tags

Best राम Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best राम Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 905 Followers
  • 4641 Stories
  • Popular
  • Latest
  • Video

""

"#OpenPoetry कलयुग के इस भाग दौड़ में। चल करते हैं त्रेता वाले कुछ काम। मां तुम बन जाओ कौशल्या माई। मैं बन जाता हूं श्री राम। पास यहीं पर लगी है मंडी, मां ला दो ना तीर - कमान। वन में जाकर मैं भी मारूंगा। राक्षस खर दूषण , ताड़का समान। बनकर तुम कैकई माता । दे दो वन जाने का फरमान। रखकर परमपिता का मान। वन को जाऊंगा मैं , श्रीराम‌ समान। मां लेकिन वो त्रेता चिंगारी थी। ये कलयुग है , आग समाज। अब हैं , हर इंसान में एक रावण। कैसे करूं मैं रावण की पहचान। मां तुम बन जाओ कौशल्या माई। मैं बन जाता हूं , श्री राम ।"

#OpenPoetry कलयुग    के    इस    भाग    दौड़    में।
चल  करते  हैं  त्रेता  वाले  कुछ  काम।

मां  तुम  बन  जाओ  कौशल्या  माई।
मैं      बन     जाता     हूं     श्री   राम।

पास     यहीं    पर     लगी    है   मंडी,
मां    ला     दो    ना    तीर  -  कमान।

वन    में    जाकर    मैं   भी    मारूंगा।
राक्षस   खर   दूषण , ताड़का   समान।

बनकर       तुम        कैकई        माता ।
दे    दो    वन    जाने    का     फरमान।

रखकर       परमपिता       का      मान।
वन   को  जाऊंगा  मैं  , श्रीराम‌  समान।

मां   लेकिन   वो   त्रेता    चिंगारी   थी।
ये     कलयुग     है   ,  आग    समाज।

अब   हैं  , हर   इंसान   में  एक  रावण।
कैसे   करूं   मैं   रावण  की   पहचान।

मां  तुम  बन  जाओ   कौशल्या   माई।
मैं      बन      जाता     हूं  , श्री   राम ।

#OpenPoetry

298 Love
11 Share

""

"#DearZindagi चेहरे पर ये जख्मों के निशान कहाँ से आये मुर्दा बस्ती मे जिंदा इंसान कहाँ से आये वो जो सोचते थे राम को तो हो गया वनबास हैरत मे हैं सब फिर ये राम कहां से आये उजालों से जब हुआ इस्तक़बाल राम का रावण भी ये सोचे इतने चराग़ कहाँ से आये मारुफ आलम"

#DearZindagi चेहरे पर ये जख्मों के निशान कहाँ से आये
मुर्दा बस्ती मे जिंदा इंसान कहाँ से आये
वो जो सोचते थे राम को तो हो गया वनबास
हैरत मे हैं सब फिर ये राम कहां से आये
उजालों से जब हुआ इस्तक़बाल राम का
रावण भी ये सोचे इतने चराग़ कहाँ से आये
     मारुफ आलम

शायरी/राम का इस्तक़बाल

163 Love

#राम राम बोलिए अच्छा लगता है

146 Love
433 Views
2 Share

""

"एक घर में एक बेटी पैदा हुई पड़ोस की एक औरत आई और उस बेटी की मां से कहा अरे आपको एक बेटी थी उस पर एक और बेटी राम राम😮😮 मां का बड़ा खूबसूरत सा जवाब_ बहन मैंने सुना था तुम भी अपनी मां बाप की दूसरी बेटी हो तब तो तुम्हारे जन्म पे भी किसी ने ऐसे ही ताना दिया होगा बहन😏😏 उसकी मां ने कहा वैसे मैंने सुना है है बहन की आज कल लोग दूसरों की खुशियों से बहुत जलते हैं, उसने इतना कह कर काजल की डिबिया उठाई और एक टीका बेटी को लगाकर बोली, नज़र ना लगे मेरी बिटिया को😘😘 पड़ोसन ख़ामोश थी .... वो सोच रही थी कमी उसमें है जिसने दूसरी बेटी को जन्म दिया🙄या मुझमें है जो बेटी होकर बेटी का विरोध कर रही हूं......😌🙁 एक लम्बी खामोशी छा गई........... और मानो हवा गा रही हो बिटिया ने जन्म लिया हमारे अंगना फूल बरसे......😍😍 Happy Daughters Day too all❤❤❤❤"

एक घर में एक बेटी पैदा हुई
पड़ोस की एक औरत आई और
उस बेटी की मां से कहा
अरे आपको एक बेटी थी उस पर एक और बेटी
राम राम😮😮

मां का बड़ा खूबसूरत सा जवाब_
बहन मैंने सुना था तुम भी अपनी मां बाप की दूसरी बेटी हो
तब तो तुम्हारे जन्म पे भी किसी ने ऐसे ही ताना दिया होगा बहन😏😏

उसकी मां ने कहा वैसे मैंने सुना है है बहन की आज कल लोग
दूसरों की खुशियों से बहुत जलते हैं,
उसने इतना कह कर काजल की डिबिया उठाई और एक टीका बेटी को 
लगाकर बोली, नज़र ना लगे मेरी बिटिया को😘😘

पड़ोसन ख़ामोश थी .... वो सोच रही थी कमी उसमें है  जिसने दूसरी बेटी को जन्म दिया🙄या मुझमें है जो बेटी होकर बेटी का विरोध कर रही हूं......😌🙁

एक लम्बी खामोशी छा गई...........

और मानो हवा गा रही हो बिटिया ने जन्म लिया हमारे अंगना फूल बरसे......😍😍
Happy Daughters Day too all❤❤❤❤

Please must read it friends
#daughters day
#nojoto hindi
#daughter story
❤❤❤❤❤❤

130 Love

""

"*Happy Diwali*drVats सारी कायनात, धरती पे आज, उतर आयी है इशारे से... ये अंधेरा घना, है आसमां, दिए जलतें हैं सितारे से... ©drVats"

*Happy Diwali*drVats

   सारी कायनात, 
 धरती पे आज,
    उतर आयी है इशारे से...

   ये अंधेरा घना, 
   है आसमां, 
   दिए जलतें हैं सितारे से...
                     ©drVats

Happy Diwali 2018 by #drvats
#Happy #दीपावली #Diwali #Deepawali #दिवाली #राम #Ram #Raam #nojoto #nojotohindi #Festival #celebration #Diye #दीपक #Poetry #Shayari

126 Love