RAMAKANT SHRIVAS

RAMAKANT SHRIVAS

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"चांद ने आकर कहा, खूबसूरत है तेरा हम सफर। मासूम सी नजरें है उसकी, प्रेम में भीगे अधर।। हमने कहा फिर चांद से , थोड़ा तो सच अब बोलिए। आप अपनी परछाई से, मत मेरे हमसफर को तौलिए।। हमने कहा अक्स तेरा, पड़ गया होगा किसी पहर। इसलिए लगता है तुझको, खूबसूरत मेरा हमसफर।। --- रमाकान्त श्रीवास"

चांद ने आकर कहा, खूबसूरत है तेरा हम सफर।
मासूम सी नजरें है उसकी, प्रेम में  भीगे अधर।।
हमने कहा फिर चांद से , थोड़ा तो सच  अब बोलिए।
आप अपनी परछाई से, मत मेरे हमसफर को तौलिए।।
हमने कहा अक्स तेरा, पड़ गया होगा किसी पहर।
इसलिए लगता है तुझको, खूबसूरत मेरा हमसफर।।

                                     --- रमाकान्त श्रीवास

 

11 Love
1 Share

""

"चढ़ा ये बुखार थोड़ा गहरा है तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है थोड़ी -थोड़ी बेचैनी है, साँसों की रफ्तार बढ़ रही है लगता है तेरी काजल वाली आँखे ले डूबी जा रही है समुद्र से ज्यादा नशा इसमें गहरा है तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है तुम जो घूर के इन आँखों से झूठा गुस्सा जो मुझे दिखाती हो फिर मुँह बनाके देख के मेरी ओर यू मुश्कुराती हो मैं हार बैठता हूँ सब कुछ तुम्हारी अदाओं पे हर पल में तुम मुझे याद जो आती हो तुम्हारे लिए अपना सब कुछ गँवा बैठा हूँ तुम मेरी जिंदगी हो और सुनो तू मेरी प्यार पहला है तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है रमाकान्त श्रीवास कोरबा"

चढ़ा ये बुखार थोड़ा गहरा है
तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है
थोड़ी -थोड़ी बेचैनी है, साँसों की रफ्तार बढ़ रही है
लगता है तेरी काजल वाली आँखे ले डूबी जा रही है
समुद्र से ज्यादा नशा इसमें गहरा है
तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है

तुम जो घूर के इन आँखों से झूठा गुस्सा जो मुझे दिखाती हो
फिर मुँह बनाके देख के मेरी ओर यू मुश्कुराती हो
मैं हार बैठता हूँ सब कुछ तुम्हारी अदाओं पे
हर पल में तुम मुझे याद जो आती हो
तुम्हारे लिए अपना सब कुछ गँवा बैठा हूँ
तुम मेरी जिंदगी हो और सुनो तू मेरी प्यार पहला है
तेरी पहली नजर पे मेरा दिल ये ठहरा है
               रमाकान्त श्रीवास
                    कोरबा

 

10 Love
1 Share

""

"मैं सोचता हूँ हमेशा क्यों न एक गलती और कर दिया जाये तुम्हारे हँसते खेलते चेहरे को क्यों न बेनकाब कर दिया जाये तुम इधर उधर मत देखो जानता हूँ मैं तुम्हें तुम बोलो तो तुम्हारा भी हिसाब कर दिया जाये तुम कोई दूध के धुले तो नहीं और न ही तुम कोई कोरा कागज अगर लिखने बैठु तो पूरा अखबार भर जाये इंजी.रमाकांत श्रीवास कोरबा(छ. ग)"

मैं सोचता हूँ हमेशा क्यों न एक गलती और कर दिया जाये
तुम्हारे हँसते खेलते चेहरे को क्यों न बेनकाब कर दिया जाये
तुम इधर उधर मत देखो जानता हूँ मैं तुम्हें
तुम बोलो तो तुम्हारा भी हिसाब कर दिया जाये
तुम कोई दूध के धुले तो नहीं और न ही तुम कोई कोरा कागज
अगर लिखने बैठु तो पूरा अखबार भर जाये
                        इंजी.रमाकांत श्रीवास
                               कोरबा(छ. ग)

 

9 Love
1 Share

""

"ऐ अपमान तूने मुझे क्या सीखा दिया हँसते चेहरों को कैसे पढ़ना सीखा दिया जाना तो था मुझे अपनी मंजिल की तरफ सागर की लहरों ने देखो कैसे किनारा दिखा दिया ऐ अपमान शुक्रिया तेरा ,इस बच्चे को तूने क्या से क्या बना दिया अब गैरो पर नहीं खुद पर भरोसा कर जीना सीखा दिया मैं शायर बदनाम.. इंजी. रमाकान्त श्रीवास कोरबा( छ.ग)"

ऐ अपमान तूने मुझे क्या सीखा दिया
हँसते चेहरों को कैसे पढ़ना सीखा दिया
जाना तो था मुझे अपनी मंजिल की तरफ
सागर की लहरों ने देखो कैसे किनारा दिखा दिया
 ऐ अपमान शुक्रिया तेरा ,इस बच्चे को  तूने क्या से क्या बना दिया
अब गैरो पर नहीं खुद पर भरोसा कर जीना सीखा दिया
      मैं शायर  बदनाम..  

              इंजी. रमाकान्त श्रीवास
                     कोरबा( छ.ग)

 

9 Love
1 Share

""

"पैदा किया किसी ने , दिया किसी ने संस्कार चलना सिखाया किसी ने ,किया किसी ने खूब दुलार साथ निभाया आपने ,जब था मैं निराधार हाथ बढ़ाकर आपने , थाम लिया मेरी जिन्दगी का पतवार मुझ पर रहेगा कर्ज , जिंदगी भर ये उधार कैसे निभाउंगा , कैसे चुकाऊंगा किया जो आपने मुझ पर ये उपकार सिर झुकाकर करता हूँ , हृदय से आपका आभार भारत की नारी अत्याचार है जारी फिर भी तूने हमें संभाला हम तेरे आभारी 🙏🙏 *HAPPY WOMENS DAY*🙏🙏 रमाकान्त श्रीवास कोरबा"

पैदा किया किसी ने , दिया किसी ने संस्कार
चलना सिखाया किसी ने ,किया किसी ने  खूब दुलार
साथ निभाया आपने ,जब था मैं निराधार
हाथ बढ़ाकर आपने , थाम लिया मेरी जिन्दगी का पतवार
मुझ पर रहेगा कर्ज , जिंदगी भर ये उधार
कैसे निभाउंगा , कैसे चुकाऊंगा किया जो आपने मुझ पर ये उपकार
सिर झुकाकर करता हूँ , हृदय से आपका आभार

         भारत की नारी अत्याचार है जारी
            फिर भी तूने हमें संभाला हम तेरे आभारी
🙏🙏 *HAPPY WOMENS DAY*🙏🙏
                     रमाकान्त श्रीवास
                            कोरबा

 

9 Love
1 Share