tags

Best जय_हिंद Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best जय_हिंद Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 29 Followers
  • 34 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

मैं हिंदुस्तान बोल रहा हूं....
#देवरत्न #भारत #हिंदुस्तान #आर्यावृत #इंडिया #जय_हिंद #वंदे_मातरम #मेरा_देश
#devRatna #India #mycountry #ILoveIndia #meravatan

56 Love
724 Views

#जय_हिंद

12 Love

"Kashmir जो खूबसूरती मेरी मोहब्बत में है, वो इन चंद सितारों में नहीं...! मेरी मोहब्बत मेरे हिंद से है, इन आती जाती सरकारों से नहीं...!! Rohit Singh Yadav"

Kashmir जो खूबसूरती मेरी मोहब्बत में है, वो इन चंद सितारों में नहीं...!
मेरी मोहब्बत मेरे हिंद से है, इन आती जाती सरकारों से नहीं...!!

Rohit Singh Yadav

आज दिल गदगद है सरकार के इस फैसले से बहुत खुश हूँ
#जय_हिंद

15 Love

"दर्द पनपता था सदियों से आज मरहम लगा दिया, अमित शाह और मोदी ने 56 इंची दिखा दिया,, आग लगी थी सीने में और हाथ जोड़ टीवी पर थी, बारूद से खेलने वाली वैश्या महबूबा भी आज काबू में थी,, एक वक्त आया था जब कश्मीरी पंडित मारे थे, उनकी माँ बहनों को नग्न कर गुप्तांगों में कोयला डाले थे,, शुक्र करो मुल्लो तुम हम आज भी शांति चाहते हैं, वरना तो परशुराम बन श्रष्टि का विनाश करने जानते हैं,, राष्ट एक कानून दो तुम संबिधान को लात मारते हो, मुस्लिम बनाम दलित होकर तुम हमको आपस मे लड़ाते हो,, आजाद देश मे फिर आजादी खुशी मनाता देश है, इस दुनिया मे अमन चाहता सिर्फ मेरा भारत देश महान है,, !! कवि आदित्य बजरंगी 9536198627"

दर्द पनपता था सदियों से आज मरहम लगा दिया,
अमित शाह और मोदी ने 56 इंची दिखा दिया,,

आग लगी थी  सीने में और हाथ जोड़  टीवी पर थी,
बारूद से खेलने वाली वैश्या महबूबा भी आज काबू में थी,,

एक वक्त आया था जब कश्मीरी पंडित मारे थे,
उनकी माँ बहनों को नग्न कर गुप्तांगों में कोयला डाले थे,,

शुक्र करो मुल्लो तुम हम आज भी शांति चाहते हैं,
वरना तो परशुराम बन श्रष्टि का विनाश करने जानते हैं,,

राष्ट एक कानून दो तुम संबिधान को लात मारते हो,
मुस्लिम बनाम दलित होकर तुम हमको आपस मे लड़ाते हो,,

आजाद देश मे फिर आजादी खुशी मनाता देश है,
इस दुनिया मे अमन चाहता सिर्फ मेरा भारत देश महान है,, !!

कवि आदित्य बजरंगी
9536198627

#जय_हिंद

11 Love

"चल अपनी साँसे वतन के नाम कर दे, ना उठाए कोई आँख दुश्मन को वो हाल कर दे,, आदित्य लाखो बलिदान हुए है युवा इस मिट्टी पर, चल उठकर सुबह सुबह इस माँ को नमन कर दे,,,,, कवि आदित्य बजरंगी"

चल अपनी साँसे वतन के नाम कर दे,
ना उठाए कोई आँख दुश्मन को वो हाल कर दे,,
आदित्य लाखो बलिदान हुए है युवा इस मिट्टी पर,
चल उठकर सुबह सुबह इस माँ को नमन कर दे,,,,,
कवि आदित्य बजरंगी

#जय_हिंद

18 Love