krishna sharma

krishna sharma Lives in Gwalior, Madhya Pradesh, India

ek jamana tha jab hum sache the ek jamana tha jab hum ache the yeh sb tb ki baate hai jb hum bache the...

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"देख इस मौसम ने मुझे फिरसे तरसा दिया। तु मेरे हिस्से की थी पर तुझे किसी और के आँगन मे बरसा दिया। " कृष्णा शर्मा ""

देख इस मौसम ने मुझे फिरसे तरसा दिया।

 तु मेरे हिस्से की थी पर तुझे किसी और के आँगन मे बरसा दिया।
" कृष्णा शर्मा "

#sapnepoetry #Spreadlove @Nojoto

12 Love

""

"दिल-ए-अजीज को खोने का दर्द तुम न समझ पाओगे। रात भर मेखाने में फिर अगली सह़र सब भूल जाओगे। हमने तो रोज़ा भी दीदारे-ए-महबूब कर के तोडा हे। जो इश्क़ कर लोगे हम जैसा तो खुदा से मिल जाओगे। ....कृष्णा शर्मा"

दिल-ए-अजीज को खोने का दर्द तुम न समझ पाओगे।
रात भर मेखाने में फिर अगली सह़र सब भूल जाओगे।

हमने तो रोज़ा भी दीदारे-ए-महबूब कर के तोडा हे।
जो इश्क़ कर लोगे हम जैसा तो खुदा से मिल जाओगे। 

                  ....कृष्णा शर्मा

ISHQ #sapnepoetry #Spreadlove

12 Love

""

"में खुमार ही तो हु जो तेरे सर पे चढा हू। होता इश्क तो तेरे वजूद मे रमा होता . ........कृष्णा शर्मा। "

में खुमार ही तो हु जो तेरे सर पे चढा हू। 
होता इश्क तो तेरे वजूद मे रमा होता .
........कृष्णा शर्मा।

wazood #wazood #sapnepoetry.. #Spreadlove

11 Love

""

"मे अकसर अपनी मौत को महबुब कह देता हु। किसी से दिल लगाने को जहर का घूँट कह देता हु। कब कौन सी गोली सीना छल्ली कर जाएगी। हर बार घर आने का माँ से झुठ कह देता हूँ। ......कृष्णा शर्मा"

मे अकसर अपनी मौत को महबुब कह देता हु। 
किसी से दिल लगाने को जहर का घूँट कह देता हु। 
कब कौन सी गोली सीना छल्ली कर जाएगी। 
हर बार घर आने का माँ से झुठ कह देता हूँ। 
......कृष्णा शर्मा

these line belongs to soldiers.. with big hearts... #VandeMatram... #sapnepoetry

11 Love

""

"बहुत शोर है बाहर हुजुम भी बहुत ऊमडा है, लगता है फिर हेवानियत पे मजहब का लिवाज लिपटा है। "

बहुत शोर है बाहर हुजुम भी बहुत ऊमडा है, लगता है फिर हेवानियत पे मजहब का लिवाज लिपटा है।

#rapist is not belongs to any religions.. #RESPECT a girls #sapnepoetry

11 Love