Bharat Patel

Bharat Patel Lives in Mumbai, Maharashtra, India

love to write, Love to hide all the goods and bads of all situation in dairy.

  • Latest Stories

"अनसुनी अनजानी रहो में एक आस बाकी क्यों है इस तन्हा जिंदगी में अब भी सांस बाकी क्यों है वैसे तो सारा समंदर है मेरे पास फिर भी जीवन में प्यास बाकी क्यों है रहती तो वो दिल मे थी फिर उसकी तलाश बाकी क्यों है फासले बहोत है हमारे दरमियाँ फिर भी तुम्हे पाने की चाह बाकी क्यों है"

अनसुनी अनजानी रहो में 
एक आस बाकी क्यों है
इस तन्हा जिंदगी में अब भी सांस बाकी क्यों है
वैसे तो सारा समंदर है मेरे पास 
फिर भी जीवन में प्यास बाकी क्यों है
रहती तो वो दिल मे थी
फिर उसकी तलाश बाकी क्यों है
फासले बहोत है हमारे दरमियाँ
फिर भी तुम्हे पाने की चाह बाकी क्यों है

तेरी तलाश बाकी क्यों है

5 Love

"हा मैं खुश हूं"

हा मैं खुश हूं

हा मैं खुस हु

5 Love
54 Views

"तुम इस कदर याद आया ना करो चोरी चुपुके से हमे सताया ना करो बेगाने होकर भी हमे अपना बताया ना करो जीवन भर का गम देकर एक पल के लिए हसाया ना करो"

तुम इस कदर याद  आया ना करो
चोरी चुपुके से हमे सताया ना करो
बेगाने होकर भी हमे 
अपना बताया ना करो
जीवन भर का गम देकर 
एक पल के लिए हसाया ना करो

तुम यु जाया ना करो

8 Love