madhukar singh chauhan

madhukar singh chauhan Lives in Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

गर दिल है गंदा तो दिखावे की सफाई न करना , जो तोड़े दूसरों का दिल उससे बफाई ना करना । पढ़ो मेरे शब्दों को दिल से अपना दर्द मिलेगा , मुझे फॉलो ना करके तुम भी बेवफाई ना करना ।। ,,,,,,,,,,,,,; Madhukar singh chauhan https://youtu.be/XWDd9VH9v8g

Newindianpoems.blogspot.com

  • Latest Stories
  • Popular Stories
सूरत पर तुम्हारी निगाहों के पहरे हैं

न जाने कितने दिल इन आंखों पर ठहरे हैं

मुंह फेर कर जो हमसे नजरें चुराते हो

हमारी नींद और ख्वाबों पर सिर्फ तुम्हारे पहरे हैं

#notojo

सूरत पर तुम्हारी निगाहों के पहरे हैं

न जाने कितने दिल इन आंखों पर ठहरे हैं

मुंह फेर कर जो हमसे नजरें चुराते हो

हमारी नींद और ख्वाबों पर सिर्फ तुम्हारे पहरे हैं

12 Love
0 Comment
1 Share
आज से लाइफ का बस एक ही उसूल है

जो मेरा नहीं वह किसी का नहीं 

बात खतम......

आज से लाइफ का बस एक ही उसूल है

जो मेरा नहीं वह किसी का नहीं बात खतम

5 Love
0 Comment
सबने इतने रंग बदले कि हम मजबूर हो गए

बादल हो कर भी वारिसों हो से दूर हो गए

ऐसा नहीं कि जमीन की हरियाली हमें पसंद नहीं

रुख बदला हवाओं ने तो हम फिर चकनाचूर हो गए

#nojoto

4 Love
0 Comment
डगर में उल्फत -ए-इश्क की सभी कमजोर हो गए

कभी ना टूटने वाली कच्ची डोर हो गए

हर कोई सीख गया है जरूरतों के हिसाब से बंधना

खुल खुल कर वो खुद में ही सराबोर हो गए

support me

6 Love
0 Comment
बहरूपिया व्योम ,मंद हवा को वहलाए ।
आस्तीन का सांप ,हो जैसे अमृत लाए ।।
छेड़ रहा वह आज ,वफा की गलियों में ।
आशिकी मे राधा ,कंश की हो ना जाए ।।




           ,,,,,,,,   Madhukar singh chauhan  ⚔ ⚔⚔

बहरूपिया व्योम ,मंद हवा को वहलाए ।
आस्तीन का सांप ,हो जैसे अमृत लाए ।।
छेड़ रहा वह आज ,वफा की गलियों में ।
आशिकी मे राधा ,कंश की हो ना जाए ।।




,,,,,,,, Madhukar singh chauhan ⚔ ⚔⚔

24 Love
0 Comment