tags

Best क्यों Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best क्यों Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 2949 Followers
  • 24501 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"जाना ही था अगर तुम्हे तो आये ही क्यों थे मेरी जिंदगी में तोड़ना ही था मेरे दिल को तो जोड़ा ही क्यों था मेरा ईंटो से बना मकां ही मेरे लिए खास था इसे आशियां बनाया ही क्यों था जाना ही था अगर तुम्हे तो आये ही क्यों थे मेरी जिंदगी में माना मैंने ही सजाएँ थे अरमान जिंदगी बसाने के पर उम्रभर साथ निभाने के तूने भी तो वादे हज़ार किये थे क्या खता हमसे ऐसी हुई जो बीच राह छोड़ गुमनाम हो गये बिन कहे कुछ तुम बहुत कुछ कह गये चलो ठीक ही हुआ तुम चले गये मेरी रूह से बिखर गये जिंदगी की कुछ बातों से हम भी तो निखर गये हालातों से लड़ना हम भी सीख गये बिन तेरे हम भी जिंदगी को जीत लिये"

जाना ही था अगर तुम्हे तो आये ही क्यों थे मेरी जिंदगी में
तोड़ना ही था मेरे दिल को तो जोड़ा ही क्यों था
मेरा ईंटो से बना मकां ही मेरे लिए खास था
इसे आशियां बनाया ही क्यों था
जाना ही था अगर तुम्हे तो आये ही क्यों थे मेरी जिंदगी में
माना मैंने ही सजाएँ थे अरमान जिंदगी बसाने के पर
उम्रभर साथ निभाने के तूने भी तो वादे हज़ार किये थे
क्या खता हमसे ऐसी हुई जो बीच राह छोड़ गुमनाम हो गये
बिन कहे कुछ तुम बहुत कुछ कह गये
चलो ठीक ही हुआ तुम चले गये
मेरी रूह से बिखर गये
जिंदगी की कुछ बातों से हम भी तो निखर गये
हालातों से लड़ना हम भी सीख गये
बिन तेरे हम भी जिंदगी को जीत लिये

 

732 Love

""

"ये मेरी दिल की धड़कन मुझे इतना क्यों सताती है जिसे में भूलना चाहु, उसी को क्यों याद दिलाती है #gif"

ये 
मेरी दिल की धड़कन 
मुझे इतना क्यों सताती है 
जिसे में भूलना चाहु, 
उसी को क्यों याद दिलाती है 


 #gif

404 Love
41 Share

""

"एक दूसरे से नाराज क्यों हैं सब चेहरे लटके हैं उदास क्यों हैं सब कोई किसी से कुछ बोलता क्यों नही इस बस्ती में इतने खामोश क्यों हैं सब"

एक दूसरे से नाराज क्यों हैं सब
चेहरे लटके हैं उदास क्यों हैं सब
कोई किसी से कुछ बोलता क्यों नही
इस बस्ती में इतने खामोश क्यों हैं सब

खमोश क्यों हैं/शायरी

334 Love

""

"क्या किसी के दिमाग़ में कभी ये ख्याल आया कि हमसे अच्छा तो रिक्शा वाला ही है, खुद कड़कती धूप को सहता है, लेकिन उसके मुसाफिरों के ऊपर छत होती है, हमारा इतना बोझ खींच कर हांफते हांफते हमें अपनी मंज़िल तक पंहुचाता है, ओर हम इतने बुज़दिल और निर्दयी है कि उसे अपना हक़ देने में भी मोलभाव करने लग जाते हैं, क्या किसी बड़े मॉल या शोरूम में जाकर भी ऐसा करते हैं?? अरे.. ! मैं भी पागल ही हूँ, वहां ऐसा क्यों करेंगे, वहां तो हमें शर्म महसूस होती है न | तो फिर उस मासूम के साथ अन्याय क्यों??? ज़रा गौर कीजियेगा इस बात पे..... !"

क्या किसी के दिमाग़ में कभी ये ख्याल आया कि  हमसे अच्छा तो रिक्शा  वाला ही है,
खुद कड़कती धूप को सहता है, 
लेकिन उसके मुसाफिरों के ऊपर छत होती है, 
हमारा इतना बोझ खींच कर हांफते हांफते हमें अपनी मंज़िल तक पंहुचाता है, 
ओर हम इतने बुज़दिल और निर्दयी  है कि उसे अपना हक़ देने में भी मोलभाव करने लग जाते हैं, 
क्या किसी बड़े मॉल या शोरूम में जाकर भी ऐसा करते  हैं?? 
अरे.. ! मैं भी पागल ही हूँ, वहां ऐसा क्यों करेंगे, 
वहां तो हमें शर्म महसूस होती है  न |
तो फिर उस मासूम के साथ अन्याय क्यों??? 
ज़रा गौर कीजियेगा इस बात पे..... !

हमसे अच्छा तो रिक्शा वाला ही है.... !
#rickshaw_wala #pityful #nojotohindi #nojotoquotes #My_Quotes #INNER_FEELINGS

309 Love
3 Share

""

"बेनाम सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता जो बीत गया है वो गुजर क्यों नहीं जाता "

बेनाम सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता
जो बीत गया है वो गुजर क्यों नहीं जाता 

#Nojoto #shyari #benaam #Dard #gumnaam

246 Love
1 Share