tags

Best बुढ़ापा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best बुढ़ापा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 17 Followers
  • 64 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"इत्तु-सी हँसी इत्तु सी हँसी, बचपन की मस्ती, जवानी की आशिकी, बुढ़ापे की लाठी, जून की गर्मी, दिसंबर की सर्दी, समुंदर की गहरायी, बेस्टी की शादी, चेहरे की सादगी, शायर की शायरी, चाय की चुस्की, कोयल की वाणी, क्लास में फस्ट आने की खुशी,दोस्तों की यारी, मंदिर की सीढी, शिव पार्वती की जोड़ी, ईद की ईदी, दिवाली की रोशनी, सावन की बदरी, फूलों की क्यारी स्कूल की डायरी, कॉलेज की क्रश, कानों की बाली, होठों की लाली, बहुत खास होती हैं..."

इत्तु-सी हँसी   इत्तु सी हँसी, बचपन की मस्ती,
जवानी की आशिकी, बुढ़ापे की लाठी,
जून की गर्मी, दिसंबर की सर्दी,
समुंदर की गहरायी, बेस्टी की शादी,
चेहरे की सादगी, शायर की शायरी,
चाय की चुस्की, कोयल की वाणी,
 क्लास में फस्ट आने की खुशी,दोस्तों की यारी,
 मंदिर की सीढी, शिव पार्वती की जोड़ी,
ईद की ईदी, दिवाली की रोशनी,
सावन की बदरी, फूलों की क्यारी
स्कूल की डायरी, कॉलेज की क्रश,
कानों की बाली, होठों की लाली,
बहुत खास होती हैं...

#laughter #बहुत #खास #होती #है
#हँसी #बचपन #मस्ती #जवानी #आशिकी #बुढ़ापा #लाठी #जून #गर्मी #दिसंबर #सर्दी #समुंदर #गहरायी #बेस्टी #शादी #चेहरा #सादगी #शायर #शायर
#चाय #ताजगी #कोयल #वाणी
#क्लास #फस्ट #खुशी #दोस्त #यारी
#मंदिर #सीढी #शिवपार्वती #जोड़ी
#ईद #ईद#दिवाली #रोशनी #सावन #बदरी #स्कूल #डायरी #कॉलेज #क्रश #कान #बाली #होठ #लाली #Nojoto #nojotoapp #nojotohindi #nojotolines

108 Love

""

"#OpenPoetry जवानी को शौक चढ़ा है बुढ़ापे का नया-नया और बुढ़ापा अब भी जवानी की कसक में है , हम तो समझते थे कि हसरत तमाम उम्र जवान रहने की होती है पर यह #FACEAPP ने जवानों को बुढ़ापा दिखा दिया !"

#OpenPoetry जवानी को शौक चढ़ा है बुढ़ापे का नया-नया और बुढ़ापा अब भी जवानी की कसक में है , हम तो समझते थे कि हसरत तमाम उम्र जवान रहने की होती है पर यह #FACEAPP ने जवानों को बुढ़ापा दिखा दिया !

#FACEAPP

39 Love

""

"उम्र तो बेवजह ही बदनाम है यारों क्योंकि असल बुढ़ापा तो तजुर्बे और जिम्मेदारियां ही ला देती है"

उम्र तो बेवजह ही बदनाम है यारों क्योंकि असल बुढ़ापा तो तजुर्बे और जिम्मेदारियां ही ला देती है

#nojoto#तजुर्बा#बुढ़ापा #जिम्मेदारियां #उम्र#badnaam#bewajah#nojotohindi

35 Love

#बुढ़ापा

31 Love
87 Views

""

"हाथ की महीन आड़ी तिरछी रेखाएँ चेहरे पर जब छाने लगी। उसकी सीमाएँ संकुचित हो ठहराव लाने लगी। आईने से होता रूबरू तन्हाईयाँ साथ निभाने लगी। जिन अंगुलियों के पोरों में अंगुली के पोर थमते थे आज लाठीयाँ लड़खड़ाने लगी। तिनका तिनका जोड़कर कर जो घरौंदा बनाया था उसने वसीयत में गया। क्योंकि कल का पौधा आज बूड़ा जो हो चला। पारुल शर्मा"

हाथ की महीन आड़ी तिरछी रेखाएँ चेहरे  पर जब छाने लगी।
उसकी सीमाएँ संकुचित हो ठहराव लाने लगी।
आईने से होता रूबरू तन्हाईयाँ साथ निभाने लगी।
जिन अंगुलियों के पोरों में अंगुली के पोर थमते थे आज लाठीयाँ लड़खड़ाने लगी। 
तिनका तिनका जोड़कर कर जो घरौंदा बनाया था उसने वसीयत में  गया।
क्योंकि कल का पौधा आज बूड़ा जो हो चला।
पारुल शर्मा

हाथ की महीन आड़ी तिरछी रेखाएँ चेहरे पर जब छाने लगी।
उसकी सीमाएँ संकुचित हो ठहराव लाने लगी।
आईने से होता रूबरू तन्हाईयाँ साथ निभाने लगी।
जिन अंगुलियों के पोरों में अंगुली के पोर थमते थे आज लाठीयाँ लड़खड़ाने लगी।
तिनका तिनका जोड़कर कर जो घरौंदा बनाया था उसने वसीयत में गया।
क्योंकि कल का पौधा आज बूड़ा जो हो चला।
पारुल शर्मा
#shortpoem #बुढ़ापा #माँ_बाप

26 Love