tags

Best आबाद Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best आबाद Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 73 Followers
  • 325 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"बंजर खेतों मे लहलहाती फसलें आबाद हैं नाजुक टहनियों पर जिंदगी के होंसले आबाद हैं ये तूफान बूढ़े शजर को गिरा नही सकते कयोकि इस पर अभी भी परिन्दों के घोंसले आबाद हैं मारुफ आलम शजर-पेड़"

बंजर खेतों मे लहलहाती फसलें आबाद हैं
नाजुक टहनियों पर जिंदगी के होंसले आबाद हैं
ये तूफान बूढ़े शजर को गिरा नही सकते
कयोकि इस पर अभी भी परिन्दों के घोंसले आबाद हैं
 
मारुफ आलम
शजर-पेड़

शायरी

166 Love

""

"खोल दिया पिंजरा मैने प्यार का, कि अब वो आज़ाद रहे। सबकुछ बिखर जाये मेरा बस, तु आबाद रहे। प्यार जिन्दा है हमारा मेरे जिन्दा होनें पर, प्यार जिन्दा मेरे मरने के बाद रहे। जब तक जहां है तब तक ये बात रहे, जिंदा हूँ मैं तुझमे, मरने तलक तेरी याद रहे।"

खोल दिया पिंजरा मैने प्यार का, कि अब वो आज़ाद रहे।
सबकुछ बिखर जाये मेरा बस, तु आबाद रहे।
प्यार जिन्दा है हमारा मेरे जिन्दा होनें पर,
प्यार जिन्दा मेरे मरने के बाद रहे।
जब तक जहां है तब तक ये बात रहे,
जिंदा हूँ मैं तुझमे, मरने तलक तेरी याद रहे।

मरने तलक तेरी याद रहे...✍✍
#पिंजरा #आज़ाद #आबाद #याद #nojoto #nojotoworld #nojotoquotes #nojotoshayari #Poetry #dilkiaawaaj #Lovequotes #Love #shayaredil #dilkishayari #aajadparinda.

59 Love

""

"वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं यूँ खुद को बर्बाद करते है। तुम खुश तुम्हारी महफिलों में, हम तन्हाई को आबाद करते हैं। तेरी दुआओं में कभी हम न थे, हम तेरे लिए फरियाद करते हैं। ©सखी"

वक़्त बे वक़्त तुझे याद करते हैं  यूँ खुद को बर्बाद करते है।
तुम खुश तुम्हारी महफिलों में,
हम तन्हाई को आबाद करते हैं।
तेरी दुआओं में कभी हम न थे,
 हम तेरे लिए फरियाद करते हैं।

©सखी

#आबाद #बर्बाद #फरियाद

41 Love

""

""इंक़लाब ज़िंदाबाद" जला कर गए जो आग,इन सीनों में वो "आज़ाद", ज़हन में हमारे आज भी है वो "इंकलाब जिंदाबाद"।। ... बहती थी रगों में ही आज़ादी की कामना, नामंजूर था करना जल्लादों से याचना। लगी थी पीछे दुश्मनों की टोली और, पास बची थी एक ही गोली.. जीते जी गुलाम बन ना सके वो, स्वयं के रक्त से खेल ली होली। गुलामी की ठंडी बर्फ पे दहकते अंगारों सी, वो आंखें थीं आबाद,वो बातें थीं आबाद..। ज़हन में हमारे आज भी है वो"इंकलाब जिंदाबाद"।। read the caption..."

"इंक़लाब ज़िंदाबाद"

जला कर गए जो आग,इन सीनों में वो "आज़ाद",
ज़हन में हमारे आज भी है वो "इंकलाब जिंदाबाद"।।
...
बहती थी रगों में ही आज़ादी की कामना,
नामंजूर था करना जल्लादों से याचना।
लगी थी पीछे दुश्मनों की टोली और,
पास बची थी एक ही गोली..
जीते जी गुलाम बन ना सके वो,
स्वयं के रक्त से खेल ली होली।
गुलामी की ठंडी बर्फ पे दहकते अंगारों सी,
वो आंखें थीं आबाद,वो बातें थीं आबाद..।
ज़हन में हमारे आज भी है वो"इंकलाब जिंदाबाद"।।
read the caption...

जला कर गए जो आग,इन सीनों में वो "आज़ाद",
ज़हन में हमारे आज भी है वो "इंकलाब जिंदाबाद"।।
जब सौ दुश्मनों के बीच वो अकेले थे,
जब फड़कते कोड़े बदन पे झेले थे।
जब छोड़ा था घरों को देश के लिए,
जब तोड़ा था दिलों को उद्देश्य के लिए।
अनगिनत लिखे हैं इतिहास के पन्नों पे,
कुर्बानियों के किस्से निर्विवाद..।

40 Love
3 Share

इत्तु सा पैग़ाम नशे ( दारू,चर्स, गांजा,प्यार,धोखा,)के नाम।
(हर वो चीज़ जिसकी लत लग जाये)
@Nojoto">#@Nojoto #story #Nasha #lat #Quotes

एक इंसान को नशे की लत कैसे लगती हैं?

शुरुवात कुछ ऐसे हैं ।

पानी थी जो मंजिल ,उस मंज़िल को पाने के रास्ते पर चले जा रहा हूँ।

39 Love