tags

hd9. in 2017 Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Best hd9. in 2017 Shayari, Status, Quotes, Stories & Poem.

  • Latest Stories

All you need to know about the cool gadgets launched at CES 2017
Consumer Electronics Show (CES) 2017 began with a bang on January 5, 2017, in Las Vegas. The tech fair featured an exuberant display of technology and witnessed big brands like Google and BMW coming together for the creation of future technology.While the participating brands including tech companies like Dell, Lenovo and HP displayed some really cool laptops, organisations like Google and BMW went high on Artificial Intelligence.
In case you missed out on the developments, check out the updates here:

Lenovo launches series of gaming laptops Lenovo Legion (Photo: Lenovo/CES 2017)
CES 2017 witnessed Lenovo launching a new series of gaming laptops– Legion. Lenovo Legion Y720 features the latest range of Intel Core processors with discrete graphics and super fast hybrid storage space and an Xbox One Wireless Controller support. The company also launched Yoga Book, which runs on a custom version of Android operating system. Yoga Book also features an innovative Halo keyboard, which appears when you need it and vanishes when you don’t.
LG unveils a super-slim television
LG unveils TV (Photo: LG/CES 2017)Korean consumer electronics giant unveiled a super-slim television at CES 2017. The smart-TV is a mere 2.57mm thick and features an OLED panel with nano-cell technology. The company would start shipping the TV, that looks like a poster on the wall, from March 2017.
Samsung shows off Odyssey notebook system
Samsung Odyssey (Photo: Windows/CES 2017)The year 2016 was a year of epic bloopers for Korean electronic giant Samsung. However, the company has a number of devices lined up in 2017 to make a stellar comeback. Starting the year with a bang, the company showed off its latest notebook– Odyssey at the CES in LA. The laptop is power-packed with a number of features including the 7th generation Intel core i7 processor with a wide-view angle display, a 1TB HDD, Dual SSD + HDD and Triple storage space. The company also updated its Notebook 9 series laptop adding an increased battery life, Windows 10, 7th generation Intel Core i7 Processor to it. The company also announced Chromebook and Chromebook Plus, that offer 360-degree rotating touchscreen.
HP launches world’s slimmest convertible
HP Spectre (Photo: HP Spectre/CES 2017)Ahead of CES 2017, US tech giant Hewlett-Packard (HP) unveiled the world’s thinnest convertible laptop. EliteBook x360 promises the longest ever battery life of over 16 hours. The laptop is protected by a coating of Corning Gorilla Glass and is powered by the seventh-generation Intel core i7 processor. The company also unveiled EliteBook x360, which features ultra-high display, 16GB DDR4 RAM and Windows Hello support.
Qualcomm display the all-mighty Snapdragon 835 processor
Snapdragon 835 (Photo: Qualcomm/CES 2017)While CES is all about the big brands bragging their peerless technological advancements, it’s the core products like the processors, VR and graphics that draw maximum attention. In this cases, the show-stealer was Qualcomm that unveiled its all-mighty processor Snapdragon 835 at CES 2017. The company is launching the processor in conjunction with the Power Rangers VR gear.
Nissan and BMW bring Microsoft’s Cortana to cars
BMW integrates Cortana to its dashboard (Photo: BMW/CES 2017)Remember Cortana? Microsoft’s smartass AI that has been guiding you on your Windows laptops and phones. Well, two of the biggest names in the automotive– Nissan and BMW are bringing Cortana to your car. While BMW plans to use Cortana for a personalised autonomous driving experience, Nissan plans to use the AI in a similar way while adding ‘google maps like’ features to it.
Kingston unveils 2TB flash drive
Kingston (Photo: Facebook)In this digital era, storage space is of great importance, specially when we’re dealing with the humongous quantity of data every day. To facilitate the process of data storage, Kingston launched world’s first flash drive with the storage space of 2TB at a pre-CES event. The USB drive is completely shock-proof and is compatible with Windows 7 and higher versions, Mac OS v10.9 and above, Linux v2.6 and above and Google Chrome.
Dell launches Alienware and other laptops
Dell laptops (Photo: Windows/CES 2017)If CES is too big an event, Dell made it even bigger by releasing a series of laptops. Apart from updating its Alienware series, Dell also updated its Canvas, XPS, Precision and UltraSharp series of laptops. The company also added WiTricity magnetic resonance wireless charging technology to its laptops to enable wireless charging in its laptops.
Blackberry launches Mercury
Blackberry Mercury (Photo: Facebook)TCL, the company that now manufactures smartphones for Blackberry showed-off a teaser of their rumoured smartphone– Mercury. The smartphone will feature a combination of Android-Blackberry keypad and will be launched at Mobile World Congress 2017.
Casio launches WSD-F20 smartwatch
Casio smartwatch (Photo: Facebook)
Japanese consumer electronic giant has updated its smartwatch WSD-F20. The smartwatch runs on Android Wear 2.0 and features GPS functionality and support for online and offline maps. WSD-F20 comes with a rugged look and can slip into the low-power monochrome mode for basic tasks like checking time. Though the prices haven’t been confirmed yet, the smartwatch will be hit the market in April this year.

1 Love
इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की।

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा।
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था।
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं।
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।
@Satyaprem @Nojoto @Love Prashar @Dalchand @Anushka Verma

52 Love

China to send 30 missions into space in 2017
China plans to conduct some 30 space launch missions in 2017, a record-breaking number in the country's space history, a media report said.
According to the China Aerospace Science and Technology Corporation, Long March-5and Long March-7 rockets will be used to carry out most of the space missions this year, the People’s Daily reported on Wednesday.Long March-5 is China’s largest carrier rocket. The successful test launch of the vehicle in November in South China’s Hainan Province will pave the way for space station construction, analysts said.Wang Yu, general director of the Long March-5 program, said 2017 is a critical year for China’s new generation of carrier rockets and the Long March-5 rockets will carry Chang’e-5 probe to the space. The probe will land on the moon, collect samples and return to Earth.On the other hand, Long March-7, the more powerful version of Long March-2, will send China’s first cargo spacecraft Tianzhou-1 into the space in the first half of 2017, according to Wang Zhaoyao, director of China Manned Space Engineering Office.
Tianzhou-1 is expected to dock with Tiangong-2 space lab and conduct experiments on propellant supplement.China conducted 22 launch missions in 2016 and 19 in 2015. The country successfully tested its Long March-7 rocket in June last year and has gradually shifted to new generation rockets that reduce the use of toxic rocket fuels.Last Month, China released a white paper on space activities, announcing plans to soft land Chang’e-5 on the moon by the end of 2017 and launch its first Mars probe by 2020.

1 Love

This philosopher 'predicted' what would happen in 2017


He was right about Trump and Modi. Will he be right about 2017?
Mention the name Nostradamus and some people will say that he predicted almost the entire history of humankind. Two of his 'predictions' seem to have come true with the victory of Donald Trump and the rise of Narendra Modi.
He 'predicted' the rise of "the great shameless, audacious bawler". Some people have interpreted this as being about Trump.
His prophecies written in four line verses called quatrains and in different languages have been open to study and interpretation for years now.
Here are some verses from his work that could very well be about what we can expect in 2017.



1. Floods and droughts

For forty years the rainbow will not be seen.

For forty years it will be seen every day.

The dry earth will grow more parched,

and there will be great floods when it is seen.

Possible Meaning:
Nostradamus could very well be talking about climate change which has been a big issue for years now. Will climate change reach fever pitch in 2017?


2. A battle during the sunset
Shortly before sun set, battle is engaged.

A great nation is uncertain.

Overcome, the sea port makes no answer,

the bridge and the grave both in foreign places.

Possible Meaning:

Could this be about the attack on Mosul where Daesh is on the run?



3. A time of peace prosperity

Pestilences extinguished, the world becomes smaller,

for a long time the lands will be inhabited peacefully.

People will travel safely through the sky (over) land and seas:

then wars will start up again.

Possible Meaning:

It would be great if there were no conflicts for a while. But the question is could we maintain the peace? Or would wars start again as is stated in the last verse of the quatrain.



4. A controversy in a royal family
Letters are found in the queen's chests,

no signature and no name of the author.

The ruse will conceal the offers;

so that they do not know who the lover is.

Possible Meaning:

Which country is it? With so much talk about the British monarchy in the past year, could it be about the Queen?


5. The waning power of the West
Twice put up and twice cast down,

the East will also weaken the West.

Its adversary after several battles

chased by sea will fail at time of need.

Possible Meaning:

In recent news, China and Russia have been on the rise. The United States will aim to focus on internal matters once Trump comes to power. The property mogul has time and again said that, with the help of his fellow Americans, he will "Make America great again". Could this affect the United States' power equation with countries in the Far East?

4 Love
Here is the critical appreciation of my poem "SOMETHING I LOOK AT-43" by non-other than the eminent poet and internationally acclaimed literally critic Prof Cijo Joseph Chennelil.  
Thanks and gratitude sir for your brilliant interpretation of the poem

Dear Smruti Ranjaniji,

Something I Look At-43" is a poem that narrates about a world which is in the whirlpool of tensions, worries and concerns from one end to the next. The poem commences with an optimistic note wherein this world is described as a world of pure joy and happiness, the human beings in this world enjoy life in an overwhelming manner day in and day out. This world is also suffused with many amenities and facilities and we all live in the comfort zones of this world. This world also can be termed as a paradise because of the comfort level, people come across this world. But the rosy picture of this world is countered by a reality check regarding the real status of this world in relation to values, ideologies and other concepts. Today the world witnesses a situation wherein peace is destroyed, war is taken to the forefront, the conflicts are resolved through yet another conflict and life is put through the quagmire of the highest magnitude. Today we are also engaged in clandestine wars to set scores. Our society is divided into thousands upon thousands of divisions where different stakeholders clash with malicious intentions. Today our society is also immersed in bigoted belief systems, discriminations and inconsistencies. Fundamentalistic ideologies do dot our landscape in an enormous way. Today the world is ripped apart by social, political, religious, economic, moral, ethical and environmental ambiguities. The cultured nature of human society is gone with the winds once and forever. The different modes of terrorism weigh down upon the humanity in different ways which can only give our society a billion cuts. The treatment that we accord to our old parents is horrendous and appalling, they are often locked up in the open prisons of their old age homes, they are not given the dues they richly deserve in their lives. These old people always encounter isolation and alienation in the society due to their ages. To make matters worse, we are even ready to forgo the perpetuation of the next generation, we don't yearn for the next generation solely because we want to protect our comfort level intact, yes by doing such a thing, we place an axe at our own roots. We live like machines in this world, our life is always primed by the virtual realities here on this earth. We also condone injustices and inequalities in this world through our silent capitulation to such trends and tendencies taking place in the society. In order to enjoy life here on earth, we should have a mindset of positive attitude and open mentality, but unfortunately, many of us don't have such quality oriented hearts. Kudos to you for composing such a poem of magnificent and forthright nature. 

Written by Cijo Joseph Channel Associate Professor Kristu Jyoti College of Management and Technology Chethipuzha Changanassary Kottayam District Kerala India All Copyrights Reserved@ On 9th July 2017.

SOMETHING I LOOK AT-43
BY-SMRUTI RANJAN MOHANTY

This world
so beautiful to live in
with all the comforts
luxuries and amenities
life seems so fascinating
nothing short of a paradise 

But where is happiness, peace 
that throbbing heart
loving eyes and silent tranquil mind
be it in a war or proxy war
and its aftermath
be it in our devastated social life
be it in the fanaticism of religious zealots
be it in a world divided on racial
linguistic and parochial loyalties
be it in the uncivilised and
the barbarian attitude of civilized man
be it in terrorism or in our sick mind
and raped conscience
it is humanity that silently suffers

Where is the face of humanity with
the relationship at the  lowest ebb
old parents struggling for their death
in asylums, old age homes
in their deserted lonely confinement
with no near one to look after
,
Too much of obsession with career
so-called better life
and the lure of comforts made us inhuman
to the extent, we hesitate to
recognise our own blood
and one will think thrice
before begetting a child of his own

We are more evident 
in our spineless attitude towards injustice
and the way we look at these
we are more like machines
devoid of all that is finer
having no time for other
love and reciprocation

Where is life and its beauty
to conceive it
one has to have a heart
that truly beats 
sadly many of us do not have it

copyright@smrutiranjan 28.5.2017

#here is the critical appreciation of my poem "SOMETHING I LOOK AT-43" by non-other than the eminent poet and internationally acclaimed literally critic Prof Cijo Joseph Chennelil.
Thanks and gratitude sir for your brilliant interpretation of the poem

Dear Smruti Ranjaniji,

Something I Look At-43" is a poem that narrates about a world which is in the whirlpool of tensions, worries and concerns from one end to the next. The poem commences with an optimistic note wherein this world is described as a world of pure joy and happiness, the human beings in this world enjoy life in an overwhelming manner day in and day out. This world is also suffused with many amenities and facilities and we all live in the comfort zones of this world. This world also can be termed as a paradise because of the comfort level, people come across this world. But the rosy picture of this world is countered by a reality check regarding the real status of this world in relation to values, ideologies and other concepts. Today the world witnesses a situation wherein peace is destroyed, war is taken to the forefront, the conflicts are resolved through yet another conflict and life is put through the quagmire of the highest magnitude. Today we are also engaged in clandestine wars to set scores. Our society is divided into thousands upon thousands of divisions where different stakeholders clash with malicious intentions. Today our society is also immersed in bigoted belief systems, discriminations and inconsistencies. Fundamentalistic ideologies do dot our landscape in an enormous way. Today the world is ripped apart by social, political, religious, economic, moral, ethical and environmental ambiguities. The cultured nature of human society is gone with the winds once and forever. The different modes of terrorism weigh down upon the humanity in different ways which can only give our society a billion cuts. The treatment that we accord to our old parents is horrendous and appalling, they are often locked up in the open prisons of their old age homes, they are not given the dues they richly deserve in their lives. These old people always encounter isolation and alienation in the society due to their ages. To make matters worse, we are even ready to forgo the perpetuation of the next generation, we don't yearn for the next generation solely because we want to protect our comfort level intact, yes by doing such a thing, we place an axe at our own roots. We live like machines in this world, our life is always primed by the virtual realities here on this earth. We also condone injustices and inequalities in this world through our silent capitulation to such trends and tendencies taking place in the society. In order to enjoy life here on earth, we should have a mindset of positive attitude and open mentality, but unfortunately, many of us don't have such quality oriented hearts. Kudos to you for composing such a poem of magnificent and forthright nature.

Written by Cijo Joseph Channel Associate Professor Kristu Jyoti College of Management and Technology Chethipuzha Changanassary Kottayam District Kerala India All Copyrights Reserved@ On 9th July 2017.

SOMETHING I LOOK AT-43
BY-SMRUTI RANJAN MOHANTY

This world
so beautiful to live in
with all the comforts
luxuries and amenities
life seems so fascinating
nothing short of a paradise

But where is happiness, peace
that throbbing heart
loving eyes and silent tranquil mind
be it in a war or proxy war
and its aftermath
be it in our devastated social life
be it in the fanaticism of religious zealots
be it in a world divided on racial
linguistic and parochial loyalties
be it in the uncivilised and
the barbarian attitude of civilized man
be it in terrorism or in our sick mind
and raped conscience
it is humanity that silently suffers

Where is the face of humanity with
the relationship at the lowest ebb
old parents struggling for their death
in asylums, old age homes
in their deserted lonely confinement
with no near one to look after
,
Too much of obsession with career
so-called better life
and the lure of comforts made us inhuman
to the extent, we hesitate to
recognise our own blood
and one will think thrice
before begetting a child of his own

We are more evident
in our spineless attitude towards injustice
and the way we look at these
we are more like machines
devoid of all that is finer
having no time for other
love and reciprocation

Where is life and its beauty
to conceive it
one has to have a heart
that truly beats
sadly many of us do not have it

copyright@smrutiranjan 28.5.2017

3 Love

All you need to know about the cool gadgets launched at CES 2017
Consumer Electronics Show (CES) 2017 began with a bang on January 5, 2017, in Las Vegas. The tech fair featured an exuberant display of technology and witnessed big brands like Google and BMW coming together for the creation of future technology.While the participating brands including tech companies like Dell, Lenovo and HP displayed some really cool laptops, organisations like Google and BMW went high on Artificial Intelligence.
In case you missed out on the developments, check out the updates here:

Lenovo launches series of gaming laptops Lenovo Legion (Photo: Lenovo/CES 2017)
CES 2017 witnessed Lenovo launching a new series of gaming laptops– Legion. Lenovo Legion Y720 features the latest range of Intel Core processors with discrete graphics and super fast hybrid storage space and an Xbox One Wireless Controller support. The company also launched Yoga Book, which runs on a custom version of Android operating system. Yoga Book also features an innovative Halo keyboard, which appears when you need it and vanishes when you don’t.
LG unveils a super-slim television
LG unveils TV (Photo: LG/CES 2017)Korean consumer electronics giant unveiled a super-slim television at CES 2017. The smart-TV is a mere 2.57mm thick and features an OLED panel with nano-cell technology. The company would start shipping the TV, that looks like a poster on the wall, from March 2017.
Samsung shows off Odyssey notebook system
Samsung Odyssey (Photo: Windows/CES 2017)The year 2016 was a year of epic bloopers for Korean electronic giant Samsung. However, the company has a number of devices lined up in 2017 to make a stellar comeback. Starting the year with a bang, the company showed off its latest notebook– Odyssey at the CES in LA. The laptop is power-packed with a number of features including the 7th generation Intel core i7 processor with a wide-view angle display, a 1TB HDD, Dual SSD + HDD and Triple storage space. The company also updated its Notebook 9 series laptop adding an increased battery life, Windows 10, 7th generation Intel Core i7 Processor to it. The company also announced Chromebook and Chromebook Plus, that offer 360-degree rotating touchscreen.
HP launches world’s slimmest convertible
HP Spectre (Photo: HP Spectre/CES 2017)Ahead of CES 2017, US tech giant Hewlett-Packard (HP) unveiled the world’s thinnest convertible laptop. EliteBook x360 promises the longest ever battery life of over 16 hours. The laptop is protected by a coating of Corning Gorilla Glass and is powered by the seventh-generation Intel core i7 processor. The company also unveiled EliteBook x360, which features ultra-high display, 16GB DDR4 RAM and Windows Hello support.
Qualcomm display the all-mighty Snapdragon 835 processor
Snapdragon 835 (Photo: Qualcomm/CES 2017)While CES is all about the big brands bragging their peerless technological advancements, it’s the core products like the processors, VR and graphics that draw maximum attention. In this cases, the show-stealer was Qualcomm that unveiled its all-mighty processor Snapdragon 835 at CES 2017. The company is launching the processor in conjunction with the Power Rangers VR gear.
Nissan and BMW bring Microsoft’s Cortana to cars
BMW integrates Cortana to its dashboard (Photo: BMW/CES 2017)Remember Cortana? Microsoft’s smartass AI that has been guiding you on your Windows laptops and phones. Well, two of the biggest names in the automotive– Nissan and BMW are bringing Cortana to your car. While BMW plans to use Cortana for a personalised autonomous driving experience, Nissan plans to use the AI in a similar way while adding ‘google maps like’ features to it.
Kingston unveils 2TB flash drive
Kingston (Photo: Facebook)In this digital era, storage space is of great importance, specially when we’re dealing with the humongous quantity of data every day. To facilitate the process of data storage, Kingston launched world’s first flash drive with the storage space of 2TB at a pre-CES event. The USB drive is completely shock-proof and is compatible with Windows 7 and higher versions, Mac OS v10.9 and above, Linux v2.6 and above and Google Chrome.
Dell launches Alienware and other laptops
Dell laptops (Photo: Windows/CES 2017)If CES is too big an event, Dell made it even bigger by releasing a series of laptops. Apart from updating its Alienware series, Dell also updated its Canvas, XPS, Precision and UltraSharp series of laptops. The company also added WiTricity magnetic resonance wireless charging technology to its laptops to enable wireless charging in its laptops.
Blackberry launches Mercury
Blackberry Mercury (Photo: Facebook)TCL, the company that now manufactures smartphones for Blackberry showed-off a teaser of their rumoured smartphone– Mercury. The smartphone will feature a combination of Android-Blackberry keypad and will be launched at Mobile World Congress 2017.
Casio launches WSD-F20 smartwatch
Casio smartwatch (Photo: Facebook)
Japanese consumer electronic giant has updated its smartwatch WSD-F20. The smartwatch runs on Android Wear 2.0 and features GPS functionality and support for online and offline maps. WSD-F20 comes with a rugged look and can slip into the low-power monochrome mode for basic tasks like checking time. Though the prices haven’t been confirmed yet, the smartwatch will be hit the market in April this year.

1 Love
इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की।

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा।
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था।
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं।
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।
@Satyaprem @Nojoto @Love Prashar @Dalchand @Anushka Verma

52 Love

China to send 30 missions into space in 2017
China plans to conduct some 30 space launch missions in 2017, a record-breaking number in the country's space history, a media report said.
According to the China Aerospace Science and Technology Corporation, Long March-5and Long March-7 rockets will be used to carry out most of the space missions this year, the People’s Daily reported on Wednesday.Long March-5 is China’s largest carrier rocket. The successful test launch of the vehicle in November in South China’s Hainan Province will pave the way for space station construction, analysts said.Wang Yu, general director of the Long March-5 program, said 2017 is a critical year for China’s new generation of carrier rockets and the Long March-5 rockets will carry Chang’e-5 probe to the space. The probe will land on the moon, collect samples and return to Earth.On the other hand, Long March-7, the more powerful version of Long March-2, will send China’s first cargo spacecraft Tianzhou-1 into the space in the first half of 2017, according to Wang Zhaoyao, director of China Manned Space Engineering Office.
Tianzhou-1 is expected to dock with Tiangong-2 space lab and conduct experiments on propellant supplement.China conducted 22 launch missions in 2016 and 19 in 2015. The country successfully tested its Long March-7 rocket in June last year and has gradually shifted to new generation rockets that reduce the use of toxic rocket fuels.Last Month, China released a white paper on space activities, announcing plans to soft land Chang’e-5 on the moon by the end of 2017 and launch its first Mars probe by 2020.

1 Love

This philosopher 'predicted' what would happen in 2017


He was right about Trump and Modi. Will he be right about 2017?
Mention the name Nostradamus and some people will say that he predicted almost the entire history of humankind. Two of his 'predictions' seem to have come true with the victory of Donald Trump and the rise of Narendra Modi.
He 'predicted' the rise of "the great shameless, audacious bawler". Some people have interpreted this as being about Trump.
His prophecies written in four line verses called quatrains and in different languages have been open to study and interpretation for years now.
Here are some verses from his work that could very well be about what we can expect in 2017.



1. Floods and droughts

For forty years the rainbow will not be seen.

For forty years it will be seen every day.

The dry earth will grow more parched,

and there will be great floods when it is seen.

Possible Meaning:
Nostradamus could very well be talking about climate change which has been a big issue for years now. Will climate change reach fever pitch in 2017?


2. A battle during the sunset
Shortly before sun set, battle is engaged.

A great nation is uncertain.

Overcome, the sea port makes no answer,

the bridge and the grave both in foreign places.

Possible Meaning:

Could this be about the attack on Mosul where Daesh is on the run?



3. A time of peace prosperity

Pestilences extinguished, the world becomes smaller,

for a long time the lands will be inhabited peacefully.

People will travel safely through the sky (over) land and seas:

then wars will start up again.

Possible Meaning:

It would be great if there were no conflicts for a while. But the question is could we maintain the peace? Or would wars start again as is stated in the last verse of the quatrain.



4. A controversy in a royal family
Letters are found in the queen's chests,

no signature and no name of the author.

The ruse will conceal the offers;

so that they do not know who the lover is.

Possible Meaning:

Which country is it? With so much talk about the British monarchy in the past year, could it be about the Queen?


5. The waning power of the West
Twice put up and twice cast down,

the East will also weaken the West.

Its adversary after several battles

chased by sea will fail at time of need.

Possible Meaning:

In recent news, China and Russia have been on the rise. The United States will aim to focus on internal matters once Trump comes to power. The property mogul has time and again said that, with the help of his fellow Americans, he will "Make America great again". Could this affect the United States' power equation with countries in the Far East?

4 Love
Here is the critical appreciation of my poem "SOMETHING I LOOK AT-43" by non-other than the eminent poet and internationally acclaimed literally critic Prof Cijo Joseph Chennelil.  
Thanks and gratitude sir for your brilliant interpretation of the poem

Dear Smruti Ranjaniji,

Something I Look At-43" is a poem that narrates about a world which is in the whirlpool of tensions, worries and concerns from one end to the next. The poem commences with an optimistic note wherein this world is described as a world of pure joy and happiness, the human beings in this world enjoy life in an overwhelming manner day in and day out. This world is also suffused with many amenities and facilities and we all live in the comfort zones of this world. This world also can be termed as a paradise because of the comfort level, people come across this world. But the rosy picture of this world is countered by a reality check regarding the real status of this world in relation to values, ideologies and other concepts. Today the world witnesses a situation wherein peace is destroyed, war is taken to the forefront, the conflicts are resolved through yet another conflict and life is put through the quagmire of the highest magnitude. Today we are also engaged in clandestine wars to set scores. Our society is divided into thousands upon thousands of divisions where different stakeholders clash with malicious intentions. Today our society is also immersed in bigoted belief systems, discriminations and inconsistencies. Fundamentalistic ideologies do dot our landscape in an enormous way. Today the world is ripped apart by social, political, religious, economic, moral, ethical and environmental ambiguities. The cultured nature of human society is gone with the winds once and forever. The different modes of terrorism weigh down upon the humanity in different ways which can only give our society a billion cuts. The treatment that we accord to our old parents is horrendous and appalling, they are often locked up in the open prisons of their old age homes, they are not given the dues they richly deserve in their lives. These old people always encounter isolation and alienation in the society due to their ages. To make matters worse, we are even ready to forgo the perpetuation of the next generation, we don't yearn for the next generation solely because we want to protect our comfort level intact, yes by doing such a thing, we place an axe at our own roots. We live like machines in this world, our life is always primed by the virtual realities here on this earth. We also condone injustices and inequalities in this world through our silent capitulation to such trends and tendencies taking place in the society. In order to enjoy life here on earth, we should have a mindset of positive attitude and open mentality, but unfortunately, many of us don't have such quality oriented hearts. Kudos to you for composing such a poem of magnificent and forthright nature. 

Written by Cijo Joseph Channel Associate Professor Kristu Jyoti College of Management and Technology Chethipuzha Changanassary Kottayam District Kerala India All Copyrights Reserved@ On 9th July 2017.

SOMETHING I LOOK AT-43
BY-SMRUTI RANJAN MOHANTY

This world
so beautiful to live in
with all the comforts
luxuries and amenities
life seems so fascinating
nothing short of a paradise 

But where is happiness, peace 
that throbbing heart
loving eyes and silent tranquil mind
be it in a war or proxy war
and its aftermath
be it in our devastated social life
be it in the fanaticism of religious zealots
be it in a world divided on racial
linguistic and parochial loyalties
be it in the uncivilised and
the barbarian attitude of civilized man
be it in terrorism or in our sick mind
and raped conscience
it is humanity that silently suffers

Where is the face of humanity with
the relationship at the  lowest ebb
old parents struggling for their death
in asylums, old age homes
in their deserted lonely confinement
with no near one to look after
,
Too much of obsession with career
so-called better life
and the lure of comforts made us inhuman
to the extent, we hesitate to
recognise our own blood
and one will think thrice
before begetting a child of his own

We are more evident 
in our spineless attitude towards injustice
and the way we look at these
we are more like machines
devoid of all that is finer
having no time for other
love and reciprocation

Where is life and its beauty
to conceive it
one has to have a heart
that truly beats 
sadly many of us do not have it

copyright@smrutiranjan 28.5.2017

#here is the critical appreciation of my poem "SOMETHING I LOOK AT-43" by non-other than the eminent poet and internationally acclaimed literally critic Prof Cijo Joseph Chennelil.
Thanks and gratitude sir for your brilliant interpretation of the poem

Dear Smruti Ranjaniji,

Something I Look At-43" is a poem that narrates about a world which is in the whirlpool of tensions, worries and concerns from one end to the next. The poem commences with an optimistic note wherein this world is described as a world of pure joy and happiness, the human beings in this world enjoy life in an overwhelming manner day in and day out. This world is also suffused with many amenities and facilities and we all live in the comfort zones of this world. This world also can be termed as a paradise because of the comfort level, people come across this world. But the rosy picture of this world is countered by a reality check regarding the real status of this world in relation to values, ideologies and other concepts. Today the world witnesses a situation wherein peace is destroyed, war is taken to the forefront, the conflicts are resolved through yet another conflict and life is put through the quagmire of the highest magnitude. Today we are also engaged in clandestine wars to set scores. Our society is divided into thousands upon thousands of divisions where different stakeholders clash with malicious intentions. Today our society is also immersed in bigoted belief systems, discriminations and inconsistencies. Fundamentalistic ideologies do dot our landscape in an enormous way. Today the world is ripped apart by social, political, religious, economic, moral, ethical and environmental ambiguities. The cultured nature of human society is gone with the winds once and forever. The different modes of terrorism weigh down upon the humanity in different ways which can only give our society a billion cuts. The treatment that we accord to our old parents is horrendous and appalling, they are often locked up in the open prisons of their old age homes, they are not given the dues they richly deserve in their lives. These old people always encounter isolation and alienation in the society due to their ages. To make matters worse, we are even ready to forgo the perpetuation of the next generation, we don't yearn for the next generation solely because we want to protect our comfort level intact, yes by doing such a thing, we place an axe at our own roots. We live like machines in this world, our life is always primed by the virtual realities here on this earth. We also condone injustices and inequalities in this world through our silent capitulation to such trends and tendencies taking place in the society. In order to enjoy life here on earth, we should have a mindset of positive attitude and open mentality, but unfortunately, many of us don't have such quality oriented hearts. Kudos to you for composing such a poem of magnificent and forthright nature.

Written by Cijo Joseph Channel Associate Professor Kristu Jyoti College of Management and Technology Chethipuzha Changanassary Kottayam District Kerala India All Copyrights Reserved@ On 9th July 2017.

SOMETHING I LOOK AT-43
BY-SMRUTI RANJAN MOHANTY

This world
so beautiful to live in
with all the comforts
luxuries and amenities
life seems so fascinating
nothing short of a paradise

But where is happiness, peace
that throbbing heart
loving eyes and silent tranquil mind
be it in a war or proxy war
and its aftermath
be it in our devastated social life
be it in the fanaticism of religious zealots
be it in a world divided on racial
linguistic and parochial loyalties
be it in the uncivilised and
the barbarian attitude of civilized man
be it in terrorism or in our sick mind
and raped conscience
it is humanity that silently suffers

Where is the face of humanity with
the relationship at the lowest ebb
old parents struggling for their death
in asylums, old age homes
in their deserted lonely confinement
with no near one to look after
,
Too much of obsession with career
so-called better life
and the lure of comforts made us inhuman
to the extent, we hesitate to
recognise our own blood
and one will think thrice
before begetting a child of his own

We are more evident
in our spineless attitude towards injustice
and the way we look at these
we are more like machines
devoid of all that is finer
having no time for other
love and reciprocation

Where is life and its beauty
to conceive it
one has to have a heart
that truly beats
sadly many of us do not have it

copyright@smrutiranjan 28.5.2017

3 Love