Shiva Awasthi

Shiva Awasthi

  • Popular Stories
  • Latest Stories

"मन मिलन को तेरे यूं विकल हो गया, पूर्णाहुति हवन की ये तन हो गया। भारती मां तेरे आचमन के लिए, आज लोहू मेरा गंगा जल हो गया"

मन मिलन को तेरे यूं विकल हो गया,
पूर्णाहुति हवन की ये तन हो गया।
भारती मां तेरे आचमन के लिए,
आज लोहू मेरा गंगा जल हो गया

जय हो। कारगिल विजय

8 Love

"प्रीति के भाव को शब्द का विन्यास दे दो तुम। रहे जो उम्र ढलने तक, मुझे वो आस दे दो तुम।। कहां ले जाए किसको, जिंदगी मालूम नहीं हमको मगर हो आज बस मेरे यही आभास दे दो तुम।।"

प्रीति के भाव  को शब्द का  विन्यास दे दो तुम।
रहे जो उम्र ढलने तक, मुझे वो आस दे दो तुम।।
कहां ले जाए किसको, जिंदगी मालूम नहीं हमको
मगर हो आज बस मेरे  यही आभास दे दो तुम।।

#my quote my feellings#love beat# good night

6 Love
1 Share

#my quote my feellings

6 Love
6 Views
1 Share

"ईश्वर से प्रार्थना है, हर घर की छत बचाए। खुशियों की रौशनी से, आलिंद जगमगाएं।। बस इतना करम करना, संसार पर खुदाया, सोए न कोई भूखा, हर देह वस्त्र पाए।।"

ईश्वर से प्रार्थना है, हर घर की छत बचाए।
खुशियों की रौशनी से, आलिंद जगमगाएं।।
बस इतना करम करना, संसार पर खुदाया,
सोए न कोई भूखा, हर देह वस्त्र पाए।।

#शिवा अवस्थी।।इच्छा

6 Love

"चैन मन को न आएगा अब, रात बाहों में भर लो मुझे। उम्र हो जाएगी दोगुनी, अपनी सांसों में भर लो मुझे।। दूर कोयल लगी बोलने, पी पपीहे बुलाने लगे, चांद भी छत पे अब अा गया, फूल बेला के गाने लगे।। जैसे चकवे मिले बाग में, रात बाहों में भर लो मुझे।। उम्र हो जाएगी...... रातरानी में खोया पवन, जुगनू शाखों में छुपने लगे। शांत होकर नदी भी रुकी, लब किनारों से मिलने लगे।। खोया तारों में आकाश भी,रात बाहों में भर लो मुझे।। उम्र हो जाएगी ..... -. shiva awasthi"

चैन मन को न आएगा अब, रात बाहों में भर लो मुझे।
उम्र हो जाएगी दोगुनी, अपनी सांसों में भर लो मुझे।।

दूर कोयल लगी बोलने, पी पपीहे बुलाने लगे,
चांद भी छत पे अब अा गया, फूल बेला के गाने लगे।।
जैसे चकवे मिले बाग में, रात बाहों में भर लो मुझे।।
उम्र हो जाएगी......

रातरानी में खोया पवन, जुगनू शाखों में छुपने लगे।
शांत होकर नदी भी रुकी, लब किनारों से मिलने लगे।।
खोया तारों में आकाश भी,रात बाहों में भर लो मुझे।।
उम्र हो जाएगी .....
                                  -. shiva awasthi

चैन मन को न आएगा अब, रात बाहों में भर लो मुझे।
उम्र हो जाएगी दोगुनी, अपनी सांसों में भर लो मुझे।।

दूर कोयल लगी बोलने, पी पपीहे बुलाने लगे,
चांद भी छत पे अब अा गया, फूल बेला के गाने लगे।।
जैसे चकवे मिले बाग में, रात बाहों में भर लो मुझे।।
उम्र हो जाएगी......

6 Love