Vivek Vishu

Vivek Vishu Lives in Bhopal, Madhya Pradesh, India

हिन्द हमारी माँ और माँ का तो प्राण है l दिल में हिन्दी ❤ जीना सिर्फ कुमार विश्वास सर ( गुरु) के लिए🙏🙏 follow💗 me on Instagram 👇👇

https://www.instagram.com/_pure_organic_vivek/

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"वो भी क्या हसीन दौर-ए -जिंदगी था, जब उनका साथ था । अलग बात है कि लगता दीया के साथ पर वो हवा के साथ था ।"

वो भी क्या हसीन दौर-ए -जिंदगी था, जब उनका साथ था ।

 अलग बात है कि लगता दीया के साथ पर वो हवा के साथ था ।

#यादें
#शायरी
#कविता
#मुहब्बत
#Nojoto

14 Love

"याद उन्हें अभी भी है, ये बातें बस बेकार है । दिदार होने पर आँखो में आँसू ,ये उनका बस किरदार है ।। -@vivek"

याद उन्हें अभी भी है, ये बातें बस बेकार है ।
दिदार होने पर आँखो में आँसू ,ये उनका बस किरदार है ।।
         -@vivek

dil ki baten ..💕💕

13 Love

"#OpenPoetry मेरा ख्वाब बहुतों के मंजिल थे ,किसी को मिला तो नहीं। मैं तकल्लुफ़ क्यों करूँ, सबका मेरे तरह हौसला तो नहीं । जिंदगी के भीतर आग तो सुलगा दिया जन-ए-जां ने ही जो टला नहीं,मैं बेशर्म बाहर आ गया पर जला तो नहीं l इन्तज़ार तो बहुत है मंजर-ए-ऐश-ए-जिंदगी का, सच्च है अभी मिला नहीं पर अभी जींदगी भी निकला तो नहीं। वो इक शाख्स नहीं है बांकी सुकून-ए-रफ़ाकत सर-बसर, जबकि ठीक से सम्भला भी नहीं पर मैं फिसला तो नहीं । रास्ता रोका बे-तरह ख्याल-ए-यार ने जो हमसे हिला नहीं पर अपने अंदर से गुज़र गया मंजिल अपना बदला तो नहीं l"

#OpenPoetry    मेरा ख्वाब बहुतों के मंजिल थे ,किसी को मिला तो नहीं। 
मैं तकल्लुफ़ क्यों करूँ, सबका मेरे तरह हौसला तो नहीं ।

जिंदगी के भीतर आग तो सुलगा दिया जन-ए-जां ने ही 
जो टला नहीं,मैं बेशर्म बाहर आ गया पर जला तो नहीं l 

इन्तज़ार तो बहुत है मंजर-ए-ऐश-ए-जिंदगी का, सच्च है
अभी मिला नहीं पर अभी जींदगी भी निकला तो नहीं।

वो इक शाख्स नहीं है बांकी सुकून-ए-रफ़ाकत सर-बसर,
जबकि ठीक से सम्भला भी नहीं पर मैं फिसला तो नहीं ।

रास्ता रोका बे-तरह ख्याल-ए-यार ने जो हमसे हिला नहीं       पर अपने अंदर से गुज़र गया मंजिल अपना बदला तो नहीं l

#_तो_नहीं
#मैं
#nojoto
#gajal
Babul Kumar
soni kumari

12 Love

"#Online.😍 जब से वो रु-ब-रु हुई है पता नहीं मुझे ये क्या हुआ? जबकी कौन सा ये मेरे जिंदगी में पहली मरतबा हुआ? उसका भी अंदाज अलग है और मुझे भी ऐहसास कुछ जुदा हुआ l"

#Online.😍 
जब से वो रु-ब-रु हुई है पता नहीं मुझे ये क्या हुआ?
जबकी कौन सा ये मेरे जिंदगी में पहली मरतबा हुआ?
 उसका भी अंदाज अलग है और मुझे भी ऐहसास कुछ जुदा हुआ l

#Love
#Shayari
#proposal_shayri
#_bekarari
#kavita
#Poetry @Harishita Singh @mr_writer @Mahima Yadav @Pallavi Kumari @soni kumari

11 Love
1 Share

#Yaad

11 Love
54 Views