tags

Latest ramzan time table 2017 Image and Videos

Find the latest Image and Videos about ramzan time table 2017 from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about sunset time, time calculator, time quotes, time management, sunset time today, dreams come true, time bazar chart, your quote, same time same jagah, a quote about time, your quotes, time pass games, move your lakk, time and work, video come.

Related Stories

  • Latest Stories

All you need to know about the cool gadgets launched at CES 2017
Consumer Electronics Show (CES) 2017 began with a bang on January 5, 2017, in Las Vegas. The tech fair featured an exuberant display of technology and witnessed big brands like Google and BMW coming together for the creation of future technology.While the participating brands including tech companies like Dell, Lenovo and HP displayed some really cool laptops, organisations like Google and BMW went high on Artificial Intelligence.
In case you missed out on the developments, check out the updates here:

Lenovo launches series of gaming laptops Lenovo Legion (Photo: Lenovo/CES 2017)
CES 2017 witnessed Lenovo launching a new series of gaming laptops– Legion. Lenovo Legion Y720 features the latest range of Intel Core processors with discrete graphics and super fast hybrid storage space and an Xbox One Wireless Controller support. The company also launched Yoga Book, which runs on a custom version of Android operating system. Yoga Book also features an innovative Halo keyboard, which appears when you need it and vanishes when you don’t.
LG unveils a super-slim television
LG unveils TV (Photo: LG/CES 2017)Korean consumer electronics giant unveiled a super-slim television at CES 2017. The smart-TV is a mere 2.57mm thick and features an OLED panel with nano-cell technology. The company would start shipping the TV, that looks like a poster on the wall, from March 2017.
Samsung shows off Odyssey notebook system
Samsung Odyssey (Photo: Windows/CES 2017)The year 2016 was a year of epic bloopers for Korean electronic giant Samsung. However, the company has a number of devices lined up in 2017 to make a stellar comeback. Starting the year with a bang, the company showed off its latest notebook– Odyssey at the CES in LA. The laptop is power-packed with a number of features including the 7th generation Intel core i7 processor with a wide-view angle display, a 1TB HDD, Dual SSD + HDD and Triple storage space. The company also updated its Notebook 9 series laptop adding an increased battery life, Windows 10, 7th generation Intel Core i7 Processor to it. The company also announced Chromebook and Chromebook Plus, that offer 360-degree rotating touchscreen.
HP launches world’s slimmest convertible
HP Spectre (Photo: HP Spectre/CES 2017)Ahead of CES 2017, US tech giant Hewlett-Packard (HP) unveiled the world’s thinnest convertible laptop. EliteBook x360 promises the longest ever battery life of over 16 hours. The laptop is protected by a coating of Corning Gorilla Glass and is powered by the seventh-generation Intel core i7 processor. The company also unveiled EliteBook x360, which features ultra-high display, 16GB DDR4 RAM and Windows Hello support.
Qualcomm display the all-mighty Snapdragon 835 processor
Snapdragon 835 (Photo: Qualcomm/CES 2017)While CES is all about the big brands bragging their peerless technological advancements, it’s the core products like the processors, VR and graphics that draw maximum attention. In this cases, the show-stealer was Qualcomm that unveiled its all-mighty processor Snapdragon 835 at CES 2017. The company is launching the processor in conjunction with the Power Rangers VR gear.
Nissan and BMW bring Microsoft’s Cortana to cars
BMW integrates Cortana to its dashboard (Photo: BMW/CES 2017)Remember Cortana? Microsoft’s smartass AI that has been guiding you on your Windows laptops and phones. Well, two of the biggest names in the automotive– Nissan and BMW are bringing Cortana to your car. While BMW plans to use Cortana for a personalised autonomous driving experience, Nissan plans to use the AI in a similar way while adding ‘google maps like’ features to it.
Kingston unveils 2TB flash drive
Kingston (Photo: Facebook)In this digital era, storage space is of great importance, specially when we’re dealing with the humongous quantity of data every day. To facilitate the process of data storage, Kingston launched world’s first flash drive with the storage space of 2TB at a pre-CES event. The USB drive is completely shock-proof and is compatible with Windows 7 and higher versions, Mac OS v10.9 and above, Linux v2.6 and above and Google Chrome.
Dell launches Alienware and other laptops
Dell laptops (Photo: Windows/CES 2017)If CES is too big an event, Dell made it even bigger by releasing a series of laptops. Apart from updating its Alienware series, Dell also updated its Canvas, XPS, Precision and UltraSharp series of laptops. The company also added WiTricity magnetic resonance wireless charging technology to its laptops to enable wireless charging in its laptops.
Blackberry launches Mercury
Blackberry Mercury (Photo: Facebook)TCL, the company that now manufactures smartphones for Blackberry showed-off a teaser of their rumoured smartphone– Mercury. The smartphone will feature a combination of Android-Blackberry keypad and will be launched at Mobile World Congress 2017.
Casio launches WSD-F20 smartwatch
Casio smartwatch (Photo: Facebook)
Japanese consumer electronic giant has updated its smartwatch WSD-F20. The smartwatch runs on Android Wear 2.0 and features GPS functionality and support for online and offline maps. WSD-F20 comes with a rugged look and can slip into the low-power monochrome mode for basic tasks like checking time. Though the prices haven’t been confirmed yet, the smartwatch will be hit the market in April this year.

1 Love

"Dekho Guzar Gaye Ramzan Haa chal Diyen Ramzan Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙 Pyare Nabi Ki Ummaton Kitni Rehmat waale thy Ramzan Kitni Barakat waale Thy Ramzan De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙 #EiD_MUBARAK "

Dekho Guzar Gaye Ramzan
Haa chal Diyen Ramzan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
Pyare Nabi Ki Ummaton
Kitni Rehmat waale thy Ramzan
Kitni Barakat waale Thy Ramzan
De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan 
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
#EiD_MUBARAK

Dekho Guzar Gaye Ramzan
Haa chal Diyen Ramzan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
Pyare Nabi Ki Ummaton
Kitni Rehmat waale thy Ramzan
Kitni Barakat waale Thy Ramzan
De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
#eid_mubarak

3 Love

"दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।। जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था। मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था। वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।। वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में। और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।। हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी। कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।। दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था। न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।। जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था। और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।। महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना। जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था। वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।। दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। "

दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।।
जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था।
मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था।
वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।।
वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में।
और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।।
हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी।
कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था।
न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।।
जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था।
और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।।
महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना।
जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था।
वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।

दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।।
जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था।
मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था।
वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।।
वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में।
और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।।
हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी।
कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था।
न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।।
जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था।
और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।।
महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना।
जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था।
वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।

9 Love

"इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम। #kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ। कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं। सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था। तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते। कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा। चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था। तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती। दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा। ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा। ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ। Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया। किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो। जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा। तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती। Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे? तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी। Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................। मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें। Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल। बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा। मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से । जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। पर mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा। मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया। ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह। बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं। ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था। नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं। तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया। और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी। उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे। और मैं sir को कहता ये सच हैं। खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर, मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी। तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की। उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।"

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की।

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा।
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था।
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं।
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।
@Satyaprem @Nojoto @Love Prashar @Dalchand @Anushka Verma

52 Love

It was at the fall of a dusk that we - him and I, just the two of us, decided to go on a dinner. It was a date, long awaited and long due. He somehow, never seemed to have had enough time for it. But that evening was special for many reasons...and so we resolved to make it even more special for us two.I planned everything. I am the one who does it everytime, though how I wish one day he takes the turn and the table turns...Anyway, I made an elaborate one this time, starting with a long drive and ending on a lavish leisurely dinner served in the most romantic setting of a rooftop restaurant with the soft live music, poolside table under the starry skies. I wanted him to make up for all nights he keeps me awake and all days he drives me mad. This was the first of its kind. I chose the best black dress I had and carefully curled my tresses, I had to appear complementary after all. To confess, it made me a little jittery and nervous. He as always, looked disarming, dressed in his black tuxedo, his lustrous hair combed back neatly, his face radiant, he smiled at me and made me skip a beat with it. That's the power of true love I guess, even though I live with him in the same room and see him each day, he still makes my heart go fonder with every passing moment.
As soon as he saw me, he reached for my hand. And we went on.
At the restaurant, we acquired our reserved table, he seemed quite impressed and so did everyone who saw him. He shot a quick glance to the receptionist first and I could see she was taken by it. He then marveled at the roses kept in the centre and calming blue shade of the pool, he threw an easy relaxed look at the ambience and met each eye with a soft smile. When our order arrived, he darted at the table pleasingly as I served the little morsel in his plate,but he insisted we eat from the one plate instead. I agreed gladly. Amidst our long relaxed talks, he savoured the flavour of every delicacy, especially the Au Gratin, he just loves it. He relished every bite . The chocolate trifle was the best serve of the evening.
We then took to the dance floor and everyone present cheered for us. Not to mention, we made the best couple. But then after a little while, a young lady who has been observing us from quite sometime now finally walked towards us and asked me boldly, if she can have one dance with him. He was awestruck. I oblidged. What else I could have done there! They looked, greeted, smiled, held each other and started to move their toes to the rhythm. She was clearly smitten by his handsome persona and moves. I stood there watching the two, little brooding and applauding at the same time. As the music stopped, everyone stood up clapping at their power-packed performance. She excitedly hugged him tight and said it was the best dance of her life. He responded back warmly. I stood there as a spectator seeing my brute spill his charm on the young beautiful woman.
She came forward to exchange few last pleasantries with me and exclaimed excitedly, how fortunate I was to have him. I looked at him with sheer sense of vanity and pride, as he stood quietly next to me. I wrapped up the conversation with a courteous 'Thank you' in response to her compliment. She waved him goodbye, as we stepped in the elevator.

Finally, my first dinner date with my little infant son accomplished with a memory to savour for a lifetime.

©Vania Singh
ShakesSphere

#TeenyMeenyTales
#worldstorytellingday

1 Love

All you need to know about the cool gadgets launched at CES 2017
Consumer Electronics Show (CES) 2017 began with a bang on January 5, 2017, in Las Vegas. The tech fair featured an exuberant display of technology and witnessed big brands like Google and BMW coming together for the creation of future technology.While the participating brands including tech companies like Dell, Lenovo and HP displayed some really cool laptops, organisations like Google and BMW went high on Artificial Intelligence.
In case you missed out on the developments, check out the updates here:

Lenovo launches series of gaming laptops Lenovo Legion (Photo: Lenovo/CES 2017)
CES 2017 witnessed Lenovo launching a new series of gaming laptops– Legion. Lenovo Legion Y720 features the latest range of Intel Core processors with discrete graphics and super fast hybrid storage space and an Xbox One Wireless Controller support. The company also launched Yoga Book, which runs on a custom version of Android operating system. Yoga Book also features an innovative Halo keyboard, which appears when you need it and vanishes when you don’t.
LG unveils a super-slim television
LG unveils TV (Photo: LG/CES 2017)Korean consumer electronics giant unveiled a super-slim television at CES 2017. The smart-TV is a mere 2.57mm thick and features an OLED panel with nano-cell technology. The company would start shipping the TV, that looks like a poster on the wall, from March 2017.
Samsung shows off Odyssey notebook system
Samsung Odyssey (Photo: Windows/CES 2017)The year 2016 was a year of epic bloopers for Korean electronic giant Samsung. However, the company has a number of devices lined up in 2017 to make a stellar comeback. Starting the year with a bang, the company showed off its latest notebook– Odyssey at the CES in LA. The laptop is power-packed with a number of features including the 7th generation Intel core i7 processor with a wide-view angle display, a 1TB HDD, Dual SSD + HDD and Triple storage space. The company also updated its Notebook 9 series laptop adding an increased battery life, Windows 10, 7th generation Intel Core i7 Processor to it. The company also announced Chromebook and Chromebook Plus, that offer 360-degree rotating touchscreen.
HP launches world’s slimmest convertible
HP Spectre (Photo: HP Spectre/CES 2017)Ahead of CES 2017, US tech giant Hewlett-Packard (HP) unveiled the world’s thinnest convertible laptop. EliteBook x360 promises the longest ever battery life of over 16 hours. The laptop is protected by a coating of Corning Gorilla Glass and is powered by the seventh-generation Intel core i7 processor. The company also unveiled EliteBook x360, which features ultra-high display, 16GB DDR4 RAM and Windows Hello support.
Qualcomm display the all-mighty Snapdragon 835 processor
Snapdragon 835 (Photo: Qualcomm/CES 2017)While CES is all about the big brands bragging their peerless technological advancements, it’s the core products like the processors, VR and graphics that draw maximum attention. In this cases, the show-stealer was Qualcomm that unveiled its all-mighty processor Snapdragon 835 at CES 2017. The company is launching the processor in conjunction with the Power Rangers VR gear.
Nissan and BMW bring Microsoft’s Cortana to cars
BMW integrates Cortana to its dashboard (Photo: BMW/CES 2017)Remember Cortana? Microsoft’s smartass AI that has been guiding you on your Windows laptops and phones. Well, two of the biggest names in the automotive– Nissan and BMW are bringing Cortana to your car. While BMW plans to use Cortana for a personalised autonomous driving experience, Nissan plans to use the AI in a similar way while adding ‘google maps like’ features to it.
Kingston unveils 2TB flash drive
Kingston (Photo: Facebook)In this digital era, storage space is of great importance, specially when we’re dealing with the humongous quantity of data every day. To facilitate the process of data storage, Kingston launched world’s first flash drive with the storage space of 2TB at a pre-CES event. The USB drive is completely shock-proof and is compatible with Windows 7 and higher versions, Mac OS v10.9 and above, Linux v2.6 and above and Google Chrome.
Dell launches Alienware and other laptops
Dell laptops (Photo: Windows/CES 2017)If CES is too big an event, Dell made it even bigger by releasing a series of laptops. Apart from updating its Alienware series, Dell also updated its Canvas, XPS, Precision and UltraSharp series of laptops. The company also added WiTricity magnetic resonance wireless charging technology to its laptops to enable wireless charging in its laptops.
Blackberry launches Mercury
Blackberry Mercury (Photo: Facebook)TCL, the company that now manufactures smartphones for Blackberry showed-off a teaser of their rumoured smartphone– Mercury. The smartphone will feature a combination of Android-Blackberry keypad and will be launched at Mobile World Congress 2017.
Casio launches WSD-F20 smartwatch
Casio smartwatch (Photo: Facebook)
Japanese consumer electronic giant has updated its smartwatch WSD-F20. The smartwatch runs on Android Wear 2.0 and features GPS functionality and support for online and offline maps. WSD-F20 comes with a rugged look and can slip into the low-power monochrome mode for basic tasks like checking time. Though the prices haven’t been confirmed yet, the smartwatch will be hit the market in April this year.

1 Love

"Dekho Guzar Gaye Ramzan Haa chal Diyen Ramzan Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙 Pyare Nabi Ki Ummaton Kitni Rehmat waale thy Ramzan Kitni Barakat waale Thy Ramzan De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙 #EiD_MUBARAK "

Dekho Guzar Gaye Ramzan
Haa chal Diyen Ramzan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
Pyare Nabi Ki Ummaton
Kitni Rehmat waale thy Ramzan
Kitni Barakat waale Thy Ramzan
De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan 
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
#EiD_MUBARAK

Dekho Guzar Gaye Ramzan
Haa chal Diyen Ramzan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
Pyare Nabi Ki Ummaton
Kitni Rehmat waale thy Ramzan
Kitni Barakat waale Thy Ramzan
De Rhe Thy Hum Sab Usko Imtihaan
Alvida Ramzan,Alvida Ramzan🌙
#eid_mubarak

3 Love

"दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।। जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था। मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था। वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।। वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में। और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।। हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी। कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।। दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था। न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।। जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था। और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।। महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना। जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था। वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।। दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में। जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।। "

दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।।
जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था।
मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था।
वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।।
वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में।
और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।।
हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी।
कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था।
न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।।
जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था।
और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।।
महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना।
जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था।
वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।

दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ तेरी एक छोटी सी मुस्कान, मेरी पूरी दुनिया समेठा करती थी।।
जहाँ मैं रोज़ छुप छुप के, तुझे जी भर कर देखा करता था।
मैं तुझसे हर रोज़ बात करने के नये नये बहाने ढूंढा करता था।
वेबजह वेमतलब तुझसे लाखो सवाल पूछा करता था।।
वो एक अलग ही बात थी उन दिनों में।
और हो भी क्यों न, मेरी ज़िंदगी मेरी मोहब्बत जो मेरे साथ थी उन दिनों में।।
हाय क़यामत तो जब हुआ करती थी, जब तू बालो को झटकती थी।
कमबख्त तुझे खबर भी नहीं, तेरी हर अदा पर मेरी साँसें अटकती थी।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।
जहाँ मैं जानबूझकर तुझे चिढ़ाया करता था।
न जाने कहाँ कहाँ से बहाने ढूंढकर तुझे हसाया करता था।।
जहाँ मैं तेरे लिए महज एक दोस्त था।
और जहाँ तू मेरे लिए मेरी ज़िंदगी से बढ़कर थी।।
महसूस कर कैसे जीता होंगा अब तेरे बिन, तुझे देखे बिना, तुझसे बात किये बिना।
जहाँ तेरे एक दिन collage न आने पर सब कुछ बीरान स लगता था।
वो class, वो मंत्री की canteen सब कुछ समसान लगता था।।
दिल करता है, लौट जाऊं वापस उसही जमाने में।
जहाँ तू ठीक मेरे पास,मेरे सामने वाली table पर बैठा करती थी।।

9 Love

"इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम। #kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ। कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं। सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था। तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते। कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा। चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था। तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती। दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा। ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा। ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ। Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया। किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो। जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा। तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती। Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे? तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी। Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................। मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें। Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल। बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा। मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से । जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। पर mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा। मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया। ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह। बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं। ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था। नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं। तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया। और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी। उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे। और मैं sir को कहता ये सच हैं। खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर, मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी। तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की। उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।"

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की।

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा।
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था।
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं।
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।
@Satyaprem @Nojoto @Love Prashar @Dalchand @Anushka Verma

52 Love

It was at the fall of a dusk that we - him and I, just the two of us, decided to go on a dinner. It was a date, long awaited and long due. He somehow, never seemed to have had enough time for it. But that evening was special for many reasons...and so we resolved to make it even more special for us two.I planned everything. I am the one who does it everytime, though how I wish one day he takes the turn and the table turns...Anyway, I made an elaborate one this time, starting with a long drive and ending on a lavish leisurely dinner served in the most romantic setting of a rooftop restaurant with the soft live music, poolside table under the starry skies. I wanted him to make up for all nights he keeps me awake and all days he drives me mad. This was the first of its kind. I chose the best black dress I had and carefully curled my tresses, I had to appear complementary after all. To confess, it made me a little jittery and nervous. He as always, looked disarming, dressed in his black tuxedo, his lustrous hair combed back neatly, his face radiant, he smiled at me and made me skip a beat with it. That's the power of true love I guess, even though I live with him in the same room and see him each day, he still makes my heart go fonder with every passing moment.
As soon as he saw me, he reached for my hand. And we went on.
At the restaurant, we acquired our reserved table, he seemed quite impressed and so did everyone who saw him. He shot a quick glance to the receptionist first and I could see she was taken by it. He then marveled at the roses kept in the centre and calming blue shade of the pool, he threw an easy relaxed look at the ambience and met each eye with a soft smile. When our order arrived, he darted at the table pleasingly as I served the little morsel in his plate,but he insisted we eat from the one plate instead. I agreed gladly. Amidst our long relaxed talks, he savoured the flavour of every delicacy, especially the Au Gratin, he just loves it. He relished every bite . The chocolate trifle was the best serve of the evening.
We then took to the dance floor and everyone present cheered for us. Not to mention, we made the best couple. But then after a little while, a young lady who has been observing us from quite sometime now finally walked towards us and asked me boldly, if she can have one dance with him. He was awestruck. I oblidged. What else I could have done there! They looked, greeted, smiled, held each other and started to move their toes to the rhythm. She was clearly smitten by his handsome persona and moves. I stood there watching the two, little brooding and applauding at the same time. As the music stopped, everyone stood up clapping at their power-packed performance. She excitedly hugged him tight and said it was the best dance of her life. He responded back warmly. I stood there as a spectator seeing my brute spill his charm on the young beautiful woman.
She came forward to exchange few last pleasantries with me and exclaimed excitedly, how fortunate I was to have him. I looked at him with sheer sense of vanity and pride, as he stood quietly next to me. I wrapped up the conversation with a courteous 'Thank you' in response to her compliment. She waved him goodbye, as we stepped in the elevator.

Finally, my first dinner date with my little infant son accomplished with a memory to savour for a lifetime.

©Vania Singh
ShakesSphere

#TeenyMeenyTales
#worldstorytellingday

1 Love