tags

Best आत्मा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best आत्मा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 169 Followers
  • 791 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"सैंटा जैसा दिल दिल है तुम्हारा तुमने उसे भी पनाह दी जो तुम्हारे काबिल ना था जिसने तुम्हारे प्यार को रौंदा था हर राह पर निराशा का मुंह देखने पर मजबूर किया था। याद है वादा तुम्हारा हमे जो तुमने मुझसे किया बिना किसी शर्त के तुमने दगा करना सीखा ना था। और लोगो ने तुम्हारे दिल के साथ खेलना सीख लिया था। तुम्हारा दिल उस पवित्र आत्मा जैसा है जो हजारों खुशियो तो दे सकता है। मगर किसी का दिल नही दुखा सकता है।"

सैंटा जैसा दिल दिल है तुम्हारा
तुमने उसे भी पनाह दी 
जो तुम्हारे काबिल ना था
जिसने तुम्हारे प्यार को रौंदा था
हर राह पर निराशा का मुंह देखने 
पर मजबूर किया था।
याद है वादा तुम्हारा हमे जो तुमने
मुझसे किया बिना किसी शर्त के
तुमने दगा करना सीखा ना था।
और लोगो ने तुम्हारे दिल के साथ 
खेलना सीख लिया था।
तुम्हारा दिल उस पवित्र आत्मा जैसा है
जो हजारों खुशियो तो दे सकता है।
मगर किसी का दिल नही दुखा सकता है।

#सैंटा_जैसा_दिल #nojotohindi #nojotoquotes #nojotolines
#आत्मा #लोग #फ़ायदाउठाना #पनाह
#काबिल #ज़िन्दगी

186 Love

""

"आत्मा मेरी, मेरे स्वरूप में निखर के आती है संगिनी है मेरी, मेरी सबसे प्रिय साथी है आत्मा मेरी निश्चल है, अवरिल नदी सी रोम-रोम में बहती है जन्म-जन्मांतर से मेरे सर्वस्व को प्रज्वलित करती है"

आत्मा मेरी,
मेरे स्वरूप में निखर के आती है
संगिनी है मेरी, 
मेरी सबसे प्रिय साथी है
आत्मा मेरी निश्चल है,
अवरिल नदी सी रोम-रोम में बहती है
जन्म-जन्मांतर से  
मेरे सर्वस्व को प्रज्वलित करती है

#आत्माऔरमै #soulandme #eternalrelationship #nojotohindi #nojoto

114 Love
5 Share

""

"शरीर से जुड़ा हुआ है आकर्षण को नश्वर है, अस्थाई है प्रेम आत्मा से है, अमर है क्यूंकि आत्मा का न जन्म होता है ना अंत"

शरीर से जुड़ा हुआ है आकर्षण को नश्वर है, अस्थाई है
प्रेम आत्मा से है, अमर है
क्यूंकि आत्मा का न जन्म होता है ना अंत

शरीर से जुड़ा हुआ है आकर्षण को नश्वर है, अस्थाई है
प्रेम आत्मा से है, अमर है
क्यूंकि आत्मा का न जन्म होता है ना अंत

82 Love

""

"ख्वाब बुलंदियों का,जनाब बुलदियों का,,,,,"

ख्वाब बुलंदियों का,जनाब बुलदियों का,,,,,

़शहर के सपनो में,,,जागता है,,,,ख्वाब बुलदियों का,जनाब बुलदियों का,,,,,तभी तो शहर कहते है,,,,,,,वैसे मेरा देश गाँवो मे बसता है,,गाँव भारत की आत्मा है,,,, लेकिन शहर भी अपना विशेष स्थान रखता है,,,,शहर को शरीर कह सकते है जैसे नित नुतन परिवर्तन शरीर मे होते है ठीक वैसे ही. परिवर्तन शहर मे होते है,,,गाँव मे परिवर्तन नही होते गाँवो मे हमे अपनी संस्कृति मिलती है,,,,,,,यदि गाँवो मे परिवर्तन होते है तो ,,,,इसका कारण शहर है या वे लोग जो गाँवो से निकलकर शहर जाकर पुन गाँव आते बस यही से गाँवो की रुप रेखा बदलन

79 Love

""

"हाँ वक़्त के हाथों मजबूर हूँ खुद से दूर हूँ सबसे दूर हूँ हालातो ने इतना दुख दिया कि अब तो दिल भी बिखरने को है आत्मा भी हार कर कहने लगी अब ये मिट्टी का शरीर छूटने को है अब तो सहन शक्ति भी खत्म होने को हे ज़िन्दगी के सफर में अब तो साँसे भी टूटने को हे"

हाँ वक़्त के हाथों मजबूर हूँ
खुद से दूर हूँ सबसे दूर हूँ
हालातो ने इतना दुख दिया कि
अब तो दिल भी बिखरने को है
आत्मा भी हार कर कहने लगी
अब ये मिट्टी का शरीर छूटने को है
अब तो सहन शक्ति भी खत्म होने को हे
ज़िन्दगी के सफर में अब तो
साँसे भी टूटने को हे

#nojotohindi
#लम्होंकीदास्ता
#खुदसेदूर
#आत्मा
#शरीर
#दिल

74 Love