Sher Singh Rajawat

Sher Singh Rajawat Lives in Gurugram, Haryana, India

Life

  • Latest Stories
  • Popular Stories

सतह पर दिखना चाहिए ...
जीवंत दिखना चाहिए ... !!
जब प्रेम उस रोशनी से हो जो सतह से छन्न कर गहराइयों तक पहुँची हो ..
तो जीवन स्वासहीन हो मर्म तक जाना चाइये .. उतना ही गहरा और निस्तेज !!!

0 Love
0 Comment

स्व की श्रद्धा के समक्ष, आदित्य हू...
आत्म वन्दित चंद्र कला का लक्षण, विलक्षण हू ...
स्व कर कर्म गति का योजक, मोक्ष प्रेम तृष्णा हू ...
कृष्णा हू ...कृष्णा हू !!!

5 Love
0 Comment

वो वही से ग़ुजरता था जहाँ चाँद का उजाला था.. तारो की चमक थी.. ठंडी शांति थी और था हवा का संगीत !!फिर चमकता है सुबह.. Woh Suraj hai !! जो चाँद से जुड़ा था.. Woh Suraj hai !!!

7 Love
0 Comment

जीवन... आरम्भ प्रेम से, यात्रा प्रेम की और प्रेम ही नियोजन है !!

4 Love
1 Comment