Hardik Shakyawar

Hardik Shakyawar Lives in Gwalior, Madhya Pradesh, India

Hardik Shakyawar, hardikshakyawar444@gmail.com, 8349703497

  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"" Poetry " आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती, अब ये निगाहें तेरी तस्वीरों से कहीं नहीं जाती, तड़प रहा है दिल मेरा तेरी यादों में हर शाम, अब ये तन्हाइयों की मार मुझसे सही नहीं जाती, बेकरार हूं कब से एक मुलाकात के इंतज़ार में, ढलती है शाम तो ये सांसे भी ली नहीं जाती, आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती, अब ये निगाहें तेरी तस्वीरों से कहीं नहीं जाती, की इंतज़ार में तेरे कई राते है गुजर जाती, याद न सताए तेरी ऐसी कोई घड़ी नहीं जाती, आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती, अब ये निगाहें तेरी तस्वीरओं से कहीं नहीं जाती !"

" Poetry "

आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती,
अब ये निगाहें तेरी तस्वीरों से कहीं नहीं जाती,
तड़प रहा है दिल मेरा तेरी यादों में हर शाम,
अब ये तन्हाइयों की मार मुझसे सही नहीं जाती,
बेकरार हूं कब से एक मुलाकात के इंतज़ार में,
ढलती है शाम तो ये सांसे भी ली नहीं जाती,
आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती,
अब ये निगाहें तेरी तस्वीरों से कहीं नहीं जाती,
की इंतज़ार में तेरे कई राते है गुजर जाती,
याद न सताए तेरी ऐसी कोई घड़ी नहीं जाती,
आओ मेरे पास की अब ये दूरियां सही नहीं जाती,
अब ये निगाहें तेरी तस्वीरओं से कहीं नहीं जाती !

#arzkiyahai

5 Love

""

"क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी , हमे तो बस तेरी बाहों में लिपटना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम मेरी धड़कन ही लेकर चली जाओगी, हमे तो बस तुझे सांसो में बसना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी , हमे तो तेरे करीब आकर तुम्हें गले लगाना अच्छा लगता था । कि जब भी तेरी आंख से आंसू गिरे तो सिर्फ मेरे कांधे पर, हमे तो तेरी वांहों में वांहें डालकर चलना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी , हमे तो तुझसे मिलने के लिए ख़ुदा से झूठ बोलना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम हमे आवारा कह कर चले जाओगे, हमे तो बस तुझ पगली कहना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम हमसे रूठ ही हो जाओगी, हमे तो बस तुमसे मोहब्ब्त करना अच्छा लगता था । क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी , हमे तो बस तेरी बाहों में लिपटना अच्छा लगता था ।"

क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी ,
हमे तो बस तेरी बाहों में लिपटना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम मेरी धड़कन ही लेकर चली जाओगी,
हमे तो बस तुझे सांसो में बसना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी ,
हमे तो तेरे करीब आकर तुम्हें गले लगाना अच्छा लगता था ।
कि जब भी तेरी आंख से आंसू गिरे तो सिर्फ मेरे कांधे पर,
हमे तो तेरी वांहों में वांहें डालकर चलना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी ,
हमे तो तुझसे मिलने के लिए ख़ुदा से झूठ बोलना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम हमे आवारा कह कर चले जाओगे,
हमे तो बस तुझ पगली कहना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम हमसे रूठ ही हो जाओगी, 
हमे तो बस तुमसे मोहब्ब्त करना अच्छा लगता था ।
क्या पता था तुम हमसे दोस्ती ही तोड़ जाओगी ,
हमे तो बस तेरी बाहों में लिपटना अच्छा लगता था ।

#arzkiyahai

5 Love

""

"Nazm " # सुना है वो लोगो के नज़रों में भर के रहते है, गर ये सच है तो यूं करो घर बेचो कुछ दिन उनके शहर में किराए का मकां लेकर रहते हैं , अगर वो बोलते है तो लफ्ज़ उनके लबों से झड़ते है, चलो फिर उनके लफ्जो को नज्मों में पिरो कर रहते हैं, की दिन में उन्हें भबरे सताते है, और रात को उनके अाघोष में जुगनू ठहर के रहते हैं, की उनके जुल्फों से सवरती है सुबह की पहली किरण, गर ये सच है तो एक रात उनकी जुल्फों के साए में गुजार के रहते हैं !"

Nazm "

# सुना है वो लोगो के नज़रों में भर के रहते है, 
गर ये सच है  तो यूं करो घर बेचो कुछ दिन
 उनके शहर में किराए का मकां लेकर रहते हैं ,
अगर वो बोलते है तो लफ्ज़ उनके लबों से झड़ते है, 
चलो फिर उनके लफ्जो को नज्मों में पिरो कर रहते हैं,
की दिन में उन्हें भबरे सताते है,
 और रात को उनके अाघोष में जुगनू ठहर के रहते हैं, 
की उनके जुल्फों से सवरती है सुबह की पहली किरण,
गर ये सच है तो एक रात उनकी 
जुल्फों के साए में गुजार के रहते हैं !

#arzkiyahai

4 Love

""

"जो हर रोज़ तुझे छूकर गुज़र रही है, एक शख़्स खो गया उस बहती सी हवा में। #NojotoQuote"

जो हर रोज़ तुझे छूकर गुज़र रही है, एक शख़्स खो गया उस
   बहती सी हवा में। #NojotoQuote

एक शख़्स
#story #Poetry #Dard

3 Love

""

"मैं वो शख्स नही जो सूरतें निहार कर मोहब्बत की राहें दू, मै तो इश्क सांसो से करता हु जब तक चलेंगी दिलों जान से चाहूंगा ।"

मैं वो शख्स नही जो सूरतें निहार कर मोहब्बत की राहें दू,
मै तो इश्क सांसो से करता हु जब तक चलेंगी दिलों जान से चाहूंगा ।

#अर्ज़कियाहै

3 Love