jay jetwani

jay jetwani Lives in Jodhpur, Rajasthan, India

small writer ,fiction thinker,horror and love comic reader

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"किसी पर इल्जाम लगाने से पहले यह सोचना चाहिए कि हमने उनकी कितने पहलुओं को देखा है उनके और हम में कितनी समझदारी की रेखा है किसी को समझने के लिए उसके साथ जीना पड़ता है क्या महसूस कर रहे हैं वह उसके लिए कड़वे हालातों के उनके घूट को पीना पड़ता है writtern by jay jetwani #NojotoQuote"

किसी पर इल्जाम  लगाने से पहले यह सोचना चाहिए कि हमने उनकी कितने पहलुओं को देखा है
उनके और हम में कितनी समझदारी की रेखा है
 किसी को समझने के लिए उसके साथ जीना पड़ता है 
क्या महसूस कर रहे हैं वह उसके लिए कड़वे हालातों के उनके घूट को पीना पड़ता है
writtern by jay jetwani #NojotoQuote

 

62 Love
1 Share

"अक्सर जिंदगी में जब तमन्ना बेस्वाद और फीकी ही रहती है तब अक्सर आंखें इसके चलते भीगी ही रहती है बढ़ा कम वक्त लगता है इन आंखों को बहने में और बड़ा ज्यादा वक्त लग जाता है इन आंखों को अपने दर्द कहने में #NojotoQuote"

अक्सर जिंदगी में जब तमन्ना बेस्वाद और फीकी ही रहती है 
तब अक्सर आंखें इसके चलते भीगी ही रहती है
बढ़ा कम वक्त लगता है इन आंखों को बहने में
 और बड़ा ज्यादा वक्त लग जाता है इन आंखों को अपने दर्द कहने में
 #NojotoQuote

 

45 Love
2 Share

"गोद तेरी मेरा तकिया है तुझे मानता हूं अपना तभी तो अपना सर तेरी गोद में रखया है"

गोद तेरी मेरा तकिया है तुझे मानता हूं अपना  तभी तो अपना सर तेरी गोद में रखया है

तेरी गोद😍😍😍 #Love #Feeling

41 Love

"बंदिशें और हालात इंसान को मजबूर कर देती है जिस्म को रूह से दूर कर देती है किसी को किसी के सपनों से अलग कर तुम क्या पाओगे क्या किसी को तबाह कर क्या तुम सुकून से रह पाओगे सपने सभी को प्यारे होते हैं तुमने भी उसे संभाल रखे हैं इसमें कोई शक नहीं अगर तुम्हें दूसरों के सपने तो लेने में मजा आता है तो तुम्हें भी सपने देखने का कोई हक नहीं #NojotoQuote"

बंदिशें और हालात इंसान को मजबूर कर देती है
 जिस्म को रूह से दूर कर देती है
किसी को किसी के सपनों से अलग कर तुम क्या पाओगे
 क्या किसी को तबाह कर क्या तुम सुकून से रह पाओगे
 सपने सभी को प्यारे होते हैं तुमने भी उसे संभाल रखे हैं इसमें कोई शक नहीं
अगर तुम्हें दूसरों के सपने तो लेने में मजा आता है तो तुम्हें भी सपने देखने का कोई हक नहीं #NojotoQuote

 

40 Love
1 Share

"अश्क़ पलके अक्सर इन बहती हुई अश्क़ को रोक लेती हैं और यह प्यासी जमी इस अश्क़ को सोख लेती है अक्सर इन अश्क़ के साथ दबी हुई यादें भी बाहर आ जाती है कुछ देर के लिए सही लेकिन यह जिंदगी उस पर ठहर सी जाती है बेमतलब ये आंखे अक्सर कहीं भटकती है बेमतलब अक्सर किसी को खटकती है अश्क की बूंद अक्सर इन पलकों पर लटकती है कभी इन आंखों में किसी के लिए फ़ीकी होती है तो कभी किसी के लिये तीखी होती है writtern by jay jetwani #NojotoQuote"

अश्क़ पलके अक्सर इन बहती हुई  अश्क़ को रोक लेती हैं 
और यह प्यासी जमी इस अश्क़ को सोख लेती है
अक्सर इन अश्क़ के साथ दबी हुई यादें भी बाहर आ जाती है
कुछ देर के लिए सही लेकिन यह जिंदगी उस पर ठहर सी जाती है
बेमतलब ये आंखे अक्सर कहीं भटकती है
बेमतलब अक्सर किसी को खटकती है
अश्क की बूंद अक्सर इन पलकों पर लटकती है
कभी इन आंखों में किसी के लिए फ़ीकी होती है
 तो कभी किसी के लिये तीखी होती है
writtern by jay jetwani
 #NojotoQuote

 

39 Love