tags

Best इश्क़_और_चर्चा Shayari, Status, Quotes, Stories, Poem

Find the Best इश्क़_और_चर्चा Shayari, Status, Quotes from top creators only on Nojoto App. Also find trending photos & videos.

  • 3 Followers
  • 3 Stories
  • Latest Stories

"इश्क़ और चर्चा कहते हैं सच्चा प्रेम ईश्वर के करीब होने का एहसास करवाता है । निस्वार्थ प्रेम ईश्वर को पाने का सबसे खूबसूरत़ रास्ता है । फिर भी इस भौतिक दुनिया में सच्चा प्रेम कम छद्म प्रेम ज्यादा प्रचलित है । . जब हम किसी के प्रेम में होते हैं तब उस खास शख्स के आदी हो जाते हैं जरा सा उनका आंखों से ओझल होने मात्र से ही हम कितने परेशान हो जाते हैं जैसे उनके बिना जीवन की कल्पना और सपने असम्भव मानने लगते हैं, मुझे लगता है तब तो इश़्क में उलझकर सभंलना सबके बस की बात नहीं है। मुझे लगता है बहुत सच्चे और भावुक लोग के लिऐ एक से अधिक बार इश्क - विश्क में उलझना बेहद ह्रदय विदारक अनुभव प्रतीत होता है.इस छद्म प्रेम से दूर रहना ही ज्यादा मुनासिब होगा । क्योंकि ऐसे लोगों को अपने अधूरे. प्रेम या प्रेम में छलावे से अपनी पूरी लाइफ तन्हा ,खामोश़ और मानसिक रोगों से ग्रसित हो जाते हैं भौतिक प्रेम से अच्छा है बेजुबान और जरूरत मंदों की मदद की जाये अपने परिवार के साथ प्रकृति को पूरा जीवन समर्पित करना ही स्वयं का अर्थपूर्ण जीवन बनाया जाये ।"

इश्क़ और चर्चा 


कहते हैं सच्चा प्रेम ईश्वर के करीब  होने का एहसास करवाता है । निस्वार्थ प्रेम ईश्वर को पाने का सबसे खूबसूरत़ रास्ता है ।
फिर भी इस भौतिक दुनिया में  सच्चा प्रेम कम छद्म प्रेम ज्यादा प्रचलित है ।
.
        जब हम किसी के प्रेम में होते हैं तब उस खास  शख्स के आदी हो जाते हैं   जरा सा उनका आंखों से ओझल होने मात्र से ही हम कितने परेशान हो जाते हैं जैसे उनके बिना जीवन की कल्पना और सपने असम्भव मानने लगते हैं, मुझे लगता है तब तो इश़्क में उलझकर सभंलना सबके बस की बात नहीं है।
मुझे लगता  है बहुत सच्चे और भावुक लोग के लिऐ एक से अधिक बार इश्क - विश्क  में उलझना बेहद ह्रदय विदारक  अनुभव प्रतीत  होता है.इस छद्म प्रेम से दूर रहना ही ज्यादा मुनासिब  होगा ।

         क्योंकि ऐसे लोगों  को अपने अधूरे. प्रेम  या प्रेम में छलावे से अपनी पूरी लाइफ तन्हा ,खामोश़ और मानसिक रोगों  से ग्रसित हो जाते हैं  भौतिक प्रेम से अच्छा है बेजुबान और जरूरत मंदों की मदद की जाये अपने परिवार के साथ प्रकृति को पूरा जीवन समर्पित करना  ही स्वयं का अर्थपूर्ण जीवन बनाया जाये ।

#इश्क़_और_चर्चा

45 Love
1 Share

"इश्क़ और चर्चा ........................"

इश्क़ और चर्चा ........................

#इश्क़_और_चर्चा #इश्क़ #महफ़िल #अख़बार #नज़रअंदाज़

16 Love

"इश्क़ और चर्चा चलो आज फिर महफिल सजाते हैं इश्क़ पर चर्चा सरेआम करते हैं मियां, इश्क हुआ है तो डर कैसा अश्क़ ना बहें वो आशिक कैसा मोहब्बत में दिल की कश्ती डुबोते हैं चलो आज कुछ मोती प्रेम के पिरोते हैं"

इश्क़ और चर्चा चलो आज फिर महफिल सजाते हैं
 इश्क़ पर चर्चा सरेआम करते हैं 
मियां, इश्क हुआ है तो डर कैसा 
अश्क़ ना बहें वो आशिक कैसा 
मोहब्बत में दिल की कश्ती डुबोते हैं 
चलो आज कुछ मोती प्रेम के पिरोते हैं

#इश्क़_और_चर्चा
#महफ़िल#मोहब्बत
#nojotoapp#nojotohindi

37 Love