tags

Best abhinashkumar Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best abhinashkumar Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 2 Followers
  • 3 Stories
  • Latest
  • Video

""

"..................................................."

...................................................

#jindgi#sabdawali#abhinashkumar#buolenath

15 Love
1 Share

""

"यह मुहब्बत की कोई राह नही जो ठोकरों का दीदार होता है , यह मुहहबत की कोई राह नही जो ठोकरों का दीदार होता है , यह तो मेरी मंजिल की राह है दोस्तों जहाँ सिर्फ सफलता का सिंगार होता हैं ।"

यह मुहब्बत की कोई राह नही जो ठोकरों का दीदार होता है ,
यह मुहहबत की कोई राह नही जो ठोकरों का दीदार होता है ,
यह तो मेरी मंजिल की राह है दोस्तों जहाँ सिर्फ सफलता का सिंगार होता हैं ।

#मुहहबत #muhhabat #सफलता
#abhinashkumar

15 Love

""

"ना सुन सका मै ईश्वर की आराधना को , आज सुन रहा हूं अपनी वेदना को। काश ईश्वर की उस बात को मान लिया होता , अपने कर्तव्यों को लेकर कुछ ठान लिया होता । उन सफलताओं कि भी क्या कहानी है, सारा संसार उनका सानी है । कुछ गलतियां हुई मेरे तन - मन से , जिसकी भरपाई ना हो सके धन से। ना परिवार साथ है ना ही मेरे ईश्वर , अपने किरदार को चरितार्थ करे किसपर । असफलता कि यह कहानी है , योद्धाओं की यह छावनी है। आत्मबल जिनका हथियार है, कर्तव्य जिनका प्यार है । आओ डटे रहे इस कर्मभूमि पर , डर किसका है ? जब मोह ना माया हो दूसरे के तिरस्कार पर । बाधाएं चाहे कितनी भी बड़ी हो, तुम्हारे आत्मविश्वास से बड़ी नहीं । असफलता चाहे जितनी भी आए , मगर तुम्हारी कोशिशों के सामने नतमस्तक रहेगी। किस्मत का क्या है ? बुरी से बुरी किस्मत को भी हमने सच्ची आराधनाओं के सामने सर झुकाते हुए देखा है।"

ना सुन सका मै ईश्वर की आराधना को ,
आज सुन रहा हूं अपनी वेदना को।
काश ईश्वर की उस बात को मान लिया होता ,
अपने कर्तव्यों को लेकर कुछ ठान लिया होता ।
उन सफलताओं कि भी क्या कहानी है,
सारा संसार उनका सानी है ।
कुछ गलतियां हुई मेरे तन - मन से ,
जिसकी  भरपाई ना हो सके धन से।
ना परिवार साथ है ना ही मेरे ईश्वर ,
अपने किरदार को चरितार्थ करे किसपर ।
असफलता कि यह कहानी है ,
योद्धाओं की यह छावनी है।
आत्मबल जिनका हथियार है,
कर्तव्य जिनका प्यार है ।
आओ डटे रहे इस कर्मभूमि पर ,
डर किसका है ?
जब मोह ना माया हो दूसरे के तिरस्कार पर ।
बाधाएं चाहे कितनी भी बड़ी हो,
तुम्हारे आत्मविश्वास से बड़ी नहीं ।
असफलता चाहे जितनी भी  आए  ,
मगर तुम्हारी  कोशिशों के सामने नतमस्तक रहेगी।
किस्मत का क्या है ?
बुरी से बुरी किस्मत को भी  हमने सच्ची आराधनाओं के सामने सर झुकाते हुए देखा है।

असफलता #abhinashkumar
#टूट पडेंगे
#कविता
#अनजानी सी डगर

7 Love