tags

Best आसमा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best आसमा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 65 Followers
  • 309 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"चांदनी रात के ख़ामोश तारे को पता है .... तेरे बिना मेरा भी आसमा सुना है"

चांदनी रात के ख़ामोश तारे को पता है ....
तेरे बिना मेरा भी आसमा सुना है

#चाँदनी#रात#moonlight#nojoto#नोजोतो#nojotohindi#nojotoapp#Love#आसमा#Quote#

303 Love
1 Share

""

"तेरे बिना जिन्दगी का गुजारा ऐसे हैं जैसे, चाँद बिना आसमान में सितारा ।"

तेरे बिना जिन्दगी का गुजारा
ऐसे हैं जैसे,
चाँद बिना आसमान में सितारा ।

#ज़िन्दगी#आसमा#गुजारा #Nandu

119 Love
2 Share

""

"#hosla पलको पे हे मेरे- चाहे जो हो कसुर ना घबराउगा ! हकीकत मे हो - जो उसे अपनाऊगा अपसानो को नही चाहुगा ! ,"

#hosla





पलको पे हे मेरे- 
चाहे जो हो कसुर ना घबराउगा ! 
हकीकत मे हो -
 जो उसे अपनाऊगा अपसानो को नही चाहुगा !
,

#hosla

1, #ईरादो मे #मोहल्लत की चाहत ना हो !
तो कुछ भी #नामुमकीन नहीं !
कुछ भी करना मुशकिल नहीं !

2, #मुस्किलो से लडने से ही मुकाम की राह दिखाई देती हे !
हर #कामयाब शाक्स की शोच बस यही कहती हे !

72 Love

""

"टूट चुके थे जो आसमान में उनसे मुरादें मांगी जा रही थी बिछड़ चुके थे जो अपनों से सपनों की फर्यादे मांगी जा रही थी वो क्या जाने अपनों से बिछड़ने गम भला दर्द कितना होता है इस बिछड़ने के क्रम में तारे रात भर ना सोता है |"

टूट चुके थे जो आसमान में 
उनसे मुरादें मांगी जा रही थी
बिछड़ चुके थे जो अपनों से 
सपनों की फर्यादे मांगी जा रही थी 
वो क्या जाने अपनों से बिछड़ने गम भला 
दर्द कितना होता है 
इस बिछड़ने के क्रम में तारे रात भर ना सोता है |

#SAD#आसमा #तारे #मुरादें #Notohindi#rockingbbd#Love#nojoto

70 Love

""

"बस इतनी सी ख्वाहिश है, आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै। तारे बिखेर दूं जमी पर और छूकर उन्हें उन्हीं सा हो जाऊं मैं। ओढ़कर रात का आँचल बुनूं कुछ हसीं किस्से, फिर वही किस्से दादी-नानी को सुनाऊँ मैं। गुलों की वादी में जाके रंगू तितलियों के पर पंछियों को उड़ना सीखाऊं मैं। बस इतनी सी ख्वाहिश है, आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै । खिलूं फूल बनकर कभी डाली पे जो भँवरों के साथ मिलकर कोई गीत गाऊँ मैं। गिरुं पतझड़ के पत्तों सा जो टूटकर डाली से बैठ हवाओं के कांधे पर बादलों के पार जाऊं मैं। बस इतनी सी ख्वाहिश है, आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै।"

बस इतनी सी ख्वाहिश है,
आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै।
तारे बिखेर दूं जमी पर
और छूकर उन्हें उन्हीं सा हो जाऊं मैं।

ओढ़कर रात का आँचल बुनूं कुछ हसीं किस्से,
फिर वही किस्से दादी-नानी को सुनाऊँ मैं।

 गुलों की वादी में जाके रंगू तितलियों के पर 
पंछियों को उड़ना सीखाऊं मैं। 
बस इतनी सी ख्वाहिश है, 
आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै ।

खिलूं  फूल बनकर कभी डाली पे जो 
 भँवरों के साथ मिलकर कोई गीत गाऊँ मैं। 
गिरुं पतझड़ के पत्तों सा जो टूटकर डाली से
बैठ हवाओं के कांधे पर बादलों के पार जाऊं मैं।

बस इतनी सी ख्वाहिश है,
आसमा से चाँद तोड़ लाऊं मै।

#Chand #MondayMotivation #Nojoto #Poetry #kavitakosh #Kwahisen #Nojotopost #Nojotokhabri

69 Love