Thakur Raghavendra Singh Rajpoot

Thakur Raghavendra Singh Rajpoot Lives in Kanpur, Uttar Pradesh, India

Founder of Singh Agriculture Hub | Mechanical Engineer | #कवि व #शायर | Agriculture & Horticulture Lover by Passion. Back 2 Field & Support Organic Farming. OrganicFarming is today's need

https://www.youtube.com/channel/UCPjsnz_3GyoD9Tcn_TnvMgw

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"जिंदगी एक किराए का घर है, एक न एक दिन बदलना पड़ेगा। मौत जब हम को आवाज देगी, घर से बाहर निकलना पड़ेगा।। सुभसँध्या🙏🙏 जय श्री राधे कृष्ण🙏🙏🚩"

जिंदगी एक किराए का घर है,
 एक न एक दिन बदलना पड़ेगा।
मौत जब हम को आवाज देगी,
घर से बाहर निकलना पड़ेगा।।
सुभसँध्या🙏🙏
जय श्री राधे कृष्ण🙏🙏🚩

 

18 Love

"राहें मेरी कविता "मेरा इश्क़" मैं कविताएं नहीं, कागज में अपना इश्क़ लिखता हूं। समय की इस सफीना के, बाजारों में मैं बिकता हूं।। मेरे ख्वाबों खयालों में, बस सूरत एक रहती है। मुझे पहरों तक लगता है, कि मुझसे कुछ तू कहती है।। मैं दूर भी रहूं कैसे, लहू बन के तू बहती है। मेरे हालात ऐसे हैं, कि पागल दुनिया कहती है।। बना कर मुझको तू अपना, तू मुझसे दूर रहती है। मोहब्बत को तू रुसवा कर, मजाक था फिर कहती है।।"

राहें मेरी कविता "मेरा इश्क़"

मैं कविताएं नहीं,
कागज में अपना इश्क़ लिखता हूं। 
समय की इस सफीना के,
बाजारों में मैं बिकता हूं।।
मेरे ख्वाबों खयालों में,
बस सूरत एक रहती है।
मुझे पहरों तक लगता है,
कि मुझसे कुछ तू कहती है।।
मैं दूर भी रहूं कैसे,
लहू बन के तू बहती है।
मेरे हालात ऐसे हैं,
कि पागल दुनिया कहती है।।
बना कर मुझको तू अपना,
तू मुझसे दूर रहती है।
मोहब्बत को तू रुसवा कर,
मजाक था फिर कहती है।।

#मेरीकविता #मेराइश्क़

12 Love

"यूँ ही फिजूल में कोई आँसू नहीं बहाता, जरूर किसी अपने ने दिल दुखाया होता है.."

यूँ ही फिजूल में कोई आँसू नहीं बहाता,
जरूर किसी अपने ने दिल दुखाया होता है..

 

10 Love

"💗🌹💗 हमे मुस्कान आपकी यादो से ::: मिलती हैं ::: दिल को राहत आपकी बातों से ::: मिलती हैं ::: बन्द मत करना ये दोस्ती का ::: सिलसिला ::: दिल की धड़कन आपकी दोस्ती से ::: चलती हैं ::: #मेरी_चाहत💓💓"

💗🌹💗
     हमे मुस्कान आपकी यादो से 
              ::: मिलती हैं :::
    दिल को राहत आपकी बातों से
              ::: मिलती हैं :::
      बन्द मत करना ये दोस्ती का
             ::: सिलसिला :::
 दिल की धड़कन आपकी दोस्ती से
              ::: चलती हैं :::
#मेरी_चाहत💓💓

 

9 Love

"खुशियों की नौका गम के दरिया, में सफर है कर रही । इंसान जिंदा है मगर, इंसानियत क्यों मर रही? मुझको सजा-ए-मौत दो, मैं सब का गुनहगार हूं । इंसान की तो बात छोड़ो, दुनिया में ही मैं भार हूं।। सुप्रभात🙏🙏 जय श्री राधे कृष्णा🙏🙏🚩 #alfazmere"

खुशियों की नौका गम के दरिया,
 में सफर है कर रही ।
इंसान जिंदा है मगर,
 इंसानियत क्यों मर रही?
 मुझको सजा-ए-मौत दो,
 मैं सब का गुनहगार हूं ।
इंसान की तो बात छोड़ो,
 दुनिया में ही मैं भार हूं।।
 सुप्रभात🙏🙏
 जय श्री राधे कृष्णा🙏🙏🚩

#alfazmere

#मेरीकविता

8 Love