tags

New result bharat Status, Photo, Video

Find the latest Status about result bharat from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • Latest Stories

"इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम। #kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ। कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं। सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था। तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते। कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा। चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था। तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती। दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा। ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा। ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ। Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया। किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो। जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा। तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती। Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे? तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी। Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................। मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें। Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल। बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा। मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से । जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। पर mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा। मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया। ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह। बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं। ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था। नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं। तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया। और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी। उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे। और मैं sir को कहता ये सच हैं। खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर, मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी। तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की। उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।"

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।

53 Love

"Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun a Gai sadkon per Dekho bahan betiya Tum barsa rahe ho UN per kyon lakhiya lathiya apnon hi ke khoon Se aaj mein daag daag Hoon Tu dekh Hamari himmat ko Tu dekh Hamari takat ko Tu dekh hamare jajbe ko today Hamari chahat ko dekh main Shahid Dekho main shahibag hunyah Chand nikla Suraj nikla har ek din Gin Gin Ke nikala Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main sahiba hun yahan bole Hain Ki Ham bacche Hain yah man Hamari bahane Hain Bharat Ki shaan bachane ko Bharat ki laaj bachane ko yah khule aasman Ki chadar mein Sab Thane mein baithe Hain Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main shahibag hun goli maro lathi maro yah gundo se pitwa ho tum yad rakho yad rakho Hamari himmat Na Tod pav Tum tum yah Hindu hai ya Muslim hai hi yahan Sikh hai yahan isai hai hi hi yah dharm jaati Ka khel Nahin yahan hum Sab bharatwasi Hai Hi Dekho main shahibag hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Ho Dekho main shahibagh hun Tum rajniti Ka khel rachao tum aatankwadi yah deshdrohi batao Mar jaenge MIT jaenge Ham to apne is Bharat per Dekho aaj Na aane denge Ham to sanvidhan per Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main Shaheen Bagh hun is dharti ko sicha Hai Ham Sab Ne apne khoon Se Dekho aaj Bhi sich rahe hain Ham to apne khoon Se perfect Bada Hai ine donon mein Dekho bharatvasiyon tab angrejon Ne tha khoon bahaya ab Bharat ke netaon ne per main ab Bhi taiyar hun main jhansi Ki Rani Hoon main rajiya sultan Hoon main balidan ki devi hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheenbagh hun main Bharat Ki beti hun dekho mein shahibagh hun"

Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun a Gai sadkon per Dekho bahan betiya Tum barsa rahe ho UN per kyon lakhiya lathiya apnon hi ke khoon Se aaj mein daag daag Hoon Tu dekh Hamari himmat ko Tu dekh Hamari takat ko Tu dekh hamare jajbe ko today Hamari chahat ko dekh main Shahid Dekho main shahibag hunyah Chand nikla Suraj nikla har ek din Gin Gin Ke nikala Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main sahiba hun yahan bole Hain Ki Ham bacche Hain yah man Hamari bahane Hain Bharat Ki shaan bachane ko Bharat ki 
 laaj bachane ko yah khule aasman Ki chadar mein Sab Thane mein baithe Hain Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main shahibag hun goli maro lathi maro yah gundo se pitwa ho tum yad rakho yad rakho Hamari himmat Na Tod pav Tum tum yah Hindu hai ya Muslim hai hi yahan Sikh hai yahan isai hai hi hi yah dharm jaati Ka khel Nahin yahan hum Sab bharatwasi Hai Hi Dekho main shahibag hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Ho Dekho main shahibagh hun Tum rajniti Ka khel rachao tum aatankwadi yah deshdrohi batao Mar jaenge MIT jaenge Ham to apne is Bharat per Dekho aaj Na aane denge Ham to sanvidhan per Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main Shaheen Bagh hun is dharti ko sicha Hai Ham Sab Ne apne khoon Se Dekho aaj Bhi sich rahe hain Ham to apne khoon Se
perfect Bada Hai ine donon mein Dekho bharatvasiyon tab angrejon Ne tha khoon bahaya ab Bharat ke netaon ne per main ab Bhi taiyar hun main jhansi Ki Rani Hoon main rajiya sultan Hoon main balidan ki devi hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheenbagh hun main Bharat Ki beti hun dekho mein shahibagh hun

Dekho main Shaheen Bagh hun

6 Love
6 Share

"Hum bharat k nivaashi h apni naagrikta ka farz nibhaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Har gaaw-gaaw har sahar-sahar ko saaph kr swachhtaa ka abhiyaan chalaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Jish desh me hum rhte h yha anek trah k riti-rivaaz aur bhashhaaye h sbhi bhashhaao ko swikaar kr unhe hum dil se apnaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Jahaa ki kheti hi jivan ki aadhar h sbhi kishaano k mann me unke vikash ka aashwaasan dilaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Agar sarkar se kuchh galti ho jaaye toh milkar hum sb awaaz uthaa unhe sachaai ka maarg dikhlaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Har wo bachche jo shiksha se vanchit ho is daur me pichhe rah gye unko shiksha k prakash se parichit kraaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Hum bharat k bhavisy h apne vigyan ka prdarshan kr pure vishav me apni saphlta ki wjah se tiranga ka parcham lahraaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye....."

Hum bharat k nivaashi h apni naagrikta ka farz nibhaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Har gaaw-gaaw har sahar-sahar ko saaph kr
swachhtaa ka abhiyaan chalaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Jish desh me hum rhte h 
yha anek trah k riti-rivaaz aur bhashhaaye h
sbhi bhashhaao ko swikaar kr unhe hum dil se apnaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Jahaa ki kheti hi jivan ki aadhar h
sbhi kishaano k mann me unke vikash ka aashwaasan dilaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Agar sarkar se kuchh galti ho jaaye toh  milkar hum sb awaaz uthaa
unhe sachaai ka maarg dikhlaye 
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Har wo bachche jo shiksha se vanchit ho is daur me pichhe rah gye
unko shiksha k prakash se parichit kraaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Hum bharat k bhavisy h apne vigyan ka prdarshan kr
pure vishav me apni saphlta ki wjah se tiranga ka parcham lahraaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

#bharat #India #jaihind
#bharat_ko_majboot_bnaye

4 Love

"m us bharat ki ldki hu,jo azadi ka jasan mnata h, m us bharat ki ldki hu,jo gantantr kehlata h, fir bhi m aazad nhi,ye sachai h koi raaz nhi, jo chlti hu sadak pr,toh leti khul k saans nhi, chlti hu is kadr ki ki larkhra jati hu, ku ki aage kam ,nigahe piche jada ghumati hu, m us bharat ki ldki hu,jha navratre mnate h, m us bharat ki ldki hu,jha ldki plane udati h, fir raat ko niklne se darti hu,hr kadam badhate marti hu, ye dohara bharat kb tk h,ye darindo ka raaz kb tk, kb tk hr roj m damini bnaungi,kb tk m uhi marungi, m us bharat ki ldki hu ,jha jhansi ki rani janmi h, m us bharat ki ldki hu,jha hr ldki likhti kahani h, m us bharat ko chahti hu,jha khul kr jee paungi, jis din na hogi koi nirvhaya,us din hi aazadi mnaungi, m iss bharat ki ldki hu,esse kya apni betiyo k lye surakshit dekh paungi...?"

m us bharat ki ldki hu,jo azadi ka jasan mnata h, 
m us bharat ki ldki hu,jo gantantr kehlata h,
fir bhi m aazad nhi,ye sachai h koi raaz nhi,
jo chlti hu sadak pr,toh leti khul k saans nhi,
chlti hu is kadr ki ki larkhra jati hu,
ku ki aage kam ,nigahe piche jada ghumati hu,
m us bharat ki ldki hu,jha navratre mnate h,
m us bharat ki ldki hu,jha ldki plane udati h,
fir raat ko niklne se darti hu,hr kadam badhate marti hu,
ye dohara bharat kb tk h,ye darindo ka raaz kb tk,
kb tk hr roj m damini bnaungi,kb tk m uhi marungi,
m us bharat ki ldki hu ,jha jhansi ki rani janmi h,
m us bharat ki ldki hu,jha hr ldki likhti kahani h,
m us bharat ko chahti hu,jha khul kr jee paungi,
jis din na hogi koi nirvhaya,us din hi aazadi mnaungi,
m iss bharat ki ldki hu,esse kya apni betiyo k lye surakshit  dekh paungi...?

#dpf#Nojoto#girlsafety#soni#Poetry#

40 Love
1 Share

"Bhichadi lashe pulwama mai Abh apni baari aayi hai Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai Udupi mai jb goli mari, Tbh bacha smj kai chod dia Kamar kasle apni abh tu, Tere baap ki baari aayi hai 40 jawan mare tune, Abh pore atank ki shamt aayi hai Ruh kaanp udhegi abh teri, Bharat ki fauj aayi hai Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai Dekh gussa abh tu, Azadi ki bari aayi hai Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai Krle koshish kashmir lene ki tu, Abh pata bhi nhi hila payega Swarg lene kai chakr mai, Tuje patal se bhi nikala jayega Kamar kasle apni abh tu Bharat ki fauj aayi hai "

Bhichadi lashe pulwama mai   Abh apni baari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu,   Bharat ki  fauj aayi hai
Udupi mai jb goli mari,    Tbh bacha smj kai chod dia
Kamar kasle apni abh tu,  Tere baap ki baari aayi hai
40 jawan mare tune,  Abh pore atank ki shamt aayi hai
Ruh kaanp udhegi abh teri,  Bharat ki fauj aayi hai
Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai
Dekh gussa abh tu,   Azadi ki bari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu,  Bharat ki fauj aayi hai
Krle koshish kashmir lene ki tu,   Abh pata bhi nhi hila payega
 Swarg lene kai chakr mai,  Tuje patal se bhi nikala jayega 
Kamar kasle apni abh tu   Bharat ki fauj aayi hai

Bhichadi lashe pulwama mai Abh apni baari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai
Udupi mai jb goli mari, Tbh bacha smj kai chod dia
Kamar kasle apni abh tu, Tere baap ki baari aayi hai
40 jawan mare tune, Abh pore atank ki shamt aayi hai
Ruh kaanp udhegi abh teri, Bharat ki fauj aayi hai
Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai
Dekh gussa abh tu, Azadi ki bari aayi hai

6 Love
1 Share

"इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम। #kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ। कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं। सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था। तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते। कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा। चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था। तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती। दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा। ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा। ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ। Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया। किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो। जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा। तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती। Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे? तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी। Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................। मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें। Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल। बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा। मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से । जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। पर mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा। मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया। ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह। बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं। ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था। नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं। तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया। और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी। उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे। और मैं sir को कहता ये सच हैं। खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर, मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी। तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की। उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।"

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani @Nojoto">#@Nojoto @Nojoto">#@Nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।

53 Love

"Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun a Gai sadkon per Dekho bahan betiya Tum barsa rahe ho UN per kyon lakhiya lathiya apnon hi ke khoon Se aaj mein daag daag Hoon Tu dekh Hamari himmat ko Tu dekh Hamari takat ko Tu dekh hamare jajbe ko today Hamari chahat ko dekh main Shahid Dekho main shahibag hunyah Chand nikla Suraj nikla har ek din Gin Gin Ke nikala Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main sahiba hun yahan bole Hain Ki Ham bacche Hain yah man Hamari bahane Hain Bharat Ki shaan bachane ko Bharat ki laaj bachane ko yah khule aasman Ki chadar mein Sab Thane mein baithe Hain Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main shahibag hun goli maro lathi maro yah gundo se pitwa ho tum yad rakho yad rakho Hamari himmat Na Tod pav Tum tum yah Hindu hai ya Muslim hai hi yahan Sikh hai yahan isai hai hi hi yah dharm jaati Ka khel Nahin yahan hum Sab bharatwasi Hai Hi Dekho main shahibag hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Ho Dekho main shahibagh hun Tum rajniti Ka khel rachao tum aatankwadi yah deshdrohi batao Mar jaenge MIT jaenge Ham to apne is Bharat per Dekho aaj Na aane denge Ham to sanvidhan per Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main Shaheen Bagh hun is dharti ko sicha Hai Ham Sab Ne apne khoon Se Dekho aaj Bhi sich rahe hain Ham to apne khoon Se perfect Bada Hai ine donon mein Dekho bharatvasiyon tab angrejon Ne tha khoon bahaya ab Bharat ke netaon ne per main ab Bhi taiyar hun main jhansi Ki Rani Hoon main rajiya sultan Hoon main balidan ki devi hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheenbagh hun main Bharat Ki beti hun dekho mein shahibagh hun"

Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun a Gai sadkon per Dekho bahan betiya Tum barsa rahe ho UN per kyon lakhiya lathiya apnon hi ke khoon Se aaj mein daag daag Hoon Tu dekh Hamari himmat ko Tu dekh Hamari takat ko Tu dekh hamare jajbe ko today Hamari chahat ko dekh main Shahid Dekho main shahibag hunyah Chand nikla Suraj nikla har ek din Gin Gin Ke nikala Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main sahiba hun yahan bole Hain Ki Ham bacche Hain yah man Hamari bahane Hain Bharat Ki shaan bachane ko Bharat ki 
 laaj bachane ko yah khule aasman Ki chadar mein Sab Thane mein baithe Hain Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main shahibag hun goli maro lathi maro yah gundo se pitwa ho tum yad rakho yad rakho Hamari himmat Na Tod pav Tum tum yah Hindu hai ya Muslim hai hi yahan Sikh hai yahan isai hai hi hi yah dharm jaati Ka khel Nahin yahan hum Sab bharatwasi Hai Hi Dekho main shahibag hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti Ho Dekho main shahibagh hun Tum rajniti Ka khel rachao tum aatankwadi yah deshdrohi batao Mar jaenge MIT jaenge Ham to apne is Bharat per Dekho aaj Na aane denge Ham to sanvidhan per Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheen Bagh hun main Bharat Ki beti hun Dekho main Shaheen Bagh hun is dharti ko sicha Hai Ham Sab Ne apne khoon Se Dekho aaj Bhi sich rahe hain Ham to apne khoon Se
perfect Bada Hai ine donon mein Dekho bharatvasiyon tab angrejon Ne tha khoon bahaya ab Bharat ke netaon ne per main ab Bhi taiyar hun main jhansi Ki Rani Hoon main rajiya sultan Hoon main balidan ki devi hun main Bharat Ki beti Hoon Dekho main Shaheen Bagh hun Dekho main Shaheenbagh hun main Bharat Ki beti hun dekho mein shahibagh hun

Dekho main Shaheen Bagh hun

6 Love
6 Share

"Hum bharat k nivaashi h apni naagrikta ka farz nibhaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Har gaaw-gaaw har sahar-sahar ko saaph kr swachhtaa ka abhiyaan chalaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Jish desh me hum rhte h yha anek trah k riti-rivaaz aur bhashhaaye h sbhi bhashhaao ko swikaar kr unhe hum dil se apnaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Jahaa ki kheti hi jivan ki aadhar h sbhi kishaano k mann me unke vikash ka aashwaasan dilaaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Agar sarkar se kuchh galti ho jaaye toh milkar hum sb awaaz uthaa unhe sachaai ka maarg dikhlaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Har wo bachche jo shiksha se vanchit ho is daur me pichhe rah gye unko shiksha k prakash se parichit kraaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye..... Hum bharat k bhavisy h apne vigyan ka prdarshan kr pure vishav me apni saphlta ki wjah se tiranga ka parcham lahraaye aao milkar hum bharat ko majboot bnaye....."

Hum bharat k nivaashi h apni naagrikta ka farz nibhaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Har gaaw-gaaw har sahar-sahar ko saaph kr
swachhtaa ka abhiyaan chalaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Jish desh me hum rhte h 
yha anek trah k riti-rivaaz aur bhashhaaye h
sbhi bhashhaao ko swikaar kr unhe hum dil se apnaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Jahaa ki kheti hi jivan ki aadhar h
sbhi kishaano k mann me unke vikash ka aashwaasan dilaaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Agar sarkar se kuchh galti ho jaaye toh  milkar hum sb awaaz uthaa
unhe sachaai ka maarg dikhlaye 
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Har wo bachche jo shiksha se vanchit ho is daur me pichhe rah gye
unko shiksha k prakash se parichit kraaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

Hum bharat k bhavisy h apne vigyan ka prdarshan kr
pure vishav me apni saphlta ki wjah se tiranga ka parcham lahraaye
aao milkar hum bharat ko majboot bnaye.....

#bharat #India #jaihind
#bharat_ko_majboot_bnaye

4 Love

"m us bharat ki ldki hu,jo azadi ka jasan mnata h, m us bharat ki ldki hu,jo gantantr kehlata h, fir bhi m aazad nhi,ye sachai h koi raaz nhi, jo chlti hu sadak pr,toh leti khul k saans nhi, chlti hu is kadr ki ki larkhra jati hu, ku ki aage kam ,nigahe piche jada ghumati hu, m us bharat ki ldki hu,jha navratre mnate h, m us bharat ki ldki hu,jha ldki plane udati h, fir raat ko niklne se darti hu,hr kadam badhate marti hu, ye dohara bharat kb tk h,ye darindo ka raaz kb tk, kb tk hr roj m damini bnaungi,kb tk m uhi marungi, m us bharat ki ldki hu ,jha jhansi ki rani janmi h, m us bharat ki ldki hu,jha hr ldki likhti kahani h, m us bharat ko chahti hu,jha khul kr jee paungi, jis din na hogi koi nirvhaya,us din hi aazadi mnaungi, m iss bharat ki ldki hu,esse kya apni betiyo k lye surakshit dekh paungi...?"

m us bharat ki ldki hu,jo azadi ka jasan mnata h, 
m us bharat ki ldki hu,jo gantantr kehlata h,
fir bhi m aazad nhi,ye sachai h koi raaz nhi,
jo chlti hu sadak pr,toh leti khul k saans nhi,
chlti hu is kadr ki ki larkhra jati hu,
ku ki aage kam ,nigahe piche jada ghumati hu,
m us bharat ki ldki hu,jha navratre mnate h,
m us bharat ki ldki hu,jha ldki plane udati h,
fir raat ko niklne se darti hu,hr kadam badhate marti hu,
ye dohara bharat kb tk h,ye darindo ka raaz kb tk,
kb tk hr roj m damini bnaungi,kb tk m uhi marungi,
m us bharat ki ldki hu ,jha jhansi ki rani janmi h,
m us bharat ki ldki hu,jha hr ldki likhti kahani h,
m us bharat ko chahti hu,jha khul kr jee paungi,
jis din na hogi koi nirvhaya,us din hi aazadi mnaungi,
m iss bharat ki ldki hu,esse kya apni betiyo k lye surakshit  dekh paungi...?

#dpf#Nojoto#girlsafety#soni#Poetry#

40 Love
1 Share

"Bhichadi lashe pulwama mai Abh apni baari aayi hai Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai Udupi mai jb goli mari, Tbh bacha smj kai chod dia Kamar kasle apni abh tu, Tere baap ki baari aayi hai 40 jawan mare tune, Abh pore atank ki shamt aayi hai Ruh kaanp udhegi abh teri, Bharat ki fauj aayi hai Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai Dekh gussa abh tu, Azadi ki bari aayi hai Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai Krle koshish kashmir lene ki tu, Abh pata bhi nhi hila payega Swarg lene kai chakr mai, Tuje patal se bhi nikala jayega Kamar kasle apni abh tu Bharat ki fauj aayi hai "

Bhichadi lashe pulwama mai   Abh apni baari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu,   Bharat ki  fauj aayi hai
Udupi mai jb goli mari,    Tbh bacha smj kai chod dia
Kamar kasle apni abh tu,  Tere baap ki baari aayi hai
40 jawan mare tune,  Abh pore atank ki shamt aayi hai
Ruh kaanp udhegi abh teri,  Bharat ki fauj aayi hai
Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai
Dekh gussa abh tu,   Azadi ki bari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu,  Bharat ki fauj aayi hai
Krle koshish kashmir lene ki tu,   Abh pata bhi nhi hila payega
 Swarg lene kai chakr mai,  Tuje patal se bhi nikala jayega 
Kamar kasle apni abh tu   Bharat ki fauj aayi hai

Bhichadi lashe pulwama mai Abh apni baari aayi hai
Kamar kasle apni abh tu, Bharat ki fauj aayi hai
Udupi mai jb goli mari, Tbh bacha smj kai chod dia
Kamar kasle apni abh tu, Tere baap ki baari aayi hai
40 jawan mare tune, Abh pore atank ki shamt aayi hai
Ruh kaanp udhegi abh teri, Bharat ki fauj aayi hai
Shant bhaithe the jawan abh tk maa kai anchal mai
Dekh gussa abh tu, Azadi ki bari aayi hai

6 Love
1 Share