tags

Best सहम Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best सहम Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 21 Followers
  • 46 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"जब कोई करता हैं ज़िक्र अपने यार - ए - महबूब का रुह काँप उठती हैं .. बदन सहम जाता हैं Jab Koi Karta Hai Jikra Apne Yar - E - Mahboob Ka Ruh Kanp Uthati Hai .. Badan Saham Jata hai - MERI SHAYARI MERI DASTAAN"

जब कोई करता हैं ज़िक्र अपने यार - ए - महबूब का 
 रुह काँप उठती हैं .. बदन सहम जाता हैं 

Jab Koi Karta Hai Jikra 
Apne Yar - E - Mahboob Ka 

Ruh Kanp Uthati Hai .. Badan Saham Jata hai 


- MERI SHAYARI MERI DASTAAN

#उसकी_याद_आतीं_हैं
................................
🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀

#Jab koi karta hai #jikra
Apne #yar - e - #mahboob ka
To #ruh #kanp uthati #badan #Saham jata hai
............................................................................

291 Love

" #NojotoVoice"

 #NojotoVoice

Khwaishein...✍️❣️
#nojotovideo #आँखों #बंद #ख्वाइशों #सच #सहम #दिल #नींद #ख्वाब #अधूरे #writersofinstagram #writersblock #writerslife #writersofig #writerscommunity #writerscorner #readmore #yourquote #yourquoteandmine #lovewriting #like4like #followifyoulike #Poetry #writer #myquote #Poets #Poet #writing #forever #follow #followme #Reality

190 Love
2.9K Views
16 Share

""

"एक कली खिली गलियारों में,जो सहम गई बाजार मे हम बैठे रहे मज़ारो मे, हम दबे रहे दीवारों मे ना जोश रहा हथियारों में,ना धार रही तलवारों में एक कली खिली गलियारों में,जो सहम गई बाजार मे"

एक कली खिली गलियारों में,जो सहम गई बाजार मे
हम बैठे रहे मज़ारो मे, हम दबे रहे दीवारों मे
ना जोश रहा हथियारों में,ना धार रही तलवारों में
एक कली खिली गलियारों में,जो सहम गई बाजार मे

 

47 Love

""

"बादलो की आवाज सुन सहम जाती थी अंधेरे से वो आज भी डरती तो होगी कैसे भूली होगी उसका सहारा था मैं मेरे कंधे के सहारे याद करती तो होगी फिर सोचता हूँ कलाकार थी वो तब जा अब नाटक ही करती होगी बातूनी थी पर सबको याद रखती थी जिक्र मेरे भी तो किसी से करती तो होगी बादलों की आवाज सुन सहम जाती थी अंधेरे से वो आज भी डरती तो होगी"

बादलो की आवाज सुन सहम जाती थी 
अंधेरे से वो आज भी डरती तो होगी 
कैसे भूली होगी उसका सहारा था मैं 
मेरे कंधे के सहारे याद करती तो होगी 
फिर सोचता हूँ कलाकार थी वो 
तब जा अब नाटक ही करती होगी 
बातूनी थी पर सबको याद रखती थी 
जिक्र मेरे भी तो किसी से करती तो होगी
बादलों की आवाज सुन सहम जाती थी 
अंधेरे से वो आज भी डरती तो होगी

अंधेरे से डर @Hidden_feelings @Ishita😀😀😀 #SUMAN# @aman6.1 @Namita

20 Love

""

"#सहम उठते हैं #कच्चे_मकां पानी के #खौफ़ से #महलों की #आरज़ू है कि #बरसात_तेज हो .. 😢😢 @rpit✍️"

#सहम उठते हैं #कच्चे_मकां
 पानी के #खौफ़ से
#महलों की #आरज़ू है 
कि #बरसात_तेज हो ..
😢😢

@rpit✍️

#jasbaat @🌹Adhoori Khwahish🌹

20 Love