tags

comed mailing address Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Related Stories

address

  • Latest Stories

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

4 Love

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

5 Love

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

6 Love
ये कहानी आज से 15 साल पहले start हुई थे और 2016 में ये  कहानी कहलायी थी ।ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त की हैं ,नाम उसका अभिषेक हैं। 2003 में जब मैं 3rd  क्लास थे तब हमारी friendship हुई थी। हम एक दूसरे को best  friend  मानते थे। ना जाने कैसे दोस्ती थी  हमारी। एक साल तो साथ रहे, फिर उसका school change  हो गया । dost  थे याद तो फिर भी आती थी । 1,2 साल एक बाद उसकी बहन ने कहा अभिषेक आया हैं  तुम से मिलने , वो मुझे मिलने आया । मैं  गया उससे मिलने बिलकुल नहीं बदला था ,पहले की तरह अब भी सब से डरता था। 

साल पर साल बीत रहे थे ।मेरी 10th हो गयी । फिर मैंने facebook पर I'd बनाई ढूंढा उसे नहीं मिला । बस  ये पता था की वो स्कूल के सामने वाले रास्ते से आता था ,पर उस रास्ते  पर जाने की कभी  हिम्मत नहीं हुए ।12th  हो गए, graduations का first  year  complete  हुआ, फिर second  हुआ । final  year  में एक दोस्त बना जो था तो मेरा Junior था bt  मैंने  कभी उसे junior माना  नहीं ,क्योंकि वो उसे school से था जहाँ मैं पढ़ता  था।  उसने मुझे facebook  पर add  किया और teacher के कहने पर मेरे उसे अपना paper  craft  सीखा । पर वो ना  कमीनो  वाले काम कर  देता था। कॉलेज में तो सब को पता था की AJ के इलावा ऐसा  काम कोई नहीं कर सकता, पर वो अपने  choching center  पर सब  को बोलता  था ये design मैंने बनाया हैं -मैंने बनाया हैं ।  ये बात भी उसी  ने मुझे बताई  । कुछ time  बाद  facebook  पर एक बन्दा दिखा  , लग तो वो रहा था मेरा friend अभिषेक , पर address मुंबई का show  कर  रहा था ,मैं  सोच रहा था यार ऐसा  कैसे हो सकता हैं? मैंने  सोच अनमोल से बात कर लेते हैं । पर कलाकारी करने  से टाइम नहीं मिला । हर बार पूछना भूल  जाता था । sunday  का दिन था 11 बजे उसकी friend request  आई ।  ये वही था जिसका address मुम्बई  का show  हो रहा था । मैंने  तभी अनमोल को फ़ोन किया और अपनी सारी  स्टोरी उसे बताई।  उसने बात मुझे बताया । ये वही था मेरा दोस्त ......
तभी ऐसे ख़ुशी मिली यार क्या बताओ । अनमोल ने AB  को मेरा No. दिया और हमारी बात हूँ ,next  day  मै सुबह घर से जल्दी निकल लिया उसे मिलने और उसके कॉलेज चला गया । जाते ही  मैंने  call  किया वो आया मिलने । मैं  दूर 
से ही पहचान गया था।हम मिले और हमारी बात start हुए।  घंटों बात चलने की बाद उसके साथ अपने  कॉलेज आया और सब से उसे मिलाया , कुछ देर बार,मैं  अभिषेक के  साथ उसके घर गए।
उसने मुझे दिखाई हमारी  बचपन की photo ,उसका प्यार देख मैं भी
बच्चों वाली वाली हरकतें करने लगा।
इस तरह हम 14 साल बाद मिले और हमारी दोस्त आज भी क़ायम है।

इत्तु सी कहानी का पैगाम हमसें भी सुन लो यार।
#kalakakshOpneMicDay3 #Nojoto #Dosti #Quotes

ये कहानी आज से 15 साल पहले start हुई थे और 2016 में ये  कहानी कहलायी थी ।ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त की हैं ,नाम उसका अभिषेक हैं। 2003 में जब मैं 3rd  क्लास थे तब हमारी friendship हुई थी। हम एक दूसरे को best  friend  मानते थे। ना जाने कैसे दोस्ती थी  हमारी। एक साल तो साथ रहे, फिर उसका school change  हो गया । dost  थे याद तो फिर भी आती थी । 1,2 साल एक बाद उसकी बहन ने कहा अभिषेक आया हैं  तुम से मिलने , वो मुझे मिलने आया । मैं  गया उससे मिलने बिलकुल नहीं बदला था ,पहले की तरह अब भी सब से डरता था।

साल पर साल बीत रहे थे ।मेरी 10th हो गयी । फिर मैंने facebook पर I'd बनाई ढूंढा उसे नहीं मिला । बस  ये पता था की वो स्कूल के सामने वाले रास्ते से आता था ,पर उस रास्ते  पर जाने की कभी  हिम्मत नहीं हुए ।12th  हो गए, graduations का first  year  complete  हुआ, फिर second  हुआ । final  year  में एक दोस्त बना जो था तो मेरा Junior था bt  मैंने  कभी उसे junior माना  नहीं ,क्योंकि वो उसे school से था जहाँ मैं पढ़ता  था। उसने मुझे facebook  पर add  किया और teacher के कहने पर मेरे उसे अपना paper  craft  सीखा । पर वो ना  कमीनो  वाले काम कर  देता था। कॉलेज में तो सब को पता था की AJ के इलावा ऐसा  काम कोई नहीं कर सकता, पर वो अपने  choching center  पर सब  को बोलता  था ये design मैंने बनाया हैं -मैंने बनाया हैं । ये बात भी उसी  ने मुझे बताई  । कुछ time  बाद  facebook  पर एक बन्दा दिखा  , लग तो वो रहा था मेरा friend अभिषेक , पर address मुंबई का show  कर  रहा था ,मैं  सोच रहा था यार ऐसा  कैसे हो सकता हैं? मैंने  सोच अनमोल से बात कर लेते हैं । पर कलाकारी करने  से टाइम नहीं मिला । हर बार पूछना भूल  जाता था । sunday  का दिन था 11 बजे उसकी friend request  आई । ये वही था जिसका address मुम्बई  का show  हो रहा था । मैंने  तभी अनमोल को फ़ोन किया और अपनी सारी  स्टोरी उसे बताई। उसने बात मुझे बताया । ये वही था मेरा दोस्त ......
तभी ऐसे ख़ुशी मिली यार क्या बताओ । अनमोल ने AB  को मेरा No. दिया और हमारी बात हूँ ,next  day  मै सुबह घर से जल्दी निकल लिया उसे मिलने और उसके कॉलेज चला गया । जाते ही  मैंने  call  किया वो आया मिलने । मैं  दूर 
से ही पहचान गया था।हम मिले और हमारी बात start हुए। घंटों बात चलने की बाद उसके साथ अपने कॉलेज आया और सब से उसे मिलाया , कुछ देर बार,मैं अभिषेक के साथ उसके घर गए।
उसने मुझे दिखाई हमारी बचपन की photo ,उसका प्यार देख मैं भी
बच्चों वाली वाली हरकतें करने लगा।
इस तरह हम 14 साल बाद मिले और हमारी दोस्त आज भी क़ायम है।

50 Love
Address:
Moping on the road of aloneness,
when my eyes drop defeating tears,
why don't you come to console me? 
How can you remain so indignant for long?
Why can't you bury the hatchet?
Oh, my darling,
do come back,
do come back,
life has become drab without you.
Do come back and shade me beneath your long hair.
Your lap is my refuge, 
don't dethrone me,
else I will lose my address 
and become mad.

#address

2 Love

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

4 Love

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

5 Love

THE FUTURE
the future should be like
➡super fast trains
➡flying cars
➡robotes
THE STORY ON THIS IS ⬇HERE
Once there was 2 friends . There name was jayan and rahul. They both were playing hide and seek with there friends . They both was finding a place for hiding and fortunatinatly they found a house . Then they both entererd in that house . When they entered in that house . There were many things like washing machiens,fan and many more . It was very warm so they tried to on the fan ,so they tried to find the button and at that time rahul found a button ,so he preesd it . After 2-3 hours they comed out of the house .When they comed out of the house they seemed that the rough path at the outside of the house was changed into a plain road and there friends was not there ,Mostly cars were flying .when they seemed at they the cloak it was 12:30 and the year was 2071 .There was a robot who was running talking an old man . When they asked from other people ,1 man told that the old man was rahul's small brother .By the time rahul was aciedented with a car .After this rahul wakes up 😅😅😅😅😘😘😘😃😃😃😃

6 Love
ये कहानी आज से 15 साल पहले start हुई थे और 2016 में ये  कहानी कहलायी थी ।ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त की हैं ,नाम उसका अभिषेक हैं। 2003 में जब मैं 3rd  क्लास थे तब हमारी friendship हुई थी। हम एक दूसरे को best  friend  मानते थे। ना जाने कैसे दोस्ती थी  हमारी। एक साल तो साथ रहे, फिर उसका school change  हो गया । dost  थे याद तो फिर भी आती थी । 1,2 साल एक बाद उसकी बहन ने कहा अभिषेक आया हैं  तुम से मिलने , वो मुझे मिलने आया । मैं  गया उससे मिलने बिलकुल नहीं बदला था ,पहले की तरह अब भी सब से डरता था। 

साल पर साल बीत रहे थे ।मेरी 10th हो गयी । फिर मैंने facebook पर I'd बनाई ढूंढा उसे नहीं मिला । बस  ये पता था की वो स्कूल के सामने वाले रास्ते से आता था ,पर उस रास्ते  पर जाने की कभी  हिम्मत नहीं हुए ।12th  हो गए, graduations का first  year  complete  हुआ, फिर second  हुआ । final  year  में एक दोस्त बना जो था तो मेरा Junior था bt  मैंने  कभी उसे junior माना  नहीं ,क्योंकि वो उसे school से था जहाँ मैं पढ़ता  था।  उसने मुझे facebook  पर add  किया और teacher के कहने पर मेरे उसे अपना paper  craft  सीखा । पर वो ना  कमीनो  वाले काम कर  देता था। कॉलेज में तो सब को पता था की AJ के इलावा ऐसा  काम कोई नहीं कर सकता, पर वो अपने  choching center  पर सब  को बोलता  था ये design मैंने बनाया हैं -मैंने बनाया हैं ।  ये बात भी उसी  ने मुझे बताई  । कुछ time  बाद  facebook  पर एक बन्दा दिखा  , लग तो वो रहा था मेरा friend अभिषेक , पर address मुंबई का show  कर  रहा था ,मैं  सोच रहा था यार ऐसा  कैसे हो सकता हैं? मैंने  सोच अनमोल से बात कर लेते हैं । पर कलाकारी करने  से टाइम नहीं मिला । हर बार पूछना भूल  जाता था । sunday  का दिन था 11 बजे उसकी friend request  आई ।  ये वही था जिसका address मुम्बई  का show  हो रहा था । मैंने  तभी अनमोल को फ़ोन किया और अपनी सारी  स्टोरी उसे बताई।  उसने बात मुझे बताया । ये वही था मेरा दोस्त ......
तभी ऐसे ख़ुशी मिली यार क्या बताओ । अनमोल ने AB  को मेरा No. दिया और हमारी बात हूँ ,next  day  मै सुबह घर से जल्दी निकल लिया उसे मिलने और उसके कॉलेज चला गया । जाते ही  मैंने  call  किया वो आया मिलने । मैं  दूर 
से ही पहचान गया था।हम मिले और हमारी बात start हुए।  घंटों बात चलने की बाद उसके साथ अपने  कॉलेज आया और सब से उसे मिलाया , कुछ देर बार,मैं  अभिषेक के  साथ उसके घर गए।
उसने मुझे दिखाई हमारी  बचपन की photo ,उसका प्यार देख मैं भी
बच्चों वाली वाली हरकतें करने लगा।
इस तरह हम 14 साल बाद मिले और हमारी दोस्त आज भी क़ायम है।

इत्तु सी कहानी का पैगाम हमसें भी सुन लो यार।
#kalakakshOpneMicDay3 #Nojoto #Dosti #Quotes

ये कहानी आज से 15 साल पहले start हुई थे और 2016 में ये  कहानी कहलायी थी ।ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त की हैं ,नाम उसका अभिषेक हैं। 2003 में जब मैं 3rd  क्लास थे तब हमारी friendship हुई थी। हम एक दूसरे को best  friend  मानते थे। ना जाने कैसे दोस्ती थी  हमारी। एक साल तो साथ रहे, फिर उसका school change  हो गया । dost  थे याद तो फिर भी आती थी । 1,2 साल एक बाद उसकी बहन ने कहा अभिषेक आया हैं  तुम से मिलने , वो मुझे मिलने आया । मैं  गया उससे मिलने बिलकुल नहीं बदला था ,पहले की तरह अब भी सब से डरता था।

साल पर साल बीत रहे थे ।मेरी 10th हो गयी । फिर मैंने facebook पर I'd बनाई ढूंढा उसे नहीं मिला । बस  ये पता था की वो स्कूल के सामने वाले रास्ते से आता था ,पर उस रास्ते  पर जाने की कभी  हिम्मत नहीं हुए ।12th  हो गए, graduations का first  year  complete  हुआ, फिर second  हुआ । final  year  में एक दोस्त बना जो था तो मेरा Junior था bt  मैंने  कभी उसे junior माना  नहीं ,क्योंकि वो उसे school से था जहाँ मैं पढ़ता  था। उसने मुझे facebook  पर add  किया और teacher के कहने पर मेरे उसे अपना paper  craft  सीखा । पर वो ना  कमीनो  वाले काम कर  देता था। कॉलेज में तो सब को पता था की AJ के इलावा ऐसा  काम कोई नहीं कर सकता, पर वो अपने  choching center  पर सब  को बोलता  था ये design मैंने बनाया हैं -मैंने बनाया हैं । ये बात भी उसी  ने मुझे बताई  । कुछ time  बाद  facebook  पर एक बन्दा दिखा  , लग तो वो रहा था मेरा friend अभिषेक , पर address मुंबई का show  कर  रहा था ,मैं  सोच रहा था यार ऐसा  कैसे हो सकता हैं? मैंने  सोच अनमोल से बात कर लेते हैं । पर कलाकारी करने  से टाइम नहीं मिला । हर बार पूछना भूल  जाता था । sunday  का दिन था 11 बजे उसकी friend request  आई । ये वही था जिसका address मुम्बई  का show  हो रहा था । मैंने  तभी अनमोल को फ़ोन किया और अपनी सारी  स्टोरी उसे बताई। उसने बात मुझे बताया । ये वही था मेरा दोस्त ......
तभी ऐसे ख़ुशी मिली यार क्या बताओ । अनमोल ने AB  को मेरा No. दिया और हमारी बात हूँ ,next  day  मै सुबह घर से जल्दी निकल लिया उसे मिलने और उसके कॉलेज चला गया । जाते ही  मैंने  call  किया वो आया मिलने । मैं  दूर 
से ही पहचान गया था।हम मिले और हमारी बात start हुए। घंटों बात चलने की बाद उसके साथ अपने कॉलेज आया और सब से उसे मिलाया , कुछ देर बार,मैं अभिषेक के साथ उसके घर गए।
उसने मुझे दिखाई हमारी बचपन की photo ,उसका प्यार देख मैं भी
बच्चों वाली वाली हरकतें करने लगा।
इस तरह हम 14 साल बाद मिले और हमारी दोस्त आज भी क़ायम है।

50 Love
Address:
Moping on the road of aloneness,
when my eyes drop defeating tears,
why don't you come to console me? 
How can you remain so indignant for long?
Why can't you bury the hatchet?
Oh, my darling,
do come back,
do come back,
life has become drab without you.
Do come back and shade me beneath your long hair.
Your lap is my refuge, 
don't dethrone me,
else I will lose my address 
and become mad.

#address

2 Love