tags

Best गुलाब Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best गुलाब Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 537 Followers
  • 1998 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"फ़िक्र तो तेरी आज भी करते है हम, गुलाब की चाह में काटों से खेलते हैं हम"

फ़िक्र तो तेरी आज भी करते है हम, गुलाब की चाह में काटों से खेलते हैं हम

#फिक्र
#गुलाब#कांटे
#nojotoapp#nojotoshayri

34 Love

"ये गुलाबों का मौसम गीत गुनगुनाने का मौसम बेवजह ही तुम्हें याद करने का मौसम"

ये गुलाबों का मौसम 
गीत गुनगुनाने का मौसम
बेवजह ही तुम्हें याद करने
का मौसम

#nojoto #Hindi #गुलाब और तुम

24 Love
1 Share

"ओ जमाने याद आए खत से लिपटे गुलाब आए खत में लिखें तराने याद आए मिलने के बहाने याद आए जहां कलम से नहीं खून से लिखें खत तमाम आए ओ जमाने याद आए यहां लिखने वाले का चेहरा दिख जाए मोहब्बत से भरे खत तमाम आए जिसे छुप के पढ़ने के बहाने तमाम आए ओ जमाने याद आए खत से लिपटे गुलाब आए"

ओ जमाने याद आए खत से लिपटे
गुलाब आए खत में लिखें तराने याद आए
मिलने के बहाने याद आए जहां कलम से नहीं
 खून से लिखें खत तमाम आए
ओ  जमाने याद आए यहां लिखने वाले
का चेहरा दिख जाए
मोहब्बत से भरे खत तमाम आए जिसे
छुप के पढ़ने के बहाने तमाम  आए
ओ जमाने याद आए खत से लिपटे गुलाब  आए

#गुलाब
#खत
#विचार Prince yadav suman# Sahil Rathore vinodsaini Rupam rajbhar

16 Love
1 Share

"होंठ और तिल आपके इन शबनमी होठों को देखकर ओस से भीगा वो गुलाब याद आता है और ये जो होठों के नीचे काला तिल है क़सम से मेरे दिल पर बहुत क़हर धाता है ❤ राज ❤"

होंठ और तिल आपके इन शबनमी होठों को देखकर 
ओस से भीगा वो गुलाब याद आता है
और ये जो होठों के नीचे काला तिल है 
क़सम से मेरे दिल पर बहुत क़हर धाता है 
❤ राज ❤

#nojoto#हिन्दी#शायरी#गुलाब#होंठ#तिल#दिल @pooja negi# @vinodsaini @😎Minaक्षी goyल [Ashi] @aamil Qureshi @Er Kkg

47 Love
2 Share

"मैं करती रहीं इंतज़ार उसका गुलाब हाथों में लेके मगर वों कमबख़्त मगशूल रहा किसी गैर को बांहों में लेके देखकर ये मंज़र मुझसे रहा न गया और क़त्ल ख़ुद का कर लिया मैंने खंज़र सीने में लेके MERI SHAYARI MERI DASTAAN"

मैं करती रहीं इंतज़ार उसका गुलाब हाथों में लेके
मगर वों कमबख़्त मगशूल रहा किसी गैर को बांहों में लेके

देखकर ये मंज़र मुझसे रहा न गया
और क़त्ल ख़ुद का कर लिया मैंने 
खंज़र सीने में लेके 











MERI SHAYARI                                                          MERI DASTAAN

मैं करती रहीं #इंतज़ार उसका हाथों में #गुलाब लेके
मगर वों कमबख़्त मगशूल रहा किसी गैर को #बांहों में लेके

देखकर ये #मंज़र मुझसे रहा न गया
और ख़ुद का #क़त्ल कर लिया मैंने
खंज़र सीने में लेके
...................................................................🥀 🥀

213 Love
5 Share