Nargis Siddiqui

Nargis Siddiqui Lives in New Delhi, Delhi, India

be.... simple ☺

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"मेरी बज़्म से तेरा जाना कोई आम बात तो न थी। कैसे मुस्कुराउ सदमा था, दिल पर ,कोई वाह! कोई दात तो न थी। भुलाएं न भुलता है,क्यों ना वो दिन ए दिल वो जुदाई थी, कोई पहली, मुलाकात तो न थी।"

मेरी बज़्म से तेरा जाना कोई आम बात तो न थी। 
कैसे मुस्कुराउ 
सदमा था, दिल पर ,कोई वाह! कोई दात 
तो न थी।
भुलाएं न भुलता है,क्यों ना वो दिन
ए दिल 
वो जुदाई थी, कोई पहली,
मुलाकात तो न थी।

 

394 Love
6 Share

""

"यू ना रखा करो तुम दिल को अपने किसी और के लिए। तुम्हें क्या खबर दिल को तुम्हारे हम अपनी धड़कनों से जोड़ बेठे है।"

यू ना रखा करो तुम दिल को अपने
किसी और के लिए।
तुम्हें क्या खबर दिल को तुम्हारे 
हम अपनी धड़कनों से जोड़ 
बेठे है।

@Nehu❤ @Soumya Jain @Naina Raj ...

316 Love
2 Share

""

"teri janib ye kesi khabar aane lagi h. sase meri sadme me jane lagi h jabse suna h tabiyat nasaj h tumhari tab se yu gafil hui h ki, sase hame ab ruk - ruk ke aane lagi h."

teri janib ye kesi khabar aane lagi h.
sase meri sadme me jane lagi h

jabse suna h tabiyat nasaj h tumhari
tab se yu gafil hui h ki,
 sase hame ab ruk - ruk ke aane 
lagi h.

 

314 Love
4 Share

""

"प्यार दीवाना होता है, छलकता है,जो आखों से वो दिलकश पैमाना होता है। कहता है दिल दिन -रात जो,बस वही अफसाना होता है। क्या जाने तगाफुल करने वाले प्यार की तासीर। ढाई लफ्जों में बसा एक जमाना होता है। जनाब प्यार दीवाना होता है।"

प्यार दीवाना होता है,  छलकता है,जो आखों से वो दिलकश पैमाना होता है।
कहता है दिल दिन -रात जो,बस वही अफसाना होता है।
क्या जाने तगाफुल करने वाले प्यार की
तासीर।
ढाई लफ्जों में बसा एक जमाना होता है।
जनाब प्यार दीवाना होता है।

#Love

265 Love
2 Share

""

"wo gya to gya ruka nahi, ham bhi khade the darakht ke niche or kadam hamara bhi bada nahi pada raha hamare darmiya wo rishta lash ki tarha jaan bachi ki nahi bejaan me dekhne koi muda nahi. chal diye dono aleda aleda muh fer ke suna jamane bhar ko dil walo ne, bas ek dil ko hi suna nahi.. jeet gai ana dono ki,bas ek yakin hi jeeta nahi bad gaye aage kadam dono ke safar pe, bas koi bhi hamsafar bana nahi.."

wo gya to gya ruka nahi, ham bhi khade the darakht ke niche or kadam hamara bhi bada nahi 

pada raha hamare darmiya wo rishta lash ki tarha
jaan bachi ki nahi bejaan me dekhne koi muda nahi.

chal diye dono aleda aleda muh fer ke 
suna jamane bhar ko dil walo ne, bas ek dil ko hi suna nahi..

jeet gai ana dono ki,bas ek yakin hi jeeta nahi

 bad gaye aage kadam dono ke safar pe,
bas koi bhi hamsafar bana nahi..

 

254 Love
1 Share