tags

Best कवित Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best कवित Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about कविता तिवारी जीवन परिचय, कविता, कविता कोश.

  • 6 Followers
  • 9 Stories
  • Latest
  • Video

मंज़िल भी उसकी थी..
#कवित

9 Love
18 Views

""

"अपनी इन अदाओं को हमको ना दिखाया करो सनम हमको पता हैं कि तुम हमसे मिलने भी अपने रक़ीब के साथ आती हो और उसे अपना भाई बता कर चली जाती हो... ~VK...Baba"

अपनी इन अदाओं को
हमको ना दिखाया करो सनम
हमको पता हैं कि
तुम हमसे मिलने भी अपने रक़ीब के साथ आती हो
और उसे अपना भाई बता कर 
चली जाती हो... 

~VK...Baba

#शायरी #कवित #कमुक #काला #कहानी Suraj Solanki कवि जय पटेल दीवाना

27 Love
2 Share

""

"यह तो समय समय की बात हैं... कि कौन कब किसके साथ हैं l आज कोई आपके साथ हैं... तो कल किसी और के साथ हैं ll ~VK...Baba"

यह तो समय समय की बात हैं...
कि कौन कब किसके साथ हैं l
आज कोई आपके साथ हैं...
तो कल किसी और के साथ हैं ll

~VK...Baba

#शायरी #कवित #विचार #काला #सुनाऊँ @Suraj Solanki

34 Love
3 Share

""

"फ़ोन ** विरोधाभास लिये , अपनी स्थिति पर मौन मैं मोबाइल फोन सोचता .... मैं कैसे गलत हो गया .. सभी का दोष कैसे माथे चढ़ गया.. बड़ी आसानी से इल्जाम लगा देते हैं .. गलतियां मेरे आवरण में छुपा देते है .. एहसान फरामोश हैं ये ... दूर बैठे परिजनों के जब वीडियो दिखाता हूँ .. बच्चों की मासूमियत कृप्या caption मे पढ़ें"

फ़ोन   
**
विरोधाभास लिये ,
अपनी स्थिति पर मौन 
मैं मोबाइल  फोन
सोचता ....
मैं कैसे गलत हो गया ..
सभी का दोष कैसे माथे चढ़ गया..
बड़ी आसानी से इल्जाम लगा देते हैं ..
गलतियां मेरे आवरण में छुपा देते है ..
एहसान फरामोश हैं ये ...
दूर   बैठे परिजनों के जब 
वीडियो दिखाता हूँ ..
बच्चों  की मासूमियत
कृप्या caption मे  पढ़ें

#फ़ोन#कवित
मोबाइल/ फ़ोन
**
विरोधाभास लिये ,
अपनी स्थिति पर मौन
मैं मोबाइल फ़ोन !
सोचता ....
मैं कैसे गलत हो गया ..

22 Love
1 Share

""

"ओंस की बूँद चेहरे पर पड़ रही थी। थी बो क्या सकूण जो तन मन में मचल रही थी, इससे पहले मेरा मन इतना न कभि हरषाई थी, कूदरत की इतनी प्यारी संपर्क कभि न मैंने पाई थी"

ओंस की बूँद चेहरे पर पड़ रही थी। थी बो क्या सकूण जो तन मन में मचल रही थी, इससे पहले 
मेरा मन इतना न कभि हरषाई थी, कूदरत की इतनी प्यारी संपर्क कभि न मैंने पाई थी

#कवित,#Nature,#nojoto,#Poetry

4 Love