tags

Best Savewater Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Savewater Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 120 Followers
  • 122 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

#WorldWaterDay#Savewater
#Nojoto#nojotohindi#nojotowriters#nojotonews
23/03/2020................03:20 PM

111 Love
733 Views

"फिर कैसी ये मंदी, जो महगीं है इतनी या रोटियां ही नहीं है, भूख है जितनी ! "

फिर कैसी ये मंदी, जो महगीं है इतनी 
या रोटियां ही नहीं है, भूख है जितनी !

#मंदी #जरूरत #Savewater #SaveNature #रोजगार #जनसंख्या

78 Love
704 Views

""

"world ocean day 8june नजर बदल के देखों, नजारे बदल जायेंगे। अपने आप को बदल के देखों, सारे के सारे बदल जायेंगे। @neeya"

world ocean day 8june

नजर बदल के देखों, नजारे बदल जायेंगे।
अपने आप को बदल के देखों, सारे के सारे बदल जायेंगे।

@neeya

#WorldOceanDay #nojotohindi #nojotourdu #Savewater #neeya #Sea

68 Love
1 Share

""

"''Innovation for a sustainable ocean'' एक स्थायी महासागर के लिए नवाचार बिना पानी जीवन मुश्किल है पानी बचाव जन-जीवन बचाव। @neeya"

''Innovation for a sustainable ocean'' 
 एक स्थायी महासागर के लिए नवाचार 

बिना पानी जीवन मुश्किल है
पानी बचाव जन-जीवन बचाव।

@neeya

save water save life.

#seashore #WorldOceanDay #nojotoenglish #nojotohindi
#neeya #Savewater

60 Love

""

"मैं नन्हीं सी जिंदगी,ढूंढती अपना आशियाना, सूर्ज की किरण से पहले,मैं सबको जगाया करती थी, कभी घर के आंगन में तो कभी पेड़ो पर, घर अपना बसाया करती थी,मेरी आवाज़ की चहक से बच्चे खुश जब होते थे, तो हवा के साथ,बरसात के साथ मैं भी गुनगुनाया करती थी बहोत प्यार,बहोत दुलार मिला मुझे इस जग के अपनों से फिर कभी मैं पानी को तरसने लगी,प्यासी ही मैं उड़ती फिरती, ढूंढती नीर की मैं धारा, जब मिला नहीं पानी मुझे,तो होकर बेसहारा,कर दिया मैंने सूना जग ये सारा, बस इतना ही कहना चाहती हूं,पानी नहीं बचाओगे, तो आने वाली पीड़ियों को जीवन नहीं दे पाओगे, मैं नन्हीं सी जिंदगी,ढूंढती अपना आशियाना तुम्हारी प्यारी चिड़ियॉ,जो ऑगन में शोर मचाती थी ओर सबके मन को भाती थी"

मैं नन्हीं सी जिंदगी,ढूंढती अपना आशियाना,
सूर्ज की किरण से पहले,मैं सबको जगाया करती थी,
कभी घर के आंगन में तो कभी पेड़ो पर,
घर अपना बसाया करती थी,मेरी आवाज़ की चहक से बच्चे खुश जब होते थे,
तो हवा के साथ,बरसात के साथ मैं भी गुनगुनाया करती थी
बहोत प्यार,बहोत दुलार मिला मुझे इस जग के अपनों से
फिर कभी मैं पानी को तरसने लगी,प्यासी ही मैं उड़ती फिरती,
ढूंढती नीर की मैं धारा,
जब मिला नहीं पानी मुझे,तो होकर बेसहारा,कर दिया 
मैंने सूना जग ये सारा,
बस इतना ही कहना चाहती हूं,पानी नहीं बचाओगे,
तो आने वाली पीड़ियों को जीवन नहीं दे पाओगे,
मैं नन्हीं सी जिंदगी,ढूंढती अपना आशियाना
तुम्हारी प्यारी चिड़ियॉ,जो ऑगन में शोर मचाती थी
ओर सबके मन को भाती थी

#Lovelybird#Savewater#savebirds #sparrow#Savewater#savebirds#Nojoto#Nojotohindi#hindinama#Poetry#kavishala#kalakaksh#Quote#Love

57 Love
1 Share