tags

Best nojotobhagalpur2 Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best nojotobhagalpur2 Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 14 Followers
  • 19 Stories
  • Popular Stories
  • Latest Stories

"#nojotobhagalpur2 न जाने मुझे ये क्या हुआ है, जिंदगी भी एक बोझ बना है, न जीने की ख्वाईश है, न मरने की जीद, अब तो खुश रहने की भी, नही है कोई उम्मीद उम्मीदों से रोशन सपने थे मेरे, मेरे साथ सभी अपने थे मेरे, फिर भी,न जाने किस्मत ने ये कैसी रुख है बदली मेरे दर्द की अनसुलझी पहेली अबतक न सुलझी न जाने ये कैसा दर्द है, जो हरपल मुझे रुलाता है दिन की है बेचैनी बढ़ाता, रातों का चैंन छीन जाता है लाख कोशिशे कर लूं, पर खुद को सम्भाल नही पाती हूँ कितनी भी कोशिशे कर लूँ, खुश रहने की,फिर भी दुखी हो जाती हूं वर्त्तमान को छोड़, भविष्य की चिंता में लग जाती हूं, भविष्य की चिंता से वर्तमान भी जी नही पाती हूँ, न जाने अपने ही ,दिलोदिमाग से कैसी सजा पाती हूँ हर बार टूटकर बिखर सी जाती हूं, बिखरे हुए टुकड़ो को फिर समेटने में लग जाती हूं कुछ इसतरह मैं खुद को सँवारती चली जाती हूँ।।"

#nojotobhagalpur2

न जाने मुझे ये क्या हुआ है,
जिंदगी भी एक बोझ बना है,
न जीने की ख्वाईश है,
न मरने की जीद,
अब तो खुश रहने की भी,
नही है कोई उम्मीद

उम्मीदों से रोशन सपने थे मेरे,
मेरे साथ सभी अपने थे मेरे,
फिर भी,न जाने किस्मत ने ये कैसी रुख है बदली
मेरे दर्द की अनसुलझी पहेली अबतक न सुलझी

न जाने ये कैसा दर्द है, जो हरपल मुझे रुलाता है
दिन की है बेचैनी बढ़ाता, रातों का चैंन छीन जाता है
लाख कोशिशे कर लूं, पर खुद को सम्भाल नही पाती हूँ
कितनी भी कोशिशे कर लूँ, खुश रहने की,फिर भी दुखी हो जाती हूं

वर्त्तमान को छोड़, भविष्य की चिंता में लग जाती हूं,
भविष्य की चिंता से वर्तमान भी जी नही पाती हूँ,
न जाने अपने ही ,दिलोदिमाग से कैसी सजा पाती हूँ
हर बार टूटकर बिखर सी जाती हूं,
बिखरे हुए टुकड़ो को फिर समेटने में लग जाती हूं
कुछ इसतरह मैं खुद को सँवारती चली  जाती हूँ।।

#nojotobhagalpur2

19 Love
2 Share

"#NOJOTOBhagalpur2 कुछ तो बात है --------------_------------- ये जो हवाएं हैं इतराई हुई सी , ये जो फ़ज़ाएं भी हैं बहकी हुई सी, ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो पक्षियां हैं चहकी हुई सी , कलियां सारी है महकी हुई सी , ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो लब हैं तेरे निखरे हुए से , ये जो जुल्फें तेरी हैं बिखरी हुई सी , ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो सांसें हैं उखड़ी हुई सी , ये जो यौवन है निखरी हुई सी , ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो आंखें हैं बोझिल सी , ये जो अधरों पर है लाली सी , ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो बहके हुए से हैं कदम , ये जो दहके हुए से हैं बदन , ये यूँ ही नहीं है यार , कुछ तो बात है । ये जो नहायी हुई सी है चांदनी , ये जो तरुण हुई सी है रागिनी , ये यूं ही नहीं है यार , कुछ तो बात है ।"

#NOJOTOBhagalpur2

कुछ तो बात है 
--------------_-------------
ये जो हवाएं हैं इतराई हुई सी , 
ये जो फ़ज़ाएं भी हैं बहकी हुई सी, 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो पक्षियां हैं चहकी हुई सी , 
कलियां सारी है महकी हुई सी , 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो लब हैं तेरे निखरे हुए से , 
ये जो जुल्फें तेरी हैं बिखरी हुई सी , 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो सांसें हैं उखड़ी हुई सी , 
ये जो यौवन है निखरी हुई सी , 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो आंखें हैं बोझिल सी , 
ये जो अधरों पर है लाली सी , 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो बहके हुए से हैं कदम , 
ये जो दहके हुए से हैं बदन , 
ये यूँ ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है । 

ये जो नहायी हुई सी है चांदनी , 
ये जो तरुण हुई सी है रागिनी , 
ये यूं ही नहीं है यार , 
कुछ तो बात है ।

#nojotobhagalpur2

17 Love
3 Share