Best comedy shows 2017 Stories

Suggested Stories

Discover & Read Best Stories about comedy shows 2017. Also Read about filmywap 2017, movies 2017, ipl 2017, f filmywap 2017, xxvi video 2017, cbse 10th result 2017, new songs 2017, ipl 2017 points table, up board result 2017, ipl 2017 schedule, tamil movies 2017, songs 2017, bollywood movies 2017, champions trophy 2017, bollywood 2017 movies.

  • Latest Stories

All you need to know about the cool gadgets launched at CES 2017
Consumer Electronics Show (CES) 2017 began with a bang on January 5, 2017, in Las Vegas. The tech fair featured an exuberant display of technology and witnessed big brands like Google and BMW coming together for the creation of future technology.While the participating brands including tech companies like Dell, Lenovo and HP displayed some really cool laptops, organisations like Google and BMW went high on Artificial Intelligence.
In case you missed out on the developments, check out the updates here:

Lenovo launches series of gaming laptops Lenovo Legion (Photo: Lenovo/CES 2017)
CES 2017 witnessed Lenovo launching a new series of gaming laptops– Legion. Lenovo Legion Y720 features the latest range of Intel Core processors with discrete graphics and super fast hybrid storage space and an Xbox One Wireless Controller support. The company also launched Yoga Book, which runs on a custom version of Android operating system. Yoga Book also features an innovative Halo keyboard, which appears when you need it and vanishes when you don’t.
LG unveils a super-slim television
LG unveils TV (Photo: LG/CES 2017)Korean consumer electronics giant unveiled a super-slim television at CES 2017. The smart-TV is a mere 2.57mm thick and features an OLED panel with nano-cell technology. The company would start shipping the TV, that looks like a poster on the wall, from March 2017.
Samsung shows off Odyssey notebook system
Samsung Odyssey (Photo: Windows/CES 2017)The year 2016 was a year of epic bloopers for Korean electronic giant Samsung. However, the company has a number of devices lined up in 2017 to make a stellar comeback. Starting the year with a bang, the company showed off its latest notebook– Odyssey at the CES in LA. The laptop is power-packed with a number of features including the 7th generation Intel core i7 processor with a wide-view angle display, a 1TB HDD, Dual SSD + HDD and Triple storage space. The company also updated its Notebook 9 series laptop adding an increased battery life, Windows 10, 7th generation Intel Core i7 Processor to it. The company also announced Chromebook and Chromebook Plus, that offer 360-degree rotating touchscreen.
HP launches world’s slimmest convertible
HP Spectre (Photo: HP Spectre/CES 2017)Ahead of CES 2017, US tech giant Hewlett-Packard (HP) unveiled the world’s thinnest convertible laptop. EliteBook x360 promises the longest ever battery life of over 16 hours. The laptop is protected by a coating of Corning Gorilla Glass and is powered by the seventh-generation Intel core i7 processor. The company also unveiled EliteBook x360, which features ultra-high display, 16GB DDR4 RAM and Windows Hello support.
Qualcomm display the all-mighty Snapdragon 835 processor
Snapdragon 835 (Photo: Qualcomm/CES 2017)While CES is all about the big brands bragging their peerless technological advancements, it’s the core products like the processors, VR and graphics that draw maximum attention. In this cases, the show-stealer was Qualcomm that unveiled its all-mighty processor Snapdragon 835 at CES 2017. The company is launching the processor in conjunction with the Power Rangers VR gear.
Nissan and BMW bring Microsoft’s Cortana to cars
BMW integrates Cortana to its dashboard (Photo: BMW/CES 2017)Remember Cortana? Microsoft’s smartass AI that has been guiding you on your Windows laptops and phones. Well, two of the biggest names in the automotive– Nissan and BMW are bringing Cortana to your car. While BMW plans to use Cortana for a personalised autonomous driving experience, Nissan plans to use the AI in a similar way while adding ‘google maps like’ features to it.
Kingston unveils 2TB flash drive
Kingston (Photo: Facebook)In this digital era, storage space is of great importance, specially when we’re dealing with the humongous quantity of data every day. To facilitate the process of data storage, Kingston launched world’s first flash drive with the storage space of 2TB at a pre-CES event. The USB drive is completely shock-proof and is compatible with Windows 7 and higher versions, Mac OS v10.9 and above, Linux v2.6 and above and Google Chrome.
Dell launches Alienware and other laptops
Dell laptops (Photo: Windows/CES 2017)If CES is too big an event, Dell made it even bigger by releasing a series of laptops. Apart from updating its Alienware series, Dell also updated its Canvas, XPS, Precision and UltraSharp series of laptops. The company also added WiTricity magnetic resonance wireless charging technology to its laptops to enable wireless charging in its laptops.
Blackberry launches Mercury
Blackberry Mercury (Photo: Facebook)TCL, the company that now manufactures smartphones for Blackberry showed-off a teaser of their rumoured smartphone– Mercury. The smartphone will feature a combination of Android-Blackberry keypad and will be launched at Mobile World Congress 2017.
Casio launches WSD-F20 smartwatch
Casio smartwatch (Photo: Facebook)
Japanese consumer electronic giant has updated its smartwatch WSD-F20. The smartwatch runs on Android Wear 2.0 and features GPS functionality and support for online and offline maps. WSD-F20 comes with a rugged look and can slip into the low-power monochrome mode for basic tasks like checking time. Though the prices haven’t been confirmed yet, the smartwatch will be hit the market in April this year.

0 Love
0 Comment

50 Healthy Resolutions That Aren't Losing Weight
It’s fair to say that 2016 wasn’t a popular year (to put it mildly).
But while we may be ready to embrace 2017 with open arms, there’s one mistake many of us will probably bring into the New Year: focusing on the wrong resolution.
If data published in 2015 is any indication, many of us will pledge to lose weight. However, the problem with focusing solely on the scale is that it isn’t necessarily beneficial or indicative of our well-being. Not to mention the fact that concentrating on a pants size may make us ignore all the other aspects of wellness (like self-esteem or empathy, for example).
Of course, if losing weight is imperative to your physical health, it’s necessary to complete those goals and follow a plan outlined by a doctor. But if you’re searching for a way to prioritize wellness, there are additional options.
We’ve rounded up some healthy resolutions that have nothing to do with dropping pounds. Check them out below and then vow to make 2017 your best year yet.

1. Sleep more.
Commit to those eight hours. Proper shuteye is linked to better mental health and a lower risk for physical health conditions.
2. Cut back on sugar.
It’s difficult but it can be life changing if you pull it off. Here are a few tips on how to give it up.
3. Limit sodium intake.
Dietary guidelines recommend consuming no more than 2,300 milligrams per day (but the average American may consume more than 3,400 milligrams in a day ― yikes!). Too much sodium is linked to heart disease, high blood pressure and more.
4. Start meditating.
The benefits of a meditation practice are boundless, from improved mental health to better concentration to a lower risk for disease.
5. Pick up crafting.
Experts say activities like knitting can ease anxiety and put you in a meditative state. And you get a scarf in the process? Score.
6. Spend time alone.
Introverts are onto something. There’s power in a little “me time.”
7. Plan a trip.
You’ll boost your mood instantly. Research suggests planning a vacation can increase happiness ― and just think, you’ll have an adventurous city or a white sand beach to look forward to after you book it.
8. Keep a journal.
This could be a book that gives you prompts or just an empty place to scribble out your frustrations. Studies show journaling can be cathartic for your mental health.
9. Go for strolls more often.
It’s actually a really healthy exercise, according to science. Hit the pavement.
10. Cut back on complaining.
Negative thought patterns can increase stress levels. Try a mindful experiment where when you catch yourself complaining ― or thinking negatively ― you counteract it with something positive. Here’s a little inspiration to get started.


11. Give up diet soda.

Let’s face it: The zero-calorie coke alternative is not doing anyone any favors. It has the potential to hurt your health and studies have found it doesn’t help with losing weight.
12. Compliment someone once a day.
And not just on their appearance. Genuine compliments can go a long way for both you and the other person.
13. Practice gratitude.
Studies suggest that gratitude can improve overall well-being and may even boost physical health. Try keeping score of what you appreciate every day. Need some ideas to get started? Here are 100.
14. Go to therapy.
Therapy can be an incredibly useful tool for self discovery or as a way to work out life’s challenges. If you’re dealing with a particularly rough period ― or just want to know more about your inner world ― mental health professionals can help.
15. Volunteer regularly.
Donating your time to people or an organization in need can do a world of good. And if you needed more reason: Research shows volunteering can improve your health. It may also increase your happiness levels thanks to a circular effect. Kindness makes you happy, and happiness makes you kind.
16. Drink more water.
Forget what you were told about drinking eight glasses a day and aim for hydration instead. Here’s a handy guide to know when you’re actually feeling parched (it might be happening sooner than you realize).
17. Cook at home more frequently.
You’ll end up getting healthier in the process. Research says homemade meals can help you skip out on excess calories.
18. Commit to a strength-training routine.
Building muscle can help protect you against injury and even sharpen your cognitive skills. Start small ― even just using your body weight ― and increase as you get stronger.
19. Talk to more strangers.
It pays to make a little eye contact. Research shows smiling at someone you don’t know could help increase feelings of social connection.
20. Say “no” more often.
Burnout is real and it can happen in a blink of an eye. Make sure you’re prioritizing yourself and not saying “yes” to everything because it feels like an obligation. Self care isn’t selfish.


21. Handwrite letters instead of emailing people.

Make an effort to communicate via snail mail this year. Handwritten correspondence is a lost art form ― but there are real benefits to putting pen to paper, from better creativity to a smaller risk of multitasking.
22. Schedule walking meetings once a week.
You’ll get far more out of it than if you were holed up in the office. And that added physical activity may just get your creativity flowing.
23. Use all of your vacation days.
Those who are lucky enough to get vacation time often don’t put it to use. A recent survey found that 32 percent of people used zero of their allocated days last year. But taking a break is super important for your well-being. Don’t feel like taking a vacation? Try a mental health day, instead.
24. Call your family more often.
Chances are they’d love to hear from you and you can benefit from it, too. Research shows calling loved ones like your mom can ease stress.
25. Cut back on material spending.
Money does not buy happiness, according to science. Take your hard-earned cash and use it for an experience instead. There’s evidence it will bring you more joy.
26. Try team sports.
The camaraderie is great and you’ll pick up a new hobby in the process. Plus, it’s ― you guessed it ― good for your mental health.
27. Learn a language.
Say “hola” or “bonjour” to a new life skill. Research even supports the theory that it’ll boost your brain.
28. Forgive someone.
Anger and resentment is like holding onto internal poison and can even harm your physical health. Life’s too short to not move on.
29. Make regular doctors’ appointments.
Research shows that ― for the most part ― it’s okay to forgo annual physicals if you’re generally healthy individual. But that doesn’t mean throw caution to the wind and ignore your body. If you’re sick or something is off, see a doctor. That includes specialists like dermatologists and dentists.
30. Donate to an important cause.
That same kindness feedback loop that happens when you volunteer may also apply in this case as well. Here’s a list of organizations that may need your help right now, in particular.

31. Read one book a month.
Research shows reading can boost empathy and emotional intelligence. If you’re committed to diving into multiple novels this year, check out this list of tips and benefits that will help keep you motivated.
32. Bring your lunch to work every day.
Trust us, your wallet will thank you. Take a look at this breakdown to see just how much you’ll save.
33. Practice self-acceptance.
It’s actually a key to a happier life but it’s a habit people rarely practice. Make your internal dialogue as kind as it would be if you were talking to your best friend.
34. Say a mantra every day.
Mantras can keep you grounded in the moment, allowing you to reap the rewards of mindfulness, and they could help you actually believe what you’re saying after a while. (Yes, you are beautiful. And yes, you should repeat that to yourself every day if that’s what you need.)
35. Wear sunscreen.
Skin cancer is no joke. Luckily, there are tons of moisturizers that contain a little SPF.
36. Eat more (good!) carbohydrates.
Psst, the healthiest people in the world actually consume a lot of carbs. (Yep, you read that correctly.) Check out how to incorporate more of these important nutrients into your diet.
37. Cut back on alcohol.
Sure, a little is fine (who doesn’t love a good glass of Pinot Grigio?). But the negatives outweigh the positives in the long term in this case.
38. Go outside more often.
Not only does it improve your mood, you get the added perks of exercise. Win-win.
39. Give up the snooze button.
Seriously, you’ll feel much better for it. And maybe you’ll finally become one of those successful morning people.
40. Floss regularly.
There’s a reason your dentist nags you about that tiny string. Clearing your gums of bacteria is necessary for oral health, so do what you can to make sure they’re in good condition.

41. Make your bed every day.

No act of organization is too small. And it may make you happier.
42. Don’t use your smartphone before bed.
The type of light that’s emitted from screens can disrupt your sleep and keep you awake longer. Try ditching your device at least 30 minutes before you shut your eyes.
43. Do an activity outside of your comfort zone.
There’s a whole life to discover on the other side of your routine. Not to mention the fact that doing something different may boost creativity.
44. Pick a theme for the year.
If you’re starting to feel like this whole “resolution” thing isn’t for you, try sticking to a theme instead. Instead of picking a goal, pick a word you want to abide by for 2017. It could be “brave” or “confident” or “compassionate.” Whatever you want to start doing ― or being ― more of.
45. Fix your posture.
Straightening up is not only an instant confidence booster, it can also prevent back problems and reduce stress. Your future self may just thank you.
46. Sign up for a race.
There’s something satisfying about crossing a real finish line. Running comes with a lot of physical and mental health perks, from lower risk of disease to improved mood. Why not celebrate a running routine with a tangible medal of your accomplishments?
47. Marie Kondo your space.
Marie Kondo, author of The Life-Changing Magic of Tidying Up, is the champion of the tidying method where you only keep items that bring you joy. Since then, the trend has gained traction and for a good reason. Not only does it keep your home clutter-free, there’s also a psychological health component to focusing on the materials that make you happy.
48. Cut back on social media.
Research shows that constant scrolling through a newsfeed can lead to social comparison, or the need to stack your life up against someone else’s. This can then lead to depressive symptoms. Take a step back from all of it and live your life based on how you feel ― not on how cool it’s supposed to look with a filter.
49. Spend time with people who think differently than you do.
Empathy, or the ability to walk in another’s shoes, is the foundation for a lot of positive perks. The more you expand yourself and open your eyes to different perspectives, the more open minded you become.
50. Love yourself.
Because you’re all you’ve got ― no matter what

3 Love
0 Comment

What is the difference of taste of movies or TV shows between an NRI and an original India-living-new-generation-progressive-Indian watching European and American movie or TV shows?

1. For NRI- multiculturalism is a must as they have to live everyday in those countries and continuously compete with their native people from those countries. So even if the Indian characters are stereo type and slightly racist, it is acceptable to them.

Whereas, in the case of people that are living in India- it is not quite so simple. We don't mind watching movies or TV shows where only white people are acting as long as the story is very good and interesting. As it doesn't try to potray Indian characters and messed it up even if the intention was positive. Because in 99% occasion potrayal of Indian characters are stereo type and racist. This is why, people from India tend to like those movies and TV shows too from 90s and late 80s when only white characters are shown. As most often Indian characters are not even there, thereby eliminating any chances of stereo typing. But I am only taking about the good ones as a lot of garbage was made too in that time period. This is why movies like Lion and Slumdog millionaire will never truly be popular in India whereas western people think these are great movies. For example- Friends which is popular for many reasons among Indians but obviously it doesn't have any such stereo type Indian characters.

2. This might shock most people but authentic India living Indians love more sex violence dark movies and TV shows than NRIs. For example- Game of thrones etc.

Because NRIs were probably living in those countries for a long time therefore they already established themselves as something different and foreign from native people so that they don't feel bad about themselves or become self assured. And in order to achieve that they already made themselves more rooted to the past Indian tradition than the group of people from India that has the option to watch foreign movies and TV shows.

3. Familiarity- NRIs are 24X7 living in those countries and therefore they kind of got bored with familiar environment. That's why they look for something that is different and not really that familiar from their everyday lives. This is why even those "Sas-Bahu" melodrama from India can be extremely popular among NRIs.

And this might shock most young people in India.

3 Love
0 Comment
इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #nosuicide #story #kahani #nojoto #nojotohindi 

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने  तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत  की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी।   मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी  सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और  पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया।  तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की। 

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा। 
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
 मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017  की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था। 
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की।  तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों  के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर  nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और  खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
 उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला।  पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं। 
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।

इत्तु से पैग़ाम मेरी ज़िंदगी के नाम।

#kalakaksh #NoSuicide #story #kahani #Nojoto #nojotohindi

जरा सुनये एक पते की बात,कहानी नहीं हकीकत हैं मेरे साथ।
कुछ 2,3 साल पूरी बात हैं, जिंदगी जी रहा था खुलकर मैं।
सभी के दिलों पर राज करता था,सभी अपनों के मुख से तारीफ़े अपनी सुना था।
तब सब को मेरा नाम पता था अजय पर कोई ये नहीं जानता था कि ये वो ही अजय हैं जिसकी हम तारीफ़े करते नहीं थकते।
कॉलेज का आखरी साल था तब घर में था कोई ,जो भगवान को प्यारा हो गया। महीने तक पता ना था कि जिंदगी कैसे चले रही हैं। किसी तरह ख़ुद को संभाल कर ,हिम्मत की, ज़िंदगी पहले की तरह जीने लगा।
चर्चे हर तरह होने लगें थे मेरे, ज़िन्दगी अच्छी चल रही थी। कॉलेज का आखरी साल खत्म होने वाला था exam सर पर थे। exam से एक महीने पहले अचानक आँखों में दर्द होने लगा,इतना जो सहन नहीं होता था। जब भी थोड़ी सी रोशनी आँखों पर पड़ती ,पानी गंगा की तरह बहने लगता था।
तब बस मुझे अंधेरे से प्यार हो गया,रोशनी मुझे बहुत सताती।
दवाईयाँ हज़ार खा ली पर इत्तु सा भी आराम नहीं, जब तक दवाई का असर है तब तक ठीक, असर खत्म होती ही फिर पहले जैसा।
ऐसा मेरे साथ दो महीने चलता रहा।
ऐसी बीच मैंने exam भी दिया,तब मुझे होश नहीं ,कुछ पता नहीं की मैं हूँ कहाँ।
Exam देनी जाता थी तब ये भी याद नहीं होता थी कि मैं जा कहाँ रहा हूँ और कहाँ पहुँच गया।
किसी तरह exam दिये, exam के 1 महीने बाद मेरी आँखें ख़ुद ठीक हो गयी,जैसे कुछ हुआ ही ना हो।


जब result आया तो देखा कि मेरा एक paper रहा गया। अब एक साल क्या करूँगा? ना जाने कैसे कैसे सवाल आये। एक दम सब से मिलना छूट गया,सारा दिन घर रहने लगा।

तब मैंने paper rechecking का form fill किया था। क्योंकि मुझे पक्का पता था कि मेरी re नहीं आ सकती।
Paper recheck में clear हो जायेगा। एक एक पल एक एक दिन की तरह गुजर रहा था,मानो ज़िन्दगी रुक गयी। मैं depression में चल गया। मुझे बस ये था कि घर बंध कर नहीं रहना हैं ,करना हैं कुछ बड़ा। पर कैसे?
तब मुझे choching के बारे में पता चला ,मैंने फिर choching पर जाना शुरू किया। वहाँ भी नाम कमाया,मेरी पहचान मेरी कलाकारी थी। जहाँ भी जाता वही मेरी कलाकारी सब को भाटी।
Choching पर जाते जाते,re-checking का result आया ,दुबारा पेपर देना होगा। बुरा तो लगा पर ...........................।


मैंने फिर कोशिश की ,अच्छे से पेपर की तैयारी की और पेपर दिया। पेपर ऐसा किया थी कि कोई फेल ना कर सकें।

Choching मेरी एक साल की पूरी होने वाली थी कि उसे से कुछ समय पहले result आ गया । result फेल।
बर्दाश्त नहीं हुआ,ऐसा कैसे हो सकता हैं मैं shok, प्रोफेसर shok, parents shok. सभी ऐसा हो ही नहीं सकता, मैंने पेपर निकलवाया। एक महीने के बाद पेपर आया तो देखा कि पेपर सारा सारी ठीक हैं ।check करने वाले ने बिना गलती के no. कम दे रहे है इतना ही नही आधे पेपर में no. नहीं दिया। तब भी मैंने कोशिश करना नहीं छोड़ा, कोशिश करता रहा।

मैंने अपने सभी प्रोफेसरो को दिखाया। सब की अलग अलग बात थी, कुछ ने कहा इसने कुछ नहीं होगा पेपर की दुबारा तैयारी करो, कुछ ने कहा कि कई बार टीचर सारे no. एक में दे देते हैं। इन्हीं सब बातों में 15 दिन निकल गया । किसी ने कोई help नहीं की।

माने तब फिर से re-check के form fill कर दिया। जब re-checking का result आया तो फिर से re। मैं यूनिवर्सिटी गया पापा के साथ ,कई दिनों तक चक्कर लगते रहे। यूनिवर्सिटी में मैंने अपना paper सभी को दिखाया, पर वहाँ सब की बोलती बंद थी। बड़े से बड़े प्रोफेसर को दिखाया सब ने कहा ये पास हैं आराम से ।
जानबुझ कर फेल कर रखा हैं ।इन दिनों मैं इतना टूट गया कि कई बार मरने की कोशिश की,road पर चलते चलते ना जाने कितने बार ऐसा करना चाहा।
पर
mind में बस एक बात थी कि अगर मैंने आज ऐसा किया तो मेरे माँ-बाप का क्या होगा।
मैंने कोर्ट केस करना चाहता तो यूनिवर्सिटी वालो ने फाइल दबा दी कहा अब टाइम ज्यादा हो गया, हमनें पहले का सारा रिकॉर्ड खत्म कर दिया।
ये बात मई 2017 की है। हर तरह हाथ पैर मारने के बाद भी वही खड़ा था जहाँ पहले खड़ा था।
इस के बाद मैं इतना टूट गया था की एक एक पल- एक एक दिन की तरह जा रहा था,फिर एक एक week की तरह ,फिर एक एक month की तरह।
बस मुझे इतना याद रहता थी कि आज मंगलवार हैं आज शनिवार हैं मुझे मंदिर जाना हैं बस इससे ज्यादा कुछ नहीं।
ऐसी बीच एक लड़की भी आए थी मेरी लाइफ में । जो कहती थी कि मैं तुम से प्यार करती हूँ तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ। उस लड़की ने मेरे करिब आकर मुझे इतना पागल कर दिया थी ,ऐसा कर दिया थी कि मुझे ये लगने लगा था कि अब ऐसी से शादी होगी। पर नियति को कुछ और ही मंजूर था।


नवंबर 2017 को मैंने फिर से exam दिया। इस बार मैंने पहले ही सभी प्रोफेसर को बोल दिया था कि ये पेपर अब आप को clear करवाना है। उन्होंने मेरा पूरी मद्दत की। तब भी मुझे होश नहीं रहता था motivational video हजारों देखी कोई फर्क नहीं पड़ता था। इन्हीं दिनों के बीच मैंने mom-dad को कई बार बोला कि मुझे अब नही जीना हैं ,मुझे मार दो। गुस्से में ना जाने कितने बार कहा। फ़िर एक दिन मैंने yayah bhoot wala की poem सुनी अच्छी लगी , मुझे उसे बारे में सब जाना हैं सारी poem सुनी bt मुझे कुछ और भी चाहते था, सुनते सुनते एक दिन मैंने झुमके वाली की poem सुनी । मुझे इतनी अच्छी लगी कि download कर ली। तब मुझे इस लड़की के बारे में सब जाना था। तब मुझे nojoto के बारे में पता चल और मैंने nojoto डाउनलोड कर लिया। ये बात dec.2017 की हैं।
तब कई बार मैं कॉलेज जाता हैं मेरे प्रोफेसर उन्मेष मिश्रा सर और राजल मैम ने मुझे हिम्मत दी कुछ नया शुरु करने की महीने भर के बाद हिम्मत कर के जनवरी में मैंने illusion art bnana start किया। एक के बाद एक art बनाता गया।
और झुमके वाली की हर बात मेरे खुश रहने की वजह बने लगी थी।
उस वक़्त मैंने अपनी खुशी और अपना दर्द लिखा। मेरे हर दर्द पर मरहम का काम सत्यप्रेम सर ने किया। मेरी हर nojoto स्टोर जो मैं फेसबुक पर add करता था तब हमेशा msg कर तारिफ करते थे।
और मैं sir को कहता ये सच हैं।
खुद को संभाल ही लिया था कि मुझे पता कि मैं जिस पर आँख बंद कर के विश्वास कर रहा था ,जिससे मैं शादी करना चाहता था उसने ही मुझे धोखा दिया। ये बात मुझे पता चली, सब अपनी आँखों से देखा 12 feb.2018 को । दिल करा की अभी इसको मार दूँ, दो चार थप्पड़ लगाऊ। बहुत ज्यादा गुस्सा आया था पर मैंने ख़ुद को संभाला ,उस वहीँ छोड़ दिया ,कुछ नही कहा उसे। जो हुआ वो सब मैंने अपने खास friends को बताई उन्होंने उसे बात की तब भी अपनी गलती ना देख कर,
मुझे ग़लत और खुद को सही बनाने लगी और मेरे दोस्तों के सामने मेरे हजार कमियां इस तरह गिनवाए जैसे मैं किसी का खून किया हो,किसी का बलात्कार किया हो। तब दोस्त ने बस एक बात कही मुझे ये की वो तेरे लायक नहीं। मैं खुद को सम्भाल नहीं पा रहा था। 14 feb.2018 को ही मैंने इस बारे में मैंने अपनी राजल mam से बात की जो हिंदी department की h.o.d हैं। उन्होंने मेरा Brain wosh किया। तब याद तो मिट गई पर feeling मुझे बहुत सताती थी।

तब मेरी help सत्यप्रेम sir, love भाई और अनुष्का मैम ने की।
उसका दिया सब कुछ खत्म कर दिया। पर जनवरी से ही धीरे धीरे मेरे खुश रहने की वजह झुमके वाली बने लगी थी। 15 feb 2018 से लगातार झुमके वाली पर लिखता रहा और साथ illusion art बनाता रहा। march में होली वाले दिन पहले बार मेरी मेरी झुमके वाली से बात हुई।उस दिन मैं बहुत खुश था। अपनी खुशी हर तरह बाँट रहा था। किसी तरह मैं ठीक हुआ। nojoto family का साथ मिला। पर किस्मत कुछ और चाहती था। exam का result आया फिर से re आई। फिर से पेपर निकलवाने हैं, फिर से सब को दिखाया,फिर से paper दुबारा चेक के लिए form fill किया । बस अब result का इंतज़ार हैं।
आज भी लड़ रहा हूँ क़िस्मत से, देखना है कब देगी ये क़िस्मत साथ मेरा।
Satyaprem Nojoto Love Prashar Dalchand Anushka Verma

47 Love
17 Comment

Kapil Sharma kickstarts 2017 with good news, announces two new comedy shows
The laughter dose just got multiplied. The funny man of our entertainment industry, Kapil Sharma is coming up with two new shows. Yes, you read that right. The comedian and actor, who rose to fame with his television show Comedy Nights With Kapil and presently hosts The Kapil Sharma Show on Sony, shared the good news as part of ringing in his New Year.He wrote, “First news of the year.. k9 is producing two comedy shows … hope u will like .. stay happy.” For Kapil, the year of 2016 has been a roller coaster ride. The actor got embroiled in controversies, his set was on fire and then his rift with a leading channel’s producer. However, as they say, all’s well that ends well. Kapil’s growth has been tremendous.
As per industry reports, Kapil is getting a whopping Rs 110 crore for his renewed year-long stint of the show with Sony. Considering The Kapil Sharma Show is one of the top TRP generators for not just the channel, but on the Indian television too, the comedian easily pockets around Rs 60-80 lakh per episode, becoming one of the top earning actors of small screen too.
Source: Indian Express

5 Love
0 Comment