tags

Best lostinthoughts Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best lostinthoughts Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 2561 Followers
  • 2977 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"ओस की बूंदें धूप से धीरे - धीरे छटने लगी है। उसकी यादों के बिना भी अब राते कटने लगी है। -Ravan✍️"

ओस की बूंदें धूप से धीरे - धीरे छटने लगी है।

उसकी यादों के बिना भी अब राते कटने लगी है।

-Ravan✍️

#sandhya #pihu #kavirahulpal #ROHINIKUSHWAHA #Anshuwriter #sona #anjaan @Anshika">#@Anshika #jyoti

#lostinthoughts @Sonu Mor @@govindmaurya😎 @Kavita Chauhan @सौरभ (लखनवी) @Anshika

170 Love

""

"पल गुजरते है तो...गुजर जाने दो, हमें तुम्हारा चेहरा नजर आने दो। तेरे दिल में...रहने का विचार है, सुनो अपने दिल में उतर जाने दो। रात के अंधेरे; गुमराह कर रहे, तो ठहरो अभी अब सहर आने दो। क्यूँ गायब है सागर से लहरे भी, देखेंगे..जरा कुछ लहर आने दो। कब तक आवारा भटकेगा 'गोविन्द' यार अपने दिल में, ठहर जाने दो।। गोविन्द पन्द्राम "

पल गुजरते है तो...गुजर जाने दो, 
हमें तुम्हारा चेहरा नजर आने दो।

तेरे दिल में...रहने का विचार है,  
सुनो अपने दिल में उतर जाने दो।

रात के अंधेरे; गुमराह कर रहे,  
तो ठहरो अभी अब सहर आने दो।

क्यूँ गायब है सागर से लहरे भी,  
देखेंगे..जरा कुछ लहर आने दो।

कब तक आवारा भटकेगा 'गोविन्द'
यार अपने दिल में, ठहर जाने दो।।
            गोविन्द पन्द्राम

#lostinthoughts

149 Love

""

"इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता इस महीने आप का target पूरा हुआ या नहीं। फर्क इस बात से पड़ता है आपने अपना best दिया या नहीं।"

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता इस महीने आप का target पूरा हुआ या नहीं।


फर्क इस बात से पड़ता है आपने अपना best दिया या नहीं।

🤔🤔

#lostinthoughts

146 Love

""

"क्या तुम अपनी डूबती मुस्कान को अपने झरझर से मन में ढूढ़ रहे हो , तो सुनो तुम गलत हो क्योंकि तुम्हारे चेहरे की मुस्कान तुम्हारे मन ने नही किसी जन ने चुराई हैं"

क्या तुम अपनी डूबती मुस्कान को 
अपने झरझर से मन में ढूढ़ रहे हो ,
तो सुनो तुम गलत हो क्योंकि
तुम्हारे चेहरे की मुस्कान तुम्हारे मन ने नही 
किसी जन ने चुराई हैं

#lostinthoughts

145 Love
1 Share

""

"हम तो तसव्वुर के आलम में हमदर्द - हमनशीं को ज़हनसीब समझ बैठे थे..! हमको क्या खबर कि यहां मुलाकातें भी सदियों मे बदनसीबों से होती है..!! ©Darshan Raj"

हम तो तसव्वुर के आलम में हमदर्द -   
हमनशीं को ज़हनसीब समझ बैठे थे..! 

हमको क्या खबर कि यहां मुलाकातें    
भी सदियों मे बदनसीबों से होती है..!!

©Darshan Raj

#a
#humsafar #Nojoto #alone #Life #mulakat #नसीब #Raj #darshan
#lostinthoughts
@Haquikat 💎
@vks Siyag @Urdu Shayar @I.A.S OFF NEHA @poet Vinod Rajpurohit @Roy Megha.....♥♥

138 Love
1 Share