#mausam फिर भी कश ले रहे हो तुम.....
#Poetry #nojoto #nojotoapp #nojotoshayri #poem @Aaisha rana @Dhawal Soni @Dilwala© @iBaDaT-e iShQ @Halima Usmani

41 Love
2 Share

"खत में मैंने लिखा कि आज सोचा एक ख़त तुम्हारे नाम लिखते है, अल्फाज़ कम ही सही पर शिकायतें तमाम करते है! उन चंद लफ्जो में ही मेरे दिल का हाल बयां हो जाता, पर याद करके तेरी गुस्ताखियों को यादों का ही इंतकाल करते है! कलम तो मैने उठा ली तुझसे इश्क़ की मजबूरी में, पर वो दिल्लगी ही क्या जिसमे नफरतों को सरेआम करते है! ना जाने कैसी लकीरें है मेरे हाथों की, तुझसे ही नफरत बेशुमार है .........और.......... तुझसे ही प्यार बेपनाह करते है!! ~•shubhi•~©"

खत में मैंने लिखा कि आज सोचा एक ख़त तुम्हारे नाम लिखते है,
अल्फाज़ कम ही सही पर शिकायतें तमाम करते है!

उन चंद लफ्जो में ही मेरे दिल का हाल बयां हो जाता, 
पर याद करके तेरी गुस्ताखियों को यादों का ही इंतकाल करते है!

कलम तो मैने उठा ली तुझसे इश्क़ की मजबूरी में, 
पर वो दिल्लगी ही क्या जिसमे नफरतों को सरेआम करते है!

ना जाने कैसी लकीरें है मेरे हाथों की, 
तुझसे ही नफरत बेशुमार है 
.........और.......... 
तुझसे ही प्यार बेपनाह करते है!!
~•shubhi•~©

#Khat इक ख़त तुम्हारे नाम लिखते है और शिकायतें तमाम करते है......
#Poetry #poem #Love #brokenheart #truthoflife #Lovers
@Aaisha rana @Dilwala© @iBaDaT-e iShQ @Bhavana Pandey @Halima Usmani

37 Love
1 Share

"मोहब्बत है क्या चीज़ तू कहे तो तेरे ऊपर पूरी एक किताब लिख दूँ, अश्क़ बहते शबनमो से तेरी हर बात लिख दूँ ! हर घटा की आशिक़ी जो हो रही है फिज़ाओ से, मुख़्तसर सी ये मोहब्बत आज तेरे नाम कर दूँ ! फीका पड़ गया है नशा साकी के जाम का भी, खुद को मै तेरे नशे में तुझमे ही मदहोश कर दूँ ! पूछता है जमाना क्या चीज है मोहब्बत बताना, ज़ख्म भी उसके दिए ज़ब मीठे से लगने लगें, है मोहब्बत इसी का नाम ये बात तुमको साफ कर दूँ !! ~•shubhi~•©"

मोहब्बत है क्या चीज़ तू कहे तो तेरे ऊपर पूरी एक किताब लिख दूँ, 
अश्क़ बहते शबनमो से तेरी हर बात लिख दूँ !

हर घटा की आशिक़ी जो हो रही है फिज़ाओ से, 
मुख़्तसर सी ये मोहब्बत आज तेरे नाम कर दूँ !

फीका पड़ गया है नशा साकी के जाम का भी, 
खुद को मै तेरे नशे में तुझमे ही मदहोश कर दूँ !

पूछता है जमाना क्या चीज है मोहब्बत बताना, 
ज़ख्म भी उसके दिए ज़ब मीठे से लगने लगें, 
है मोहब्बत इसी का नाम ये बात तुमको साफ कर दूँ !!  ~•shubhi~•©

#mohabbat #Love मुख़्तसर सी ये मोहब्बत....
#Poetry #nojoto #nojotoapp #nojotohindi #Nojotochallenge @iBaDaT-e iShQ @deba shah @Halima Usmani @My_Words✍✍ @Rhidam Kapoor

33 Love
1 Share

"कुछ नाराज़गी आज खुद से भी जाहिर करते है, अच्छे तो इतने हम भी नहीं.. कमियाँ तो गिनी है हजार दूसरों मे, पर यकीं मानो बुरे तो कम हम भी नहीं.. कुछ वक़्त ने सिखाया कुछ गलतियों ने, सीख तो रहे है पर खुद पर नाज़ अभी भी नहीं.. रेत की तरह फिसलते है हाथ अपनों के, पर खुद पे भरोसा दफ़न है मरा अभी भी नहीं.. कुछ तो कमी थी हमारी तासीर-ए-यकीं में, वरना दूसरों को तो छोड़िये जनाब यहां खुद से नाराज़गी कम भी नहीं... ~•shubhi•~©"

कुछ नाराज़गी आज खुद से भी जाहिर करते है, 
अच्छे तो इतने हम भी नहीं.. 

कमियाँ तो गिनी है हजार दूसरों मे, 
पर यकीं मानो बुरे तो कम हम भी नहीं.. 

कुछ वक़्त ने सिखाया कुछ गलतियों ने, 
सीख तो रहे है पर खुद पर नाज़ अभी भी नहीं.. 

रेत की तरह फिसलते है हाथ अपनों के, 
पर खुद पे भरोसा दफ़न है मरा अभी भी नहीं.. 

कुछ तो कमी थी हमारी तासीर-ए-यकीं में, 
वरना दूसरों को तो छोड़िये जनाब यहां खुद से नाराज़गी  कम भी नहीं... ~•shubhi•~©

#narajgi थोड़ी नाराज़गी आज खुद से भी जाहिर करते है......
#Poetry #poem #nojoto #nojotoapp #Broken 'निर्मेय' @Aaisha rana @Dilwala® @iBaDaT-e iShQ @Halima Usmani

33 Love