omdeo

omdeo Lives in Madhepura, Bihar, India

कुछ लिख जाने की चाहत है।

  • Latest Stories

"नजर कहीं निशाना कहीं और हम जैसे फकीरों का ठिकाना कहीं और हम तो यहीं टहरे जमाना कहीं और"

नजर कहीं निशाना कहीं और
हम जैसे फकीरों का ठिकाना कहीं और
हम तो यहीं टहरे जमाना कहीं और

फकीरों का ठिकाना

8 Love

"कुछ लोगों का दिल दरिया सा होता तो हैं दिल के उस पता तक पहुंचने का कोई जरिया नहीं होता। 🙁🙁"

कुछ लोगों का दिल दरिया सा होता तो हैं
दिल के उस पता तक पहुंचने का कोई जरिया नहीं होता।
🙁🙁

दिल तक पहुंचने का पता

6 Love

"न किसी को पाने की खुशी है न किसी के खोने का ग़म बयां तो तब भी नहीं कर पाया और न कभी कर पाऊंगा अब शायद किसी को तुम्हें पाने की ख्वाहिश थी या हमें तुमसे जुदाई की शादिस आहत तो तब भी नहीं हुआ जब छोर चले सब क्यों करना यहां अब अफसोस जब हो यहां सब फरेबी नकाबपोश"

न किसी को पाने की खुशी है 
न किसी के खोने का ग़म
बयां तो तब भी नहीं कर पाया 
और न कभी कर पाऊंगा अब
शायद किसी को तुम्हें पाने की ख्वाहिश थी या हमें तुमसे जुदाई की शादिस
आहत तो तब भी नहीं हुआ जब छोर चले सब
क्यों करना यहां अब अफसोस
जब हो यहां सब फरेबी नकाबपोश

न पाने की खुशी न खोने का ग़म

6 Love

"हमने अपना इरादा बदल दिया बार बार टूट जाता था दिल इसलिए हमने ठिकाना बदल दिया।"

हमने अपना इरादा बदल दिया
 बार बार टूट जाता था दिल 
इसलिए हमने ठिकाना  बदल दिया।

दिल का ठिकाना

10 Love

"मेरे मुस्कुराने का भी एक इशारा होता है शायद यही मेरे दर्द को छुपाने का सहारा होता है वरना हम तो गम के मजधार में फ़से होते जीने की उम्मीद कम शायद चल बसे होते"

मेरे मुस्कुराने का भी एक इशारा होता है
शायद यही मेरे दर्द को छुपाने का सहारा होता है
वरना हम तो गम के मजधार में फ़से होते
जीने की उम्मीद कम शायद चल बसे होते

 

9 Love