Nojoto: Largest Storytelling Platform
rajeevranjan9862
  • 71Stories
  • 5.5KFollowers
  • 2.8KLove
    11.3KViews

Rajeev Ranjan

author of book "Dipti shlok |ek shayar ka khwab |daffodils debut song _ chandan si pyari h mitti ....

https://www.amazon.in/dp/9354587291/ref=cm_sw_r_awdo_navT_g_6C32B5H2CBMFNWPZWNWA

  • Popular
  • Latest
  • Repost
  • Video
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

sad lines
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

ram lalla ख्वाइशों से मोह मिटा 
 मन रमा हरी नाम में ____
 वो सुकून कहां है किसी में ,
 जो सुकून है मेरे राम में ___
 _rajeev

©Rajeev Ranjan
  #ramlalla
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

_©rajeev
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

नटखट छेल छबीला 
सप्तरंगी रंगीला ...
अपरम जिसकी लीला 
नैन  नशीला ....
हर ब्रजबाला जिसकी दीवानी 
अतरंगी जिसकी नादानी 
ओ यमुना का पानी 
कहे थके ना जिसकी कहानी 
जो हर नैनन को भाए 
जो बड़ी हुड़दंग मचाए 
जिसे कहते माखन चोर 
जिससा ना कोई ओर ..
यशोदा का दुलारा 
वो छोरा बंसीवाला
गोकुल का रखवाला 
जो बड़ा ही है दिलवाला 
राधा का वो प्रियतम 
जो बड़ा ही सयाना है 
वो कान्हा है वो कान्हा 
वो अपना हां कान्हा है

©Rajeev Ranjan
  #janmashtami
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

फसें हैं किस मझधार में ,
दर्द के गिरफ्तार में 
क्यों नींद न आती अब रात भर ??
मन के राह जानें हम आए किधर

©Rajeev Ranjan
  #WoRasta
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

dur nhi aakash h poem by Rajeev Ranjan

dur nhi aakash h poem by Rajeev Ranjan #Motivational

9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

Maa  2.
सारी दुनिया जब मेरे ख़िलाफ़ होगीं
उस वक़्त भी मां मेरे ही साथ होगीं ...
मूझपे अपनी हर दौलत लुटाकर
मुझसे मां ने कभी कुछ नहीं मांगा
मेरी सलामती को मेरी मां ने.....
ईश्वर की भक्ति की हर सरहद लांघा....
जो मेरे गम से कर ले सौदा 
अपना पल खुशनुमा......
ऐसी है , मेरी प्यारी मां.....
ममता - करुणा जिसकी उपमा
वो है __हां है __वो मेरी मां..........

©Rajeev Ranjan
9d1fc59a51efe847fe8c5beb8f3a9091

Rajeev Ranjan

Maa  जिसने मुझे दिया है जन्म
जिसकी अंगुली पकड़ 
चलना सीखा ये कदम___
जिसके सीतल आंचल के तले
बीता बचपन हुए हम जवां......
वो है __हां है __वो मेरी मां..........
ममता - करुणा जिसकी उपमा

©Rajeev Ranjan
loader
Home
Explore
Events
Notification
Profile