tags

Best Zindagi Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Zindagi Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about zindagi ki mehek, zindagi ki mehak, dear zindagi.

  • 6373 Followers
  • 24072 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"تیرے بنا زندگی بےرنگ و بےمزہ ہو جیسے"

تیرے بنا زندگی
بےرنگ و بےمزہ ہو جیسے

#nojoto#nojotourdu#Zindagi#terebina

12 Love

"खुद से ज्यादा कभी किसी पर ऐतबार ना करना हद्द से ज्यादा कभी किसी से प्यार मत करना समय कीमती है व्यर्थ की बातों में मत गवाओ कुछ नीतियां तुमने पढ़ी है उसे अपनाओ अपने सपनों को पूरा करने की ललक अपने अंदर जगाओ नाम रोशन कर अपने मां पापा का तुम भी सितारों की तरह जग मगाओ।"

खुद से ज्यादा कभी किसी पर ऐतबार ना करना
हद्द से ज्यादा कभी किसी से प्यार मत करना

समय कीमती है व्यर्थ की बातों में मत गवाओ
कुछ नीतियां तुमने पढ़ी है उसे अपनाओ 

 अपने सपनों को पूरा करने की ललक अपने अंदर जगाओ
नाम रोशन कर अपने मां पापा का तुम भी सितारों की तरह जग मगाओ।

#Zindagi #सपने

39 Love

#Zindagi #Dard #Life #Poetry @Kanchan Tiwari @Priyanka Chabey @Saumya Deshmukh @simran sony @JANMONI DAS

98 Love
1 Share

"Farishto sa dil lekr paida hua tha mai... aaj zindgi k tazurbon ne insaa bna diya....!"

Farishto sa dil lekr paida hua tha mai...
aaj zindgi k tazurbon ne insaa
 bna diya....!

#Zindagi #Quotes

21 Love

"मिट्टी से खुशबू आ रही थी मैंने फूल खिलते हुए देखा था कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था बचपन याद आ गया मुझे मेरा कागज की कस्तीया बनाया करते थे हाथों में लेकर कंचे बजाया करते थे मेरी तरह बिना वजह झगड़ते हुए देखा था कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था मुस्कान अनमोल थी उसकी ,सुकून बेतहाशा दे गई बचपन खो दिया मैंने सोचकर निराशा सी हो गई बचपन में खुद को बड़ा होते हुए देखा था कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था"

मिट्टी से खुशबू आ रही थी
 मैंने फूल खिलते हुए देखा था
 कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था 
बचपन याद आ गया मुझे मेरा
 कागज की कस्तीया बनाया करते थे 
हाथों में लेकर कंचे बजाया करते थे 
मेरी तरह बिना वजह झगड़ते हुए देखा था
 कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था
 मुस्कान अनमोल थी उसकी ,सुकून बेतहाशा दे गई 
बचपन खो दिया मैंने  सोचकर  निराशा सी हो गई
 बचपन में खुद को बड़ा होते हुए देखा था
 कल मैंने धूल में बच्चों को खेलते हुए देखा था

#bachpana #yaadein #Zindagi #memory #nojotohindi #Hindi #urdu #SAD

20 Love