tags

Best आज Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best आज Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 6176 Followers
  • 47782 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"जो कल एक उम्मीद थी आज वो मेरा हौंसला है जो कल सिर्फ़ तिनके थे आज वो मेरा घोंसला है Internet Jockey #NojotoQuote"

जो कल एक उम्मीद थी
आज वो मेरा हौंसला है
जो कल सिर्फ़ तिनके थे
 आज वो मेरा घोंसला है
Internet Jockey #NojotoQuote

Hindi Motivational 2 lines
Motivational lines in Hindi

1.3K Love
58 Share

""

"आज फिर माँ मुझे मारेगी बहुत रोने पर आज फिर गाँव में आया है खिलौने वाला"

आज फिर माँ मुझे मारेगी बहुत रोने पर
आज फिर गाँव में आया है खिलौने वाला

 

1.1K Love
20 Share

कभी उधम का #मैदान
आज सूना पड़ा है
#बच्चों का कमरा
आज अधूरा पड़ा है

कितना #अस्तव्यस्त
बिखरे कपड़ों से पस्त
हमेशा टोकते टोकते थके थे

778 Love
28 Share

जभी मिलती है inbox पे कुछ कहने से डरती है वो
कब आउंगा में online इस इंतज़ार में रहती है वो

बड़ी ही सरीफ है बात बात पे शर्माती है वो
गुस्सा न हो जाऊं कहीं हर बात पे sorry बोलती है वो

मेरे लिऐ आज भी थोड़ा सा वक्त खर्च करती है वो
google पर आकर आज भी मुझे सर्च करती है वो |

761 Love
23 Share

""

"आज एक ख़्याल आया मुझे फिर से तेरे ही गली से होके कभी में गुजरा करती थी याद है मुझे, मैं सिर्फ तुम पे मरा करती थी देख तुम्हे जरा शर्मा देती थी बिन देखे तुझे मैं घबरा जाती थी सपने भी हसीन सजा रखे थे मैंने तुम्हारे साथ तेरे साथ बुन भी लिये थे जो हज़ार मेरे छुपाये रंगीन ख़्वाब सोचा न था इस कदर टूट जायेंगे ,मेरीआँखों से दूर हो जाएंगे गुनाह कुछ भी न था, ना तेरा था ना मेरा बस वक़्त का थोड़ा अपना मिजाज था होठो पे मेरी आज भी ख़ुशी नम पड़ जाती हैं तेरे साथ बितायी वो हल्की धुंध की शाम जब याद आती हैं दर्द तो कल भी था मरी जिंदगी में ,दर्द आज भी हैं मेरी जिंदगी में पर तेरा जो साथ मुझे हाथ थामे रखता था मानो सारे गम छू मंतर इस कदर कर जाता था जैसे बिजली की कड़कड़ाहट में भी वो आसमां धरा को भिगो जाता हो"

आज एक ख़्याल आया मुझे फिर से
तेरे ही गली से होके कभी में गुजरा करती थी
याद है मुझे, मैं सिर्फ तुम पे मरा करती थी
देख तुम्हे जरा शर्मा देती थी बिन देखे तुझे मैं घबरा जाती थी
सपने भी हसीन सजा रखे थे मैंने तुम्हारे साथ
तेरे साथ बुन भी लिये थे जो हज़ार मेरे छुपाये रंगीन ख़्वाब
सोचा न था इस कदर टूट जायेंगे ,मेरीआँखों से दूर हो जाएंगे
गुनाह कुछ भी न था, ना तेरा था ना मेरा
बस वक़्त का थोड़ा अपना मिजाज था
होठो पे मेरी आज भी ख़ुशी नम पड़ जाती हैं
तेरे साथ बितायी वो हल्की धुंध की शाम जब याद आती हैं
दर्द तो कल भी था मरी जिंदगी में ,दर्द आज भी हैं मेरी जिंदगी में
पर तेरा जो साथ मुझे हाथ थामे रखता था
मानो सारे गम छू मंतर इस कदर कर जाता था
जैसे बिजली की कड़कड़ाहट में भी वो आसमां धरा को भिगो जाता हो

आज फिर तेरा ख़्याल आया😊

629 Love
3 Share