tags

Best Chair Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best Chair Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos about the wishing chair, chair car, chair in hindi.

  • 37 Followers
  • 86 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"Its true, That problems, troubles and hard times comes in life and can't be sent back.... But, It's our duty not to provide them a chair to sit........"

Its true,
 That problems, troubles and hard times comes in life and can't be sent back....
But,
 It's our duty not to provide them a chair to sit........

like, comment,share, FOLLOW.....
.
.
.
.
#Life#Love#Problems#Solution#Chair#Trouble#Hardtimes#Solution#Success#poems#quotation#Motivation#experienced#Inspiration#nojoto

264 Love
11 Share

""

"तड़प रहा हूं दिन रात लेकर तेरी याद भुला दिया है मैंने तुझको ना दिलाऊंगा कुछ भी एहसास"

तड़प रहा हूं दिन रात 
लेकर तेरी याद 
भुला दिया है मैंने तुझको 
 ना दिलाऊंगा कुछ भी एहसास

#Chair टूट जाएगी एक दिन

70 Love

""

"वो कभी हमसे मोहब्बत करके, कभी गैरों से मोहब्बत करके,दिल बहला रहे हैं। मोहब्बत है उनके दिल में इतनी, कि सबसे मोहब्बत करके,मोहब्बत निभा रहे हैं।।"

वो कभी हमसे मोहब्बत करके,
कभी गैरों से मोहब्बत करके,दिल बहला रहे हैं।
मोहब्बत है उनके दिल में इतनी,
कि सबसे मोहब्बत करके,मोहब्बत निभा रहे हैं।।

वो मोहब्बत निभा रहे हैं।
#Chair #Love

38 Love

""

"प्रधानमंत्री की कुर्सी वो करुणाधिन,निःस्वार्थ भावना,जगव्यापी सब कहाँ गए, मेरे लिए नजाने कितने झूठ और षड्यंत्र रचे गए, मैं मौन कुछ न बोल सकी, जो बैठा उसने न जाने कितने सितम किये, सेवा में हुआ निर्माण, सेववादी कहाँ गए, मुझ बिन काबिल बनने हेतु, लोगो मे धर्म, अहिंसा के जतन हुए, मुझको पाने हेतु दुश्मन दोस्त और दोस्त ,दुश्मन हुए, वो समाज सेवी , परिश्रम कर्ता, सब कहाँ गए, वक्ता और नायक मंडली से सारे संसद भर गए, हो विनम्र , यूँ वाचालों के दिन गए, मेरा मान बड़ा तभी, जब सच्चे निष्ठावादी व्यक्ति मुझपे विराजमान हुए, हो तुम काबिल तो कर्म करो,यूँ छल कपट सब हैं समझ गए, मुझ पर बैठने वाला व्यक्ति सिर्फ भारत माता की जय कहे🇮🇳"

प्रधानमंत्री की कुर्सी  वो करुणाधिन,निःस्वार्थ भावना,जगव्यापी सब कहाँ गए,
मेरे लिए नजाने कितने झूठ और षड्यंत्र रचे गए,

मैं मौन कुछ न बोल सकी,
जो बैठा उसने न जाने कितने सितम किये,
सेवा में हुआ निर्माण, सेववादी कहाँ गए,

मुझ बिन काबिल बनने हेतु, लोगो मे धर्म,
अहिंसा के जतन हुए,
मुझको पाने हेतु दुश्मन दोस्त और दोस्त ,दुश्मन हुए,
वो समाज सेवी , परिश्रम कर्ता, सब कहाँ गए,

वक्ता और नायक मंडली से सारे संसद भर गए,

हो विनम्र , यूँ वाचालों के दिन गए,

मेरा मान बड़ा तभी, जब सच्चे निष्ठावादी व्यक्ति
मुझपे विराजमान हुए,

हो तुम काबिल तो कर्म करो,यूँ छल कपट सब हैं समझ गए,
मुझ पर बैठने वाला व्यक्ति सिर्फ भारत माता की जय कहे🇮🇳

#PrimeMinister #Chair #innerthought #election #plitics

36 Love
1 Share

""

"सुख नहीं आयेगा, तो दुख इंसान को बेवजह मार देगा। दुख नहीं आयेगा, तो सुख इंसान को बेकार कर देगा। यही चक्र जिंदगी है, सुख और दुख आयेगा और जायेगा। फिर इसी तरह ये, धीरे-धीरे जिंदगी को संवार जायेगा।।"

सुख नहीं आयेगा,
तो दुख इंसान को बेवजह मार देगा।
दुख नहीं आयेगा,
तो सुख इंसान को बेकार कर देगा।
यही चक्र जिंदगी है,
सुख और दुख आयेगा और जायेगा।
फिर इसी तरह ये,
धीरे-धीरे जिंदगी को संवार जायेगा।।

सुख दुख
#Chair #Bench #sukhdukh

34 Love