tags

Best Balance Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Balance Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about 0 lifetime balance transfer, a life in balance.

  • 55 Followers
  • 241 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"March closing is nearby ahead. Kindly minus some expensive and over budget people from your life for avoid disturbed life balance sheet. - Raana"

March closing is nearby ahead. Kindly minus some expensive and over budget people from your life for avoid disturbed life balance sheet.
- Raana

#march #Closing is nearby ahead. Kindly minus some #expensive and over #Budget people from your life for avoid #disturbed life #Balance sheet.
- Raana

#Nojoto #hindinojoto #Nojotohindi #Quote

198 Love
3 Share

""

""There is no such thing as work-life balance. Everything worth fighting for unbalances your life.” - Alain de Botton"

"There is no such thing as work-life balance. 

Everything worth fighting for unbalances your life.” 

- Alain de Botton

#Fight #WorkLife #Balance

49 Love

""

"जिंदगी की बहती लहरों में खुद को यूं डुबो दिया नौका कहां पहुंची ये केवट को भी गुमराह कर दिया।"

जिंदगी की बहती लहरों में
खुद को यूं डुबो दिया
नौका कहां पहुंची
ये केवट को भी गुमराह कर दिया।

#Balance ur life

48 Love

#forever #Revolving 💞 #Evolution #Happiness 🧚🍀💫
Whatever you carry in your heart, the reflection of your skills becomes your evolutionary theory of the visionary world.
When the mind becomes fringe, it refuses applesauce, the evaluation reveals its upheaval cringe solution, evolution in affection, that brings the revolutionary movement against insolence; insulation prevails.

Balance in valence: Keep your mind in a peaceful insulation over insanity.

When you become water, you flow as its nature

42 Love

""

"जाने कितने जीवों को बेघर किया और कितनों का शिकार किया अपने मतलब के लिए तूने कितनों का संहार किया कुछ का तूने व्यापार किया जीवों में हाहाकार किया खुदगर्ज़ है दयावान नहीं तू अब मान ले इन्सान नहीं तू ये जीवों के अभयारण्य बनाकर कितनों को बचाया तूने अपनी पूरी सृष्टि के चक्र को बिगाड़ा तूने अपनी ताकत की यूं नुमाइश न कर प्रकृति को यूं बर्बाद न कर न जाने कब सनशीलता कहर में बदल जाए न जाने कब ये वक्त बदल जाए ।। © रिमझिम"

जाने कितने जीवों को बेघर किया 
और कितनों का शिकार किया 
अपने मतलब के लिए तूने 
कितनों का संहार किया 
कुछ का तूने व्यापार किया 
जीवों में हाहाकार किया 
खुदगर्ज़ है दयावान नहीं तू 
अब मान ले इन्सान नहीं तू 
ये जीवों के अभयारण्य बनाकर
कितनों को बचाया तूने 
अपनी पूरी सृष्टि के चक्र को बिगाड़ा तूने
अपनी ताकत की यूं नुमाइश न कर
प्रकृति को यूं बर्बाद न कर 
न जाने कब सनशीलता कहर में बदल जाए
न जाने कब ये वक्त बदल जाए ।।
© रिमझिम

प्रकृति #nojotohindi#kalakaksh#Poetry#poem#kavita#Nature#Life#ecosystem#Balance

41 Love