Aditya Dwivedi

Aditya Dwivedi Lives in Bahraichi, Uttar Pradesh, India

तू बेशक अपनी महफ़िल में मुझे बदनाम करती हैं… लेकिन तुझे अंदाज़ा भी नहीं कि वो लोग भी मेरे पैर छुते है जिन्हें तू भरी महफ़िल में सलाम करती है 💪💪💪

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"मोहब्बत है क्या चीज़ मोहबत को जो निभाते हैं उनको मेरा सलाम है, और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको, हुमारा ये पेघाम हैं, “वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो, वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो”"

मोहब्बत है क्या चीज़ मोहबत को जो निभाते हैं उनको मेरा सलाम है,
और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको, हुमारा ये पेघाम हैं,
“वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,
वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो”

@RAVI KUMAR @Furkan Ahmad @kartikey Dubey @Shubham Kanaujiya @Sunil Kumar

49 Love

""

"#Worldsmileday टीचर स्टूडेंट से :बताओ सतयुग और कलयुग में क्या अंतर है! स्टूडेंट: सतयुग में इंद्र के पास १०-१२ इन्द्राणी होती थी!! कलयुग में इन्द्राणी के पास १०-१२ इंद्र होते है !! बस यही है सबसे बड़ा अंतर"

#Worldsmileday  टीचर स्टूडेंट से :बताओ सतयुग और
कलयुग में क्या अंतर है!
स्टूडेंट: सतयुग में इंद्र के पास १०-१२
इन्द्राणी होती थी!!
कलयुग में इन्द्राणी के पास १०-१२ इंद्र
होते है !!
बस यही है सबसे बड़ा अंतर

@Pratik Pandey @kashi sing @आदित्य सिंह राजन @sarita jakhar @Mnunayak👸

42 Love
4 Share

""

"धीरे धीरे से वो मेरी जिंदगी में आने लगे न चाहते हुए भी हम उन्हें चाहने लगे खफा खपा सा जब उन्हें देखा हमने पूंछा तो वो बोले की अब हम किसी और को चाहने लगे"

धीरे धीरे से वो मेरी जिंदगी में आने लगे 
न चाहते हुए भी हम उन्हें चाहने लगे
खफा खपा सा जब उन्हें देखा हमने
पूंछा तो वो बोले की अब हम किसी और को चाहने लगे

Aditya Dwivedi

39 Love
2 Share

""

"एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये.. पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही ।"

एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये..
पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही ।

एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये @Rj Mithila00 @Pragati @Pari aggarwal @Aadarsha singh @Divya Joshi

38 Love
2 Share

""

"ये इश्क भी एक अजीब एहसास होता है… अल्ज़फों से ज्यादा निगाहोसे बया होता है… हर पल बस उसके गम और खुशी की फ़िक्र होती है… इसी एहसास से तो हमको जीने का गुमान होता है…"

ये इश्क भी एक अजीब एहसास होता है…
अल्ज़फों से ज्यादा निगाहोसे बया होता है…
हर पल बस उसके गम और खुशी की फ़िक्र होती है…
इसी एहसास से तो हमको जीने का गुमान होता है…

ए इश्क भी एक अजीब एहसास होता है

37 Love
2 Share